पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

वैक्सीन ट्रायल:मक्सी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर हुआ ड्राय रन, सबसे पहले डॉक्टर ने दाएं हाथ पर लगवाई खाली सिरिंज

मक्सी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना वैक्सिनेशन से पहले रिहर्सल

कोविड-19 वैक्सीन की तैयारियों को परखने के लिए शुक्रवार को मक्सी प्राथमिक स्वास्थ केंद्र गडरोली में ड्राय रन किया गया। सबसे पहले मक्सी प्राथमिक स्वास्थ केंद्र के डॉक्टर आनंद नायक के दाएं हाथ पर सीरिंज लगाया गया। सिर्फ सूई को हाथ पर स्पर्श करवाया गया।

यह एक तरह की रिहर्सल थी, ताकी जब वैक्सीन लगना शुरू की जाए तो किसी तरह की कोई गलती ना हो। सुबह सबसे पहले ड्राई रन के तहत सेटअप तैयार किया गया। सुबह 10 से 12 बजे तक चले मॉकड्रिल में स्वास्थकर्मी, अस्पताल स्टाफ और आशा कार्यकर्ताओं ने भाग लिया। इन्हें वैक्सीन लगाने के ट्रायल से पहले वैक्सीन से होने वाले साइड इफेक्ट के बारे में जानकारी दी गई।

इसके बाद वैक्सीन लगाने की रिहर्सल शुरू हुई। वैक्सीनेशन रिहर्सल के लिए अस्पताल प्रबंधन द्वारा 5 तरह की प्रक्रिया अपनाई गई। हर प्रक्रिया वे लिए अलग-अलग अधिकारी की ड्यूटी लगाई गई। वैक्सीनेशन के लिए आए लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क लगवाकर 2 गज की दूरी पर लाभार्थियों को पंक्ति में कतार बद्ध खड़ा किया गया। पहले चरण में टीकाकरण अधिकारी-1 द्वारा अपने रिकॉर्ड में संबंधित का आईडी प्रूफ की जांच कर उनका टेम्प्रेचर चैक कर अस्पताल के अंदर प्रवेश दिया गया।

टीकाकरण अधिकारी-2 ने संबंधित की कोविड सॉफ्टवेयर पर जानकारी दर्ज करके होने वाले वैक्सीनेशन की जानकारी अपलोड की। जिन्हें वैक्सीन लगनी थी उन्हें टीकाकरण अधिकारी-3 द्वारा क्राउड मैनेजमेंट कर कोविड के डोज और संक्रमण से बचाव की जानकारी देकर सोशल डिस्टेंसिंग के साथ वेटिंग रूम में बैठाया।

इस रूम में टीकाकरण वैक्सीनेटर अधिकारी-4 द्वारा संबंधित को कोरोना वैक्सीन लगाकर उसकी जानकारी कोविड सॉफ्टवेयर में दर्ज की गई। टीका लगाने के बाद संबंधित को इसी कक्ष में 30 मिनट तक डॉक्टर की निगरानी में रखा गया ताकि किसी भी तरह का साइड इफैक्ट होने की स्थिति में यहां इलाज किया जा सके।

ऐसा रहा वैक्सीनेशन का पूरा शेड्यूल

ड्राइ रन के तहत वैक्सीन सुबह साढ़े 8 केंद्र पर पहुंची। वैक्सीन आइस बॉक्स में मौजूद रही। सुबह 10 से 12 बजे तक टीकाकरण सत्र रहा। 25 से 30 लाभार्थियों को एसएमएस से सूचना दी गई थी। यह लाभार्थी स्वास्थकर्मी और आशा कार्यकर्ता थी। इसके बाद वैक्सीन लगना शुरू हुआ। वैक्सीन में किसी प्रकार की कोई दवा नहीं थी इसलिए इसे ड्राई रन कहा गया। बाएं हाथ पर सूई को सिर्फ टच किया गया। 30 मिनट तक उन्हें डॉक्टरों की निगरानी में वहीं बैठाया गया। इसके बाद घर रवाना किया गया। साइड इफेक्ट की स्थिति में एक डॉक्टर भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थिति आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही है। व्यक्तिगत और पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। बच्चों की शिक्षा और करियर से संबंधित महत्वपूर्ण कार्य भी आ...

    और पढ़ें