पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

पर्यावरण जागरूकता:पर्यावरण जागरूकता के लिए ग्रेसिम उद्योग ने 15 गांवों में किया जनसंवाद

नागदा13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

ग्रामीण क्षेत्रों में पर्यावरण जागरूकता जनसंवाद कार्यक्रम के तहत ग्रेसिम उद्योग ने 15 ग्रामों के ग्रामीणों को प्रकृति के संरक्षण के प्रति जागृत किया। प्रथम चरण में 7 से 12 सितंबर तक भाटीसुड़ा, भीलसुड़ा, टकरावदा, भगतपुरी, खजुरिया, झांझाखेड़ी, डाबरी, सिमरोल, हताई पालकी, मकला, निनावट खेड़ा, अटलावदा शामिल रहे। जनसंवाद कार्यक्रम में 700 से भी अधिक ग्रामीणों ने भाग लिया। उद्योग के इकाई प्रमुख के.सुरेश, वरिष्ठ उपाध्यक्ष योगेंद्रसिंह रघुवंशी और तकनीकी प्रमुख विश्वदीप मैती मैती के मार्गदर्शन में पर्यावरण असंतुलन की स्थिति को संतुलित करने में उद्योग द्वारा किए जा रहे प्रयासों की जानकारी देकर आम जनमानस की पर्यावरण के प्रति क्या जिम्मेदारी है इससे अवगत कराया गया। कार्यक्रम में अल्पवर्षा , बढ़ते तापमान, गिरते भूजल स्तर पर भी चिंता व्यक्त करते हुए। इसके उपायों पर भी विचार विमर्श किया गया। ग्रामीण जनों के प्रश्नों के उत्तर देते हुए ग्रेसिम ग्रामीण विकास विभाग एवं पर्यावरण विभाग के अधिकारियों ने उनकी जिज्ञासाओं को शांत किया।

उन्हें अधिक से अधिक पौधारोपण के लिए भी प्रेरित किया। अधिकारियों ने कहा कि पर्यावरण संरक्षण अभियान के तहत ग्रेसिम द्वारा प्रतिवर्ष हज़ारों की संख्या में फलदार एवं छायादार पौधे वितरित किए जाते है। इस मौके पर उन्होंने आह्वान किया कि कोई भी व्यक्ति ग्रेसिम से निःशुल्क पौधे प्राप्त कर अपने क्षेत्र में पौधा रोपण कर सकता हैं। ग्रामीणों ने गिरते जल स्तर पर चिंता जताई। अधिकारियों ने उन्हें गांव का पानी गांव में ही अभियान से जोड़ने का सुझाव देकर कहा वर्षा का पानी सहेजकर पर्यावरण संरक्षण में भागीदारी दे सकते हैं। इसके लिए गाँव के प्राकृतिक एवं पुराने बावड़ियों, कुओं के गहरीकरण एवं संरक्षण, नए तालाबों का निर्माण, नालों पर चेक डेम बनाकर भी जल संरक्षण किया जा सकता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- अगर आप कुछ समय से स्थान परिवर्तन की योजना बना रहे हैं या किसी प्रॉपर्टी से संबंधित कार्य करने से पहले उस पर दोबारा विचार विमर्श कर लें। आपको अवश्य ही सफलता प्राप्त होगी। संतान की तरफ से भी को...

और पढ़ें