एलपीजी सिलेंडर 50 रुपए महंगा:भाजपा की सरकार में घरेलू सिलेंडर अब 1080 रुपए का मिलेगा बिगड़ रहा किचिन का बजट

टीकमगढ़9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

एक बार फिर घरेलू गैस सिलेंडरों के दाम में सरकार ने बढ़ोत्तरी की है। इसी के साथ अब 14.2 किलो वाला घरेलू गैस सिलेंडर 50 रुपए महंगा हो गया है। टीकमगढ़ में अब से घरेलू सिलेंडर की कीमत 1030 रुपए से बढ़कर 1080 रुपए हो गई है।

गौरतलब है कि एक मई से ही कमर्शियल एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में भी 100 रुपए का इजाफा देखने मिले था, उस समय घरेलू एलपीजी सिलेंडर के दाम नहीं बढ़े थे। गैस एजेंसी संचालक संजय गर्ग ने बताया कि इससे पहले मार्च महीने में भी घरेलू गैस सिलेंडर के दाम में बढ़ोतरी की गई थी

जिसके बाद टीकमगढ़ में सिलेंडर के दाम बढ़कर 1030 रुपए पहुंच गए थे। उन्होंने बताया कि 22 मार्च से पहले करीब छह महीने से एलपीजी सिलेंडर के दाम स्थिर बने हुए थे। 6 अक्तूबर 2021 के बाद घरेलू रसोई गैस सिलेंडर के रेट में कोई बदलाव नहीं हुआ था,

लेकिन इस बार महज 45 दिन में ही 14.2 किलोग्राम के सिलेंडर पर 100 रुपए बढ़ा दिए गए हैं। वहीं एजेंसी संचालक संदीप सक्सेना के अनुसार रूस-यूक्रेन के बीच जारी जंग से प्रभावित हुई सप्लाई चेन के कारण गैस के दामों में इजाफा देखने को मिल रहा है। उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में गैस के दामों में और बढ़ोत्तरी देखने को मिलेगी।

महंगाई से बिगड़ रहा किचिन का बजट

लगातार बढ़ रही महंगाई केचलते महिलाओं का कहना है कि रसोई का बजट बिगड़ रहा है। सिविल लाइन निवासी प्रीति यादव का कहना है कि जिस रफ्तार से महंगाई में रसोई के दाम, खाद्य पदार्थों के दाम बढ़ रहे हैं। उससे मिडिल क्लास और गरीब तबके के लोगों के रसोई का बजट बिगड़ रहा है।

शादी सीजन के चलते एक तरफ सब्जियों के दामों में आग लगी है। वहीं सिलेंडर और पेट्रोलियम पदार्थों के दाम भी उछाल मार रहे हैं।

वहीं कुंवरपुरा निवासी सुमन प्रजापति का कहना है कि जैसे रसोई गैस के दाम बढ़ रहे हैं। वैसे ही सरकार को सब्सिडी का दायरा बढ़ाना चाहिए, लेकिन ऐसा नहीं है। सब्सिडी सिर्फ दिखाने के लिए है। जिसका असर उज्जवला कनेक्शन धारियों पर पड़ रहा है।

खबरें और भी हैं...