• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Tikamgarh
  • For The First Time In 10 Years, The Night's Mercury Recorded 16.2 Degrees In January, Crops Benefited From The Rain

25 जनवरी को सबसे अधिक दर्ज किया न्यूनतम तापमान:10 साल में पहली बार जनवरी में रात का पारा 16.2 डिग्री दर्ज, बारिश से फसलों को फायदा

टीकमगढ़6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दिन में बारिश से शहर तरबतर, बूंदाबांदी से गेहूं-सरसों के साथ चना मटर जैसी फसलों को फायदा होगा। - Dainik Bhaskar
दिन में बारिश से शहर तरबतर, बूंदाबांदी से गेहूं-सरसों के साथ चना मटर जैसी फसलों को फायदा होगा।

जनवरी के आखिर में एक बार फिर मावठ की बारिश ने पूरे जिले को तरबतर किया। मंगलवार बुधवार की दरमियानी रात गरज के साथ बारिश से खेत खलिहान भी भीग गए। शहर की सड़कें भी बारिश से भीग गई। मावठ की बारिश व आसमान में छाए बादलों के चलते जहां दिन के तापमान में 2 डिग्री की गिरावट आई, तो वहीं रात के न्यूनतम तापमान में 2.6 डिग्री की गिरावट बुधवार को देखने मिली। बुधवार को दिन का अधिकतम तापमान 24 डिग्री और न्यूनतम तापमान 16.2 डिग्री दर्ज किया गया।

जबकि मंगलवार को अधिकतम तापमान 26 डिग्री और रात का न्यूनतम तापमान 13.6 डिग्री दर्ज किया गया। पिछले 10 साल के आंकड़ों पर नजर में ऐसा पहली बार हुआ है जब न्यूनतम पारा जनवरी में 16 डिग्री तक पहुंचा। बारिश से गणेशपुरम, सुभाषपुरम, मऊचुंगी, नजाई मोहल्ला, कोतवाली क्षेत्र, बैकुंडी, नए बस स्टैंड व सिविल लाइन में बिजली सप्लाई बाधित रही।

बारिश के चलते आए फाल्ट की 240 शिकायतें दर्ज

मौसम वैज्ञानिक डॉ. राघवेंद्र सिंह सिसौदिया ने बताया कि बीते 24 घंटे में जिले में 5 मिमी बारिश दर्ज की गई। जिलेभर में हुई बूंदाबांदी से गेहूं-सरसों के साथ ही चना मटर जैसी फसलों को फायदा होगा। मंगलवार की देररात बारिश से शहर में बिजली सप्लाई ठप रही है। इस बीच लोगों ने बिजली विभाग में शिकायतें भी दर्ज करवाईं, लेकिन बिजली कर्मचारियों के हड़ताल पर रहने के चलते लोगों की समस्याओं का समाधान नहीं हो पाया।

विभागीय सूत्रों की मानें तो मंगलवार से बुधवार के बीच बारिश के चलते आए फाल्ट की 240 शिकायतें दर्ज की गई। बिजली चमकने से मंगलवार की देररात आए बिजली के फॉल्ट को तलाशकर बिजली सप्लाई शुरू की गई।

गेहूं की फसल में यूरिया का छिड़काव करें

कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिक डॉ. संजय सिंह ने बताया कि जिले में अगले 48 घंटे बारिश की संभावना है। ऐसे में किसान गेहूं की फसल में यूरिया का छिड़काव करें। जिससे गेहूं की फसल का फायदा होगा। हालांकि बारिश का पानी इन फसलों के लिए भी फायदेमंद है। सिंह ने किसानों को सलाह दी है कि जिन किसानों ने फसलों में सिंचाई नहीं की है, वह थोड़ा इंतजार करें। जिससे उन्हें कृत्रिम सिंचाई के लिए अतिरिक्त मेहनत व रुपए खर्च करने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

2022 में 8.0 डिग्री तापमान दर्ज किया था
साल 2014 से 2023 के आंकड़े देखें तो जनवरी महीने में अब तक सबसे अधिक न्यूनतम तापमान 2023 में ही दर्ज किया गया है। 25 जनवरी 2023 को न्यूनतम तापमान 16.2 डिग्री दर्ज किया गया। जितना न्यूनतम तापमान 23 जनवरी 2023 को दर्ज किया गया, उसके बराबर 3 जनवरी 2015 में 15.0 और 7 जनवरी 2022 को 16 डिग्री अधिकतम तापमान दर्ज किया गया था।

वहीं 25 जनवरी को न्यूनतम तापमान के पिछले 13 साल के आंकड़ों पर नजर डालें तो 2023 में सबसे अधिक 16.2 डिग्री तापमान दर्ज किया गया। जबकि 2011 में 10, 2012 में 7.6, 2013 में 3.3, 2014 में 11.3, 2015 में 10.7, 2016 में 4.1, 2017 मंे 12.2, 2018 मंे 4, 2019 में 11.3, 2020 में 3.7, 2021 में 6.4 और 2022 में 8.0 डिग्री तापमान दर्ज किया गया था।

खबरें और भी हैं...