पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Nagda
  • In Three Days, The Trolley Was Changed To The Appearance And Number Plate, Identified With The Slippers Tied On The Trolley

पुलिस ने चेचिस नंबर की जांच कर जब्त किया ट्राॅला:तीन दिन में ट्राॅला चाेरी कर हुलिया और नंबर प्लेट तक बदल दी, ट्राले पर बंधी चप्पल से हुई पहचान

नागदा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • चाेरी करने वाले बदमाश भी ट्रक ड्राइवर

स्टेट हाईवे-17 उज्जैन-जावरा नागदा बायपास से तीन दिन पहले बदमाश 12 लाख रुपए का ट्राॅला चाेरी कर ले गए। बदमाशाें ने ट्राॅला चाेरी के बाद इसकी पहचान छिपाने के लिए रंगराेगन कर पूरा हुलिया ही बदल दिया। यही नहीं नंबर प्लेट तक बदल दी। पहले ट्राॅले पर राजस्थान की नंबर प्लेट लगी थी, जिसे बदमाशाें ने मप्र की बनाकर लगा दी। ट्राॅला चाेरी की शिकायत पर मंडी पुलिस छानबीन में लगी हुई थी।

तभी पुलिस काे सूचना मिली और वह झाबुआ जिले के गांव खवासा पहुंची ताे ट्राॅला मालिक ने उस पर लगी चप्पल से ट्राॅला पहचान लिया। बदमाश पुलिस वाहन काे देख फरार हाे गए। हालांकि उनकी पहचान हाे गई है। आराेपी भी ड्राइवरी का ही काम करते हैं। यह खुलासा बुधवार काे मंडी थाने में सीएसपी मनाेज रत्नाकर एवं मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा ने किया। इन आराेपियाें ने चुराया था फरियादी हुसैन बेग ने आराेपियाें के भागने के दाैरान उनकी पहचान कर ली। क्याेंकि कुछ ड्राइवर हैं, ताे कुछ पुराने जान-पहचान के हैं। जिसमें पुरानी नपा टंकी के पास निवासी वसीम खान पिता रियाज खान, 64 ब्लाॅक निवासी शिवा उर्फ शिवम पिता विजय, जेल राेड काॅलाेनी बदनावर जिला धार निवासी शफीक पिता समद खान, पेटलावद निवासी हिम्मत शामिल है। पुलिस चाराें की तलाश कर रही है। टीम में एसआई प्रतीक यादव (साइबर सेल), एएसआई सुरेश सोनगरा, प्रधान आरक्षक दिनेश गुर्जर, आरक्षक ईश्वर परिहार, मनोहर माहरी, राजपाल सिंह, प्रेम सिंह, निकिता (साइबर सेल) की महत्वपूर्ण भूमिका रही।

बायपास से दिनदहाड़े ही बदमाश चाेरी कर ले गए थे ट्राॅला
ट्राला राजीव काॅलाेनी निवासी हुसैन बेग पिता अमीर बेग का है। 4 जून काे उन्होंने शिकायत कर बताया था कि 12 लाख रुपए का ट्राॅला बायपास रोड पर खड़ा था। क्लीनर तेजू सोलंकी उसमें साेया था। 5 जून की सुबह 9 बजे तेजू खाना खाने के लिए ट्राॅला छोड़कर घर चला था। रात 11 बजे वह सोने पहुंचा ताे ट्राॅला नहीं था, जिस पर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई थी।

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज चैक करना शुरू किए ताे पता चला ट्राॅला खाचराैद की ओर गया है। इस पर टीम गठित कर फरियादी के साथ रुनिजा, बदनावर, रतलाम में सभी जगह ट्राले की तलाश की गई। इस दाैरान मुखबिर से सूचना मिली कि ट्राॅला खवासा जिला झाबुआ के पास रोड किनारे खड़ा है। जैसे ही पुलिस टीम फरियादी के साथ माैके पर पहुंची ताे बदमाश भाग निकले। पुलिस ने माैके से ट्राॅला जब्त किया है।

खबरें और भी हैं...