पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुलिस की कार्रवाई:सात थानाें के टीआई सहित 75 जवानों ने दाे किमी पैदल चलकर लाखाखेड़ी में दी दबिश, घर से भाग निकले पुरुष

नागदा17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
डेरे में पुलिस जवानाें की एक टुकड़ी। - Dainik Bhaskar
डेरे में पुलिस जवानाें की एक टुकड़ी।
  • कंजराें का आंतक खत्म करने रात 2.30 बजे कार्रवाई, महिलाएं व बच्चे ही मिले

कंजराें का आंतक जिलेभर में बढ़ता जा रहा है। खासताैर से कंजर ग्रामीण क्षेत्र में रात के अंधेरे में वारदाताें काे अंजाम दे रहे हैं, जिससे ग्रामीणाें ने आक्राेश भी है ताे कंजराें का भय भी है। कंजराें के आंतक काे खत्म करने जिले के 7 थानाें के टीआई सहित 75 पुलिस जवानाें ने गांव लाखाखेड़ी में मंगलवार-बुधवार की रात 2.30 बजे दबिश दी।

अलग-अलग टुकड़ी में पुलिस जवान अलग-अलग डेरों में पहुंचे लेकिन पुरुष घर छाेड़कर भाग निकले। मात्र महिला और बच्चे ही माैके पर मिले। पुलिस ने सर्चिंग के बाद एक बाइक और कुछ लहसुन जब्त की है। हालांकि पुलिस अभी कुछ कहने से बच रही है।

पुलिस सूत्राें के मुताबिक लाखाखेड़ी में कुछ डेरे पहाड़ी पर बने हुए हैं। इस वजह से जब भी पुलिस का वाहन आता है ताे उन्हें दूर से नजर आ जाता है। इससे वह लाेग भाग निकलते हैं। इसे लेकर पुलिस अधिकारियाें ने वाहनाें काे 2 किमी दूर जंगलाें में खड़ा किया। वहां से पुलिस अधिकारी और जवान खेताें में कच्ची पगडंडी के रास्ते 2 किमी पैदल चले। इसके बाद वह डेराें पर पहुंचे। जैसे ही टुकड़ी में बंटकर पुलिस ने पहाड़ी और नीचे के डेराें में दबिश दी ताे अफरा-तफरी मच गई।

माैके पर एक भी पुरुष माैजूद नहीं था। महिला और बच्चे थे, जाे पुलिस काे देखकर हर बार की तरह एक काेने में हाथ बांधकर बैठ गए, शायद उन्हें पुलिस के आने पर कैसा बर्ताव करना है, इसकी आदत हाे चुकी थी। जवानाें ने एक-एक घर, आसपास की झाड़ियां और खेताें में भी तलाशी ली लेकिन काेई हाथ नहीं लग पाया। हालांकि खाचराैद से चाेरी एक बाइकऔर पेटलावद गांव से चाेरी कुछ लहसुन मिलने की बात सामने आई है।

इन थानाें की पुलिस और बल गया था दबिश देने
लाखाखेड़ी में दबिश देने का उद्देश्य चाेरी की वारदाताें काे ट्रेस करना और कंजराें के आंतक काे खत्म करना था। मंडी थाना, बिरलाग्राम थाना, महिदपुर राेड, झारड़ा, खाचराैद, भाटपचलाना, उन्हेल की टीम ने दबिश दी थी। रात 1.30 बजे सभी थानाें की पुलिस रवाना हुई, जाे महिदपुर राेड थाने पर जाकर रुकी। यहां पुलिस बल के एकत्रित हाेने के बाद टीम रवाना हुई और रात 2.30 बजे लाखाखेड़ी में दबिश दी गई।

सुबह तक पुरुषाें के आने का इंतजार किया टीम ने
रात 2.30 बजे से लेकर 4 बजे तक सर्चिंग का काम पुलिस ने किया। इस दौरान डेरो में अफरा-तफरी मच गई। आसपास के खेताें में भी तलाशी ली लेकिन काेई हाथ नहीं आया। इसके बाद जब कुछ नहीं मिला ताे पुलिस ने पुरुषाें के आने का इंतजार किया। लगभग सुबह 8.30 बजे तक पुलिस टीम डेरे में ही बनी रही ताकि पुरुष लाैटे ताे पूछताछ की जाए लेकिन काेई नहीं आया। इस पर टीम लाैट आई।

पेटलावद में चाेरी से ग्रामीणाें में बढ़ गया था कंजराें का भय
जिलेभर के थाना क्षेत्राें में चाेरी की वारदातों में कंजराें के शामिल हाेने की जानकारी सामने आ रही थी। उन्हेल थाना क्षेत्र से 4 भैंस चाेरी हुई, खाचराैद थाना क्षेत्र से भैंस, बाइक और ट्रैक्टर की बैटरियां तक चाेरी हुई थी। महिदपुर राेड थाना क्षेत्र के गांव पेटलावद में किसान आबिद मंसूरी के गाेडाउन का ताला ताेड़कर लहसुन, कलाैंजी, साेयाबीन चाेरी की थी। इससे ग्रामीणाें में कंजराें का भय बन गया था।

खबरें और भी हैं...