संबोधन:देश विरोधी नारे लगाने वाले लोगों की पीठ थपथपाते हैं राहुल गांधी-विजयवर्गीय

आगर मालवाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • गेहलोत ने कहा- जो भी विकास हुआ भाजपा सरकारों ने किया, कार्यकर्ताओं को दिया जीत का मंत्र

शनिवार रात भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने अग्रसेन भवन में कार्यकर्ताओं को संबोधित किया तो रविवार को जीत का मंत्र देने केंद्रीय मंत्री थावरचंद्र गेहलोत पहुंचे। दोनों नेता जब तक मंच पर बैठे थे, मास्क लगा रखा था। संबोधन के समय विजयवर्गीय ने मास्क मुंह से नीचे कर लिया तो केंद्रीय मंत्री गेहलोत ने फोटो खिंचवाते समय ही मास्क उतार दिया।

भाजपा प्रत्याशी शनिवार रात को बिना मास्क के दिखे, लेकिन रविवार को भास्कर में समाचार प्रकाशित होने के बाद मास्क पहने नजर आए। विजयवर्गीय ने कार्यकर्ताओं से कहा कि देश की सीमा की रक्षा के लिए हमारे जवान अनवरत डटे रहते हैं, लेकिन कांग्रेस उन पर भी उंगली उठाने से बाज नहीं आती।

दूसरी ओर दिल्ली के विश्वविद्यालय में देश विरोधी नारे लगाने वाले लोगों की राहुल गांधी पीठ थपथपाते हैं। धारा 370 हटाने के लिए जब संसद बिल रखा गया, तो कांग्रेस उसका विरोध करती हैं। कांग्रेस की यह प्रवृत्ति देश के लिए घातक हंै। विजयवर्गीय ने कहा कि कमलनाथ ने किसानों से कर्जमाफी के नाम पर झूठ बोला, नौजवानों को भत्ता देने के नाम पर धोखा दिया, कन्यादान योजना के नाम पर झूठ बोला।

मोदी सरकार ने किसानों की बेहतरी व उनकी आमदनी दोगुनी करने के लिए कानून बनाए, उनके खिलाफ कांग्रेस किसानों को भ्रमित कर रही हैं। इससे स्पष्ट हैं कि कांग्रेस न किसानों का हित चाहती हैं, न जनता का। कांग्रेस को आइने में चेहरा देखना चाहिए और उसके चेहरे को देखकर आइना भी शर्मा जाएगा। उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव एवं सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी ने भी संबाेधित किया। भाजपा जिलाध्यक्ष गोविंद सिंह बरखेड़ी, दिलीप सकलेचा, अंबाराम कराड़ा, जगदीश अग्रवाल, नरेंद्र सिंह बैंस, सोनू गेहलोत आदि मौजूद थे।

दो माह में गिरा देते कमलनाथ सरकार- भाषण के दौरान विजयवर्गीय ने बड़े बोल भी बोले। उन्होंने कहा कि यदि अमित शाह ने उन्हें नहीं रोका होता तो वे दो माह में कमलनाथ सरकार गिरा देते। विजयवर्गीय ने कहा कि सरकार बनने के कुछ दिनों बाद कांग्रेस के नेताओं ने मुझसे संपर्क किया था। मैंने अमित भाई से पूछा तो उन्होंने कहा कि अभी चलने दो देखते हैं, कमलनाथ कैसे सरकार चलाते हैं, वरना मैं तो दो माह में ही सरकार गिरा देता। विजयवर्गीय ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ को कपटनाथ तथा दिग्विजय सिंह को ट्रांसफर उद्योग खोलने वाला बताया।

जो भी विकास हुआ भाजपा सरकारों ने किया- कांग्रेस की सरकारें लंबे समय तक देश और प्रदेश में रहीं, लेकिन गांव की सड़कें नहीं बनी। अटलजी जब प्रधानमंत्री बने तो प्रधानमंत्री सड़क योजना शुरू हुई। इसके बाद मप्र में भाजपा की सरकार बनते ही 2003 में हर गांव को पक्की सड़क से जोड़ने का काम शुरू हुआ।

भाजपा के शासन में किसानों को बिजली मिली, सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराने की योजनाएं शुरू हुईं। प्रदेश में फिर भाजपा की सरकार बनते ही विकास के काम शुरू हो गए हैं। यह बात केंद्रीय मंत्री थावरचंद्र गेहलोत ने आगर विधानसभा में ग्रामीण मंडल सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही।

उच्च शिक्षा मंत्री बोले- बुरा करने वाले को जमीन में गाड़ देंगे

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव मंच पर मास्क लगा कर बैठे थे, लेकिन भाषण के दौरान मास्क नीचे करके वे बोले कि हम कदम से कदम मिलाकर चलना जानते हैं, लेकिन जो बुरा करने जाएगा उसे घर से निकाल लाएंगे और उसे जमीन में गाड़ देंगे। प्रदेश के पूर्व मंत्री जयवर्द्धन सिंह पर निशाना साधते हुए यादव ने अप्रत्यक्ष रूप से कहा कि कांग्रेस के लोग बड़े-बड़े वादे कर रहे हैं।

इनको ले आए, उनको ले आए, पता नहीं किस नकली राजा के छोरे (लड़के) को ले आए, राजा के ठिकाने नहीं पड़ रहे तो छोरे के क्या ठिकाने पड़ेंगे, हम खुद ठिकाने लगा देंगे। डाॅ. यादव ने कहा कि बिल्लोरी कांच से ढूंढते फिरोंगे तो कांग्रेस दिखाई नहीं दे रही और ये जीतने की बात कर रहे हैं। यादव ने आगे कहा कि इंदौर का माल इंदौर में नहीं खप रहा तो दूसरी जगह कैसे खपने देंगे।

सांसद ने बताया कांग्रेस प्रत्याशी को दलाल

कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए क्षेत्र के सांसद महेंद्र सिंह सोलंकी ने कांग्रेस प्रत्याशी विपिन वानखेड़े को दलाल बताया। सोलंकी ने कहा कि विपिन वानखेड़े कांग्रेस सरकार के दौरान यहां दलाली का काम कर रहे थे। झूठे, सच्चे आधार पर गवलीपुरा के भाजपा समर्थित कार्यकर्ताओं को नोटिस दिलवाए तथा अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई करवाई।

तात्कालीन विधायक मनोहर ऊंटवाल ने इस पर विरोध किया तो उनके साथ अच्छा व्यवहार नहीं किया गया जिसके सदमे की वजह से उनका निधन हो गया। सांसद सोलंकी यही नहीं रुके, उन्होंने कहा कि ऊंटवाल का निधन नहीं हुआ हैं। कांग्रेस सरकार ने उन्हें सुनियोजित तरीके से उन्हें मारा हैं। सांसद ने स्व. मनोहर ऊंटवाल को दलित शोषित लोगों की लड़ाई लड़ने वाला शहीद भी बताया।

खबरें और भी हैं...