पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बैठक में लिया निर्णय:8 दिवसीय हड़ताल टूटी, हम्माल काे मिलेगी 50 पैसे प्रति क्विंटल राशि

नागदाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि उपज मंडी के हम्माल-तुलावटी संघ द्वारा बीते एक सप्ताह से अनिश्चितकालीन हड़ताल की जा रही थी। इससे किसानों काे परेशान हाे रहा था। इसे लेकर 8 जुलाई काे भास्कर ने मुद्दे काे प्रमुखता से प्रकाशित किया था। इस पर बुधवार शाम 5 बजे मंडी प्रशासन, व्यापारी व हम्माल-तुलावटी संघ की बैठक आयोजित की गई। इसमें  गुरुवार से मंडी पुनः चालू करने का निर्णय लिया गया।  मंडी सचिव पन्नालाल भरतुनिया, प्रशासक मनोहरलाल वर्मा ने व्यापारी-हम्माल और तुलावटियों में समझाैता करवाकर गतिराेध काे खत्म किया। शासन के नियम के अनुसार बड़े ताैलकांटे पर जो खुला माल तुलेगा, उसकी हम्माली राशि किसानों से नहीं काटी जाएगी, लेकिन व्यापारी हम्मालाें काे 50 पैसे प्रति क्विंटल हम्माली, जो पूर्व में किसानाें से काटकर हम्मालों को दी जाती थी, उसका वहन अब स्वयं व्यापारी करेगा। वहीं तुलावटियों को कोई पैसा नहीं दिया जाएगा। इस निर्णय से हम्मालों के चेहरे खिल गए, लेकिन तुलावटी मायूस हाे गए। मंडी प्रशासन ने 8 दिनों से चली हड़ताल टूटते ही राहत की सांस ली। बैठक में अनाज व्यापारी अध्यक्ष शांतिलाल जैन, विधायक प्रतिनिधि शंकर पटेल, हम्माल-तुलावटी संघ अध्यक्ष शफी मोहम्मद, अशोक, पारस जैन, पवन जैन, कृष्णा खमोरिया आदि माैजूद थे। मामले में शफी माेहम्मद ने बताया कि अभी हम्माली का मुद्दा हल हुआ है, तुलावटी का बाकी है, लेकिन किसानों की परेशानी देख हड़ताल समाप्त की गई है। तुलावटियों के हितों के लिए न्यायालय का दरवाजा भी खटखटाना पड़े तो पीछे नही हटेंगे। तुलावटी चंदरलाल चाैहान ने बताया हम्माल व तुलावटी संघ ने संयुक्त रूप से बंद का आह्वान किया था, लेकिन हम्मालों की मांग पूरी हो गई है अब हमारी लड़ाई हम लड़ेंगे।

खबरें और भी हैं...