पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Nagda
  • By Digging A Pit Of 30 Feet Deep, The Contractor Got One Thousand Trolley Soil murom On The Private Plot And Farm House.

मिट्‌टी का खेल:30 फीट गहरा गड्‌ढा खोदकर ठेकेदार ने एक हजार ट्रॉली मिट्‌टी-मुरम निजी प्लॉट और फार्म हाउस पर डलवा दी

नागदा16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह करीब 30 फीट गहरा गड्‌ढा खोदकर इसमें से लगभग 1 हजार ट्रॉली मिट्‌टी और मुरम निकाल कर उसे निजी प्लॉट और फार्म हाउस पर डाल दिया गया। - Dainik Bhaskar
इस तरह करीब 30 फीट गहरा गड्‌ढा खोदकर इसमें से लगभग 1 हजार ट्रॉली मिट्‌टी और मुरम निकाल कर उसे निजी प्लॉट और फार्म हाउस पर डाल दिया गया।
  • जानकारी लगने पर नपा के अधिकारियों ने कहा- अब ठेकेदार से ही की जाएगी राशि की वसूली

बंगाली कॉलोनी में पानी की टंकी के पास सम्पवेल निर्माण के दौरान हुई खुदाई में निकली मिट्‌टी-मुरम में बड़ी गड़बड़ी सामने आई है। ठेकेदार ने लगभग 1 हजार ट्रॉली मिट्‌टी-मुरम निजी प्लॉट और फार्म हाउस में डलवा दी। इसके लिए नगर पालिका प्रशासन से कोई अनुमति तक नहीं ली गई। सांठगांठ का यह खेल चलता रहा लेकिन जब करीब 30 फीट गहरा गड्‌ढा खुद गया और मिट्‌टी-मुरम नहीं दिखाई दी तो अधिकारी हरकत में आए। शासकीय कार्य के दौरान होने वाली खुदाई से निकलने वाली मिट्‌टी-मुरम को अगर निजी स्थानों पर डलवाया जाता है तो उसके लिए बाकायदा शुल्क चुकाना होता है। ठेकेदार द्वारा इसकी अनुमति लेकर इसका निर्धारित शुल्क भी नपा कार्यालय में जमा कराना था लेकिन ठेकेदार ने मनमानी करते हुए अधिकारियों की जानकारी में लाए बगैर ही भू-माफियाओं और कुछ नेताओं व अन्य लोगों के संपर्क में आकर इस मिट्‌टी का खेल कर दिया। खुदाई में निकली मिट्‌टी-मुरम ट्रॉलियां में भरकर निजी प्लॉट और फार्म हाउस में जाती रही। वरिष्ठ अधिकारियों को जैसे ही यह जानकारी लगी तो उन्होंने ताबड़तोड़ अन्य जगह भेजी जा रही मिट्‌टी-मुरम की ट्रॉलियों को रोकने के निर्देश दिए लेकिन अब तक लगभग 1 हजार ट्रॉलियां दूसरे स्थानों पर भेजी जा चुकी है। मामले में अधिकारी अब ठेकेदार से राशि वसूल करने की बात कर रहे हैं। जहां ट्रॉलियां डालने को कहा था, वहां एक भी ट्रॉली नहीं डाली मारुति नगर में सड़क के आसपास गड्‌ढे हैं, जिससे वहां बारिश के दिनों में पानी भर जाता है और लोगों को आवाजाही में भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इसलिए नगर पालिका परिषद् प्रशासन ने खुदाई में निकलने वाली मिट्‌टी-मुरम को उस स्थान पर डलवाने के निर्देश दिए थे लेकिन ठेकेदार ने अपनी मनमानी करते हुए कई लोगों के निजी प्लॉट और फार्म हाउस पर ट्रॉलियां डलवा दी, जबकि मारुति नगर में एक भी ट्रॉली मिट्‌टी-मुरम नहीं डाली गई।

जितनी भी ट्रॉलियां बगैर अनुमति डलवाई, उसकी वसूली ठेकेदार से होगी
नपा सीएमओ भविष्य कुमार खोब्रागडे ने बताया बंगाली कॉलोनी में पानी की टंकी के पास समवेल का काम चल रहा है। खुदाई में निकली मिट्‌टी-मुरम की सैकड़ों ट्रॉलियां अन्य स्थान पर डलवाई जाने की जानकारी मिली है। ठेकेदार को नोटिस किया है। अधिकारियों को भी जांच के निर्देश दिए हैं। जितनी भी ट्रॉलियां बगैर अनुमति के डलवाई है, उसकी वसूली ठेकेदार से की जाएगी।

पूर्व जनप्रतिनिधि के प्लॉट पर भी 50 से ज्यादा मिट्‌टी-मुरम की ट्रॉलियां भेजी
नगर पालिका के ही एक पूर्व जनप्रतिनिधि ने भी अपने प्रभाव का उपयोग कर ठेकेदार से अपने प्लॉट पर बगैर कोई शुल्क दिए मिट्‌टी और मुरम डलवा दी। नपा सूत्रों के मुताबिक इंगोरिया रोड स्थित प्लॉट पर 50 से ज्यादा ट्रॉलियां मिट्‌टी-मुरम डाली गई। जानकारी जैसे ही नपा सीएमओ भविष्य खोब्रागडे को लगी तो उन्होंने तुरंत इसे रुकवाने के निर्देश दिए। सूत्रों की मानें तो जब ट्रॉलियां भेजना बंद की तो उक्त पूर्व जनप्रतिनिधि ने नपा के अधिकारी को धमकाया और ट्रांसफर तक करवाने की धमकी दी।
नपा प्रशासन ने दिए मामले की जांच के आदेश, ठेकेदार को नोटिस जारी
मामले में नपा प्रशासन ने जांच के आदेश दिए हैं। इंजीनियर और सब-इंजीनियर को मौका मुआयना कर निर्देश दिए कि वह पता लगाएं कितने फीट खुदाई की है और कितनी ट्रॉली मिट्‌टी-मुरम निकाली है। ठेकेदार को नोटिस जारी कर जवाब तलब किया कि उसने किसकी अनुमति से ट्रॉलियों से मिट्‌टी-मुरम डलवाई। नपा अधिकारियों के मुताबिक जितनी भी ट्रॉलियां मिट्‌टी-मुरम डलवाई है, उसकी राशि की गणना कर वसूली ठेकेदार से की जाएगी।

खबरें और भी हैं...