पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपहरण का मामला:महिदपुर में मिला जीजा, बोला- कर्ज ज्यादा हो गया था,परिजन से रुपए निकालने के लिए लापता हुआ

नागदा19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • खुद ही रची थी अपने अपहरण की साजिश, नागदा लेकर आएगी पुलिस
  • पुलिस से कहा परिजनों से रुपए निकालने के लिए हुआ लापता

नागदा के ग्राम बेरछा से अपहरण हुए बालक का मामला आपस में कई कड़ियां जोड़ रहा है। मध्यस्थता कर रुपए देकर बालक को वापस लाने वाले व्यक्ति के अचानक लापता हो जाने के बाद अब पुलिस ने उसे खोज लिया है।

उसका कहना है उस पर कर्जा ज्यादा हो गया था, इसलिए परिजनों से रुपए निकालने के लिए जानबूझकर लापता हुआ था। वहीं पुलिस को आशंका है कि बालक के अपहरण की साजिश भी उसी ने रची थी। मामले में अब मंडी पुलिस पूछताछ के लिए उसे नागदा लेकर आएगी। नागदा मंडी थाना अंतर्गत आने वाले ग्राम बेरछा में रहने वाले जीवन सिंह के 8 वर्षीय पुत्र जयदीप का 13 दिन पहले अपहरण हो गया था। जीवन सिंह के जीजा नागेंद्र सिंह (निवासी लखनेटी थाना बरखेड़ा) ने परिजनों को बताया था कि वह गांव जा रहे थे, तभी बाइक सवार दो बदमाश जयदीप को अपहरण कर ले गए।

नागेंद्र के सामने ही अपहरण की यह घटना हुई थी। अपहरणकर्ताओं ने 10 लाख रुपए की फिरौती मांगी थी। बाद में 2 लाख रुपए में बात तय हुई। इसके बाद नागेंद्र ही रुपए लेकर गया था। अपहरणकर्ता जयदीप को राजस्थान बॉर्डर के पास छोड़कर चले गए थे। अपहरण की कोई शिकायत भी परिजनों ने पुलिस को नहीं की। मामला जब सुर्खियों में आया तो पुलिस भी अलर्ट हो गई। मामले में नया मोड़ तब आया, जब तीन दिन पहले नागेंद्र भी लापता हो गया। परिजनों ने उसे तलाशा लेकिन वह नहीं मिला।

ग्राम मंडावल में उसकी बाइक मिली। ताल पुलिस ने शुक्रवार रात महिदपुर में उसे खोज निकाला। पुलिस ने जब उससे पूछताछ की तो उसने बताया कि उस पर कर्जा ज्यादा हो गया था, इसलिए परिजनों से रुपए निकालने के लिए खुद ही अपने अपहरण की झूठी कहानी बनाते हुए लापता हो गया था। शनिवार देर शाम आलोट न्यायालय में उसके बयान भी दर्ज हुए। अब नागदा पुलिस उसे जयदीप के अपहरण के मामले में पूछताछ के लिए नागदा लेकर आएगी। जयदीप के अपहरण की घटना में भी उसी का हाथ होने की पुलिस को आशंका है।

थाना प्रभारी के बुलाने के बाद से ही लापता नागेंद्र
जयदीप के अपहरण की परिजनों ने पुलिस को रिपोर्ट दर्ज नहीं कराई थी लेकिन मामला जब सामने आया तो पुलिस ने स्वत: संज्ञान लिया। मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने कुछ दिन पहले ही नागेंद्र को पूछताछ के लिए थाने बुलाया था लेकिन वह थाने नहीं आया आैर उसी दिन से लापता हो गया। इसलिए पुलिस को जयदीप के अपहरण का षड्यंत्र भी उसके द्वारा ही रचे जाने की आशंका है।

पहले गुमशुदगी, फिर किया अपहरण का प्रकरण दर्ज
परिजनों ने नागेंद्र के नहीं मिलने पर पहले गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। इसके बाद परिजनों ने उसके अपहरण होने की शंका जताई, जिस पर रतलाम जिले के ताल थाने में उसके अपहरण की रिपोर्ट दर्ज की गई। अब उसके मिलने पर यह कहानी सामने आई कि उसने खुद ही अपने अपहरण होने की साजिश रची थी, जिस पर अब केवल केस खात्मा काटने की कार्रवाई मात्र होना है।

नागेंद्र बोला- 50 हजार का कर्जा हो गया था, पुलिस को गले नहीं उतर रही बात कि 50 हजार रुपए के कारण लापता हुआ
पूछताछ में पुलिस को नागेंद्र ने बताया उस पर बहुत कर्जा हो गया था लेकिन जैसे ही उसने कर्जे की रकम बताई तो पुलिस सन्न रह गई। उसने बताया उस पर 50 हजार रुपए का कर्जा है, जबकि उसका परिवार पूरी तरह संपन्न है। जमीन-जायदाद के अलावा कई अन्य प्रॉपर्टी भी परिवार के पास है। इसके अलावा उसकी पत्नी भी सरपंच है, जिसके कारण उस क्षेत्र में उनका राजनीतिक वर्चस्व भी अच्छा है। इसलिए पुलिस को यह बात गले नहीं उतर रही है कि केवल 50 हजार रुपए के कर्जे के कारण वह इस तरह लापता हो सकता है। मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने बताया पूछताछ के लिए नागेंद्र को नागदा लेकर आएंगे। पूछताछ के बाद ही इस मामले में कुछ कहा जा सकता है। सारी आशंकाओं का खुलासा पूछताछ में ही होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ग्रह गोचर और परिस्थितियां आपके लिए लाभ का मार्ग खोल रही हैं। सिर्फ अत्यधिक मेहनत और एकाग्रता की जरूरत है। आप अपनी योग्यता और काबिलियत के बल पर घर और समाज में संभावित स्थान प्राप्त करेंगे। ...

और पढ़ें