टीकमगढ़ में दूल्हा बने श्रीराम की बारात:बुंदेली गीतों के साथ मंडप में पड़ी भांवर, देर रात तक चला भजन संध्या का आयोजन

टीकमगढ़2 महीने पहले

शहर के ऐतिहासिक नजरबाग मंदिर में श्रीराम-जानकी विवाह महोत्सव धूमधाम के साथ मनाया गया। मंदिर से रात 8 बजे दुल्हा बने भगवान श्रीराम की गाजे बाजे के साथ बारात निकाली गई। नगर भ्रमण के बाद बारात वापस मंदिर लौटी, इसके बाद देर रात तक विवाह की रस्में पूरी हुईं।

श्री राम जानकी विवाह के उपलक्ष्य में सोमवार रात बड़ी संख्या में श्रद्धालु नजरबाग मंदिर पहुंचे। आकर्षक पालकी में भगवान श्रीराम को दुल्हा बनाकर विराजमान किया गया और गाजे-बाजे के साथ बारात निकाली गई। भगवान की बारात में लोगों ने भाव विभोर होकर जमकर डांस किया। भ्रमण के बाद बारात वापस मंदिर पहुंची।

भगवान की बारात में लोगों ने भाव विभोर होकर जमकर डांस किया।
भगवान की बारात में लोगों ने भाव विभोर होकर जमकर डांस किया।

मंदिर के पुजारी सुरेंद्र मोहन द्विवेदी सहित यजमान ज्ञानेंद्र सिंह, महेंद्र द्विवेदी सहित अन्य श्रद्धालुओं ने भगवान का तिलक किया। इसके बाद मंडप में भगवान श्रीराम और माता जानकी की भांवर की रस्म पूरी कराई गई। इस मौके पर महिलाओं ने पारंपरिक बुंदेली विवाह गीत गाकर भगवान श्रीराम जानकी के विवाह की खुशियां मनाई।

मंडप में भगवान श्रीराम और माता जानकी की भांवर की रस्म पूरी कराई गई।
मंडप में भगवान श्रीराम और माता जानकी की भांवर की रस्म पूरी कराई गई।

भजन संध्या में झूम उठे श्रद्धालु
श्री राम जानकी विवाह महोत्सव के मौके पर नजरबाग मंदिर में भजन संध्या का आयोजन हुआ। जिसमें राजकुमार विश्वकर्मा सहित कलाकारों ने एक से बढ़कर एक विवाह गीत गाकर श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। भगवान के विवाह गीतों पर मंदिर में उपस्थित श्रद्धालु भाव विभोर होकर नाच उठे। मंदिर के पुजारी सुरेंद्र मोहन द्विवेदी ने बताया कि रात करीब 2 बजे तक मंदिर में विवाह समारोह का आयोजन चला।

खबरें और भी हैं...