• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Tikamgarh
  • The Iron Barriers Collapsed In A Fortnight, The Administration Had Launched A Campaign To Stop The Entry Of Large Vehicles

घटिया निर्माण पर उठ रहे सवाल:एक पखवाड़े में धराशाई हो गए लोहे के बैरियर, बड़े वाहनों का प्रवेश रोकने के लिए प्रशासन ने चलाई थी मुहिम

टीकमगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में भारी वाहनों का प्रवेश रोकने के लिए प्रमुख रास्तों पर लगाए गए लोहे के बैरियर एक पखवाड़े में ही धराशाई हो गए। हैवी वाहन चालकों ने जानबूझकर बैरियर तोड़ दिए। ताकि उन्हें लंबी दूरी तय ना करना पड़े। अब हाल यह है कि एक बार फिर शहर के व्यस्ततम इलाकों से भारी वाहनों का आवागमन शुरू हो गया है।

दरअसल भारी वाहनों के प्रवेश से लगातार हादसे हो रहे हैं। करीब एक माह पहले ही ताल दरवाजा मोहल्ले में अनियंत्रित ट्रक एक मकान में घुस गया था। जिसके बाद प्रशासन ने शहर के अंदर प्रवेश करने वाले प्रमुख रास्तों पर लोहे के स्थायी बैरियर लगाकर बड़े वाहनों का आवागमन प्रतिबंधित कर दिया था। इसके बाद भी हैवी ट्रकों का शहर में आवागमन जारी है।

मंगलवार सुबह मामोन दरवाजा से बंडा वाली सड़क पर बड़े वाहनों का आवागमन देखा गया। यहां एक पखवाड़े पहले ही लोहे का बैरियर लगाया गया था, जो घटिया निर्माण के चलते टूट गया है। इसी तरह शहर के घंटाघर चौराहा, हायर सेकेंडरी स्कूल के पास, पुरानी टेहरी सहित अन्य प्रमुख रास्तों पर लगाए गए बैरियर टूट चुके हैं। ऐसे में एक बार फिर हादसा होने की संभावना है।

लंबी दूरी तय करने से बच रहे ड्राइवर

शहर में हैवी वाहनों का प्रवेश रोकने के लिए दो बाइपास रोड बनाए गए हैं। महेंद्र सागर तालाब के किनारे से बाइपास बनकर तैयार है। फिर भी हैवी वाहन शहर से निकाले जा रहे हैं। इसके अलावा दूसरा बाइपास सागर रोड से नए बस स्टैंड तक तैयार हो चुका है। बावजूद इसके ट्रक ड्राइवर लंबी दूरी तय करने की बजाय शहर के रास्तों से वाहन निकालने में लगे हैं।

प्रशासन को दिखाना होगी सख्ती

अब प्रशासन को सख्ती के साथ हैवी वाहनों को बाइपास ​​​​​​​सड़कों पर डाइवर्ट करना चाहिए। ताकि शहर में बड़े वाहनों का आवागमन पूरी तरह से रोका जा सके। इसके लिए शहर के अंदर प्रवेश करने वाले प्रमुख रास्तों पर यातायात और पुलिस के जवानों को तैनात करना होगा।

यातायात और कोतवाली पुलिस करेंगे तैनात

इस मामले में एसडीएम सीपी पटेल का कहना है कि चिह्नित स्थानों पर दोबारा बैरियर खड़े किए जाएंगे। इसके अलावा यातायात और कोतवाली पुलिस के जवान तैनात करेंगे। जिससे हैवी वाहनों को बाइपास सड़कों पर डायवर्ट किया जा सके।

खबरें और भी हैं...