पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Nagda
  • Madhya Pradesh Archaeological Archives And Museum Refuses To Make Nagadah Tekri A Memorial, On The Other Hand Ujjain's Team Wrote In The Site Inspection Conservation Is Necessary

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये कैसा मतभेद:मप्र पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय का नागदाह टेकरी को स्मारक बनाने से इनकार, दूसरी ओर स्थल निरीक्षण में उज्जैन की टीम ने लिखा- संरक्षण जरूरी

नागदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चंद्रवंशी पांडव सामाजिक कल्याण समिति की मांग पर हुआ था स्थल परीक्षण, आरटीई में मिली जानकारी

जूना नागदा स्थित नागदाह टेकरी को लेकर पुरातत्व विभाग में भी मतभेद सामने आ रहा है। यह मतभेद बाकायदा कागजों में दर्ज है, क्योंकि ऐतिहासिक धरोहर बचाव समिति द्वारा महाभारत कालीन नागदाह टेकरी को राज्य स्मारक घोषित करने के लिए की जा रही कार्रवाई में दाे अलग-अलग बातें सीएम हेल्पलाइन और सूचना के अधिकार के तहत मिले दस्तावेजों में सामने आई हैं।

यहां सीएम हेल्पलाइन पर पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय मप्र ने नागदाह टेकरी को राज्य स्मारक संरक्षित करने से इनकार कर स्थल निरीक्षण में काेई साक्ष्य नहीं मिलने की बात कही है, वहीं दूसरी ओर सूचना के अधिकार में मिले दस्तावेजों में त्रिवेणी कला एवं पुरातत्व संग्रहालय उज्जैन के वरिष्ठ मार्गदर्शक घनश्याम बाथम ने स्थल निरीक्षण में टेकरी पर चौथी शताब्दी ईसा से लेकर ताम्रश्मकाल तक विकसित सभ्यता के अंश मिलने, मृद भांड के टुकड़े मिलने और इसके संरक्षण की बात लिखी है। ऐसे में अब असमंजस की स्थिति है कि पुरातत्व विभाग की काैन-सी रिपोर्ट सही है और काैन सी गलत।

हालांकि ऐेतिहासिक धरोहर बचाव समिति द्वारा इस रिपोर्ट को आधार बनाकर दोबारा विभाग को पत्र लिखने के साथ हाईकोर्ट में भी वाद लगाने की तैयारी की जा रही है। बागरी चंद्रवंशी पांडव सामाजिक कल्याण समिति के राष्ट्रीय संस्थापक अंबाराम परमार ने 20 दिसंबर 2016 को आयुक्त पुरातत्व अभिलेखागार व संग्रहालय मप्र से टेकरी के अवशेषों को संरक्षण देने की मांग पत्र लिखकर की थी। पत्र पर कार्रवाई की जानकारी आरटीआई कार्यकर्ता बंटू बाेड़ाना ने मांगी थी, जाे द्वितीय अपील के बाद हाल ही में मिली है।

पहली अपील के बाद स्थल परीक्षण का हुआ था आदेश

बाेड़ाना ने बताया सूचना के अधिकार में पहली अपील के बाद स्थल निरीक्षण का निर्देश हुआ। इसमें त्रिवेणी कला एवं पुरातत्व संग्रहालय उज्जैन के मार्गदर्शक घनश्याम बाथम द्वारा टीम के साथ स्थल निरीक्षण किया था।

इसके बाद जब रिपोर्ट नहीं मिली ताे द्वितीय अपील की थी। द्वितीय अपील पर जानकारी 22 अक्टूबर को जारी हुई, जाे मंगलवार को मिली। इसमें बताया टेकरी से पुरातात्विक वस्तुएं व विशेष सामान मिला था। लेबोरेटरी में जांच से यह सामने आया कि यह स्थान पुरातात्विक दृष्टि से अति महत्वपूर्ण है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें