पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मोहता परिवार का कहना:मकान मालिक ने सांठगांठ कर रचा मोहता मार्केट को कंडम घोषित करने का षड्यंत्र, हकीकत में भवन मजबूत- किराएदार

नागदा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंजीनियरिंग कॉलेज ने इमारत को बताया कंडम, रिपोर्ट हमने नहीं बनाई

अधिकारियों से सांठगांठ कर मोहता मार्केट को कंडम घोषित कर इमारत की साजिश मकान मालिक द्वारा रची गई है, जबकि हकीकत में इमारत न तो कंडम है, न ही इसके गिरने की संभावना है। मीडिया को दिए बयान में यह आरोप मार्केट में किराए से दुकान संचालित करने वाले दुकानदारों ने लगाया है। मार्केट के ही एक किराएदार विजय पितलिया ने बताया कि अगर मार्केट कंडम हो चुका है तो किस तरह स्वयं मकान मालिक इमारत की ऊपरी मंजिलों पर दो लॉज, एक मावा और जूते की दुकान का संचालन कर रहा है। असल में मार्केट को कंडम बताकर मकान मालिक जनता में भय पैदा कर मार्केट में ग्राहकों की आवाजाही रोकना चाहते हैं, ताकि मजबूर होकर किराएदार दुकान खाली कर दें। जबकि दुकानदार 40 से 50 साल से यहां दुकानें संचालित कर रहे हैं, इससे ही आजीविका चल रही है। इधर मोहता परिवार के सुमित मोहता ने किराएदारों के आरोप को बेबुनियाद करार देते हुए कहा कि हमारे परिवार द्वारा संचालित दुकानों को खाली किया जा रहा है। लॉज का हिस्से का रि-कंट्रक्शन हो चुका है। मार्केट के एक तिहाई हिस्से को ही इंजीनियरिंग कॉलेज ने कंडम घोषित कर इसे ढहाने का अभिमत दिया है। चूंकि दुकानदार दुकानें खाली करने को राजी नहीं है, इसलिए हमने नपा को इंजीनियरिंग कॉलेज की रिपोर्ट सितंबर 2019 में ही सौंपकर कंडम हिस्से को ढहाने का आवेदन दे दिया था। 10 माह गुजरने के बाद भी नपा द्वारा किसी निर्णय पर नहीं पहुंचने के कारण हमें मार्केट के आगे सार्वजनिक सूचना चस्पा करना पड़ी है, ताकि आमजन को सचेत किया जा सके।

रॉ-मटेरियल की दो बार हो चुकी जांच, दोनों में ही मार्केट की रिपोर्ट कंडम
मकान मालकिन कलावती प्रभुशंकर मोहता के अनुसार मार्केट भवन के खंडहर होने का बीते साल नपा का नोटिस मिलने पर उन्होंने दुकानदारों को सूचना देकर दुकान खाली करने का कहा था, जिससे भवन तोड़ने का काम शुरू किया जा सके। दुकानदारों की तरफ से जवाब नहीं मिला। मार्केट के ऊपरी तल की गैलरी पर चलने मात्र से कंपन हो रहा है। गैलरी नीचे से भी कमजाेर हो चुकी है। फर्शियों को सपोर्ट नहीं मिलने से कभी भी गिर सकती है। यह संभावना जीएसआईटीएस की टीम ने भी अपनी रिपोर्ट में जताई है। चूंकि हम पहले ही इमारत के राॅ-मटेरियल की जांच करा चुके थे। बावजूद नपा के इंजीनियरों को भरोसा नहीं था। दोबारा जांच में भी इमारत को खतरनाक बताया है। दुकानदार मार्केट खाली करें तो हम भवन गिराने को तैयार हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें