• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Bachelor Of Fine Art Course Will Start In Ujjain, It Will Include Subjects Like Pottery And Ceramic, Music, Digital Art, Theater, Sculpture Along With Painting

उज्जैन को सौगात:उज्जैन में शुरू होगा बैचलर ऑफ फाइन आर्ट पाठ्यक्रम, इसमें चित्रकला के साथ पॉटरी एवं सिरेमिक, संगीत, डिजिटल कला, थिएटर, मूर्ति विज्ञान जैसे विषय होंगे शामिल

उज्जैन4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने की घोषणा, कहा- इससे संस्कृति को मिलेगा बढ़ावा
  • विक्रम विश्वविद्यालय में 10 करोड़ की लागत से बनेगी नई लैब, यहां विवि के डेढ़ सौ से ज्यादा कॉलजों के छात्र आकर कर सकेंगे प्रैक्टिकल

उज्जैन के विक्रम विश्वविद्यालय में बैचलर ऑफ फाइन आर्ट के अन्तर्गत बैचलर ऑफ विजुअल आर्ट भी शामिल होगा। इस स्नातक पाठ्यक्रम में चित्रकला, पॉटरी एवं सिरेमिक, गायन, संगीत, व्यावहारिक कला, डिजिटल कला, ड्रामा, थिएटर, टेक्टसटाईल, नृत्य, मूर्ति विज्ञान एवं फोटोग्राफी आदि विषयों को शामिल किया जायेगा। ताकि अधिक से अधिक छात्र लाभान्वित हो सकें। इससे हमारी कला व संस्कृति को भी बढ़ावा मिलेगा। रूसा की ओर से 20 करोड़ रुपये आवंटित हुए हैं। इसके अन्तर्गत विक्रम विश्वविद्यालय को 10 करोड़ शासन द्वारा उपलब्ध कराये जायेंगे, ताकि उच्च स्तरीय प्रयोगशाला बनाई जा सके। विक्रम विश्वविद्यालय के स्वर्ण जयन्ती सभागार में आयोजित सम्मान समारोह एवं कम्प्यूटर सेन्टर, क्लासरूम भवन तथा ओवरहेड टैंक के भूमि पूजन कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उच्च शिक्षा मंत्री डॉ.मोहन यादव ने यह बात कही। डॉ. यादव ने कहा कि देश के विश्वविद्यालयों में छात्रों की संख्या बढ़े, यह जरूरी है। विक्रम विश्वविद्यालय में 128 नए कोर्स खोले गये हैं। विक्रम कीर्ति मन्दिर विक्रम विश्वविद्यालय को मिल सके, इसके लिये प्रयास किये जा रहे हैं। पुरातत्व और पाण्डुलिपि संग्रहालय का पुनर्निर्माण और विस्तारीकरण करवाया जायेगा। पुराने माधव महाविद्यालय में बने गांधी हॉल का जीर्णोद्धार कराया जायेगा। साइंस कॉलेज में नवीन ऑडिटोरियम का निर्माण कराया जायेगा। विश्वविद्यालय में कृषि संकाय का व्यापक प्रचार-प्रसार जनपदों व ग्राम पंचायत स्तर तक होना चाहिये। उज्जैन उत्तर विधायक एवं पूर्व मंत्री श्री पारस जैन ने कहा कि विश्वविद्यालय के नए पाठ‌्यक्रमों की जानकारी प्रसारित की जाए ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक बात पहुंच सके। विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो.अखिलेश कुमार पाण्डेय ने कहा कि विक्रम विश्वविद्यालय में हैप्पीनेस इंडेक्स बढ़ गया है। विश्वविद्यालय में इंफ्रास्ट्रक्चर की कमी नहीं है। फूड टेक्नालॉजी, टेक्सेशन, फॉरेंसिक साइंस जैसे कई रोजगारपरक पाठ्यक्रम प्रारम्भ हुए हैं। इस अवसर पर 2 करोड़ 37 लाख रुपये की लागत से बनने वाले कम्प्यूटर सेन्टर, क्लासरूम भवन तथा सम्पवेल सहित ओवरहेड टेंक का भूमि पूजन किया।