मांग / माकड़ौन गेहूं उपार्जन केंद्र पर खरीदी बड़े तौलकांटे से की जाए -चौहान

Purchase of machadon wheat at the procurement center should be done with large weighing measures - Chauhan
X
Purchase of machadon wheat at the procurement center should be done with large weighing measures - Chauhan

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 05:00 AM IST

माकड़ौन. क्षेत्र के सभी उपार्जन केंद्रों पर बारदान खत्म हो गए हैं तथा किसान 2 से 3 दिन गर्मी में ट्रैक्टर-ट्राॅली लेकर खड़े हैं। किसान कांग्रेस ने प्रदेश शासन से गेहूं तुलाई बड़े कांटे से करवाने की मांग का पत्र तहसीलदार व जिलाधिकारी को दिया है। 
मध्यप्रदेश किसान कांग्रेस के प्रदेश संगठन मंत्री श्याम चौहान ने तहसीलदार सपना शर्मा व कलेक्टर को पत्र के माध्यम से अवगत कराया। इसमें बताया कि माकड़ौन तहसील के सभी गेहूं उपार्जन केंद्रों के किसानों को मध्यप्रदेश शासन द्वारा प्राप्त मोबाइल मैसेज के आधार पर गेहूं विक्रय करने हेतु  किसानों द्वारा ट्रैक्टर-ट्राॅली द्वारा लाए गए हैं, किंतु उपार्जन केंद्र डेलची, ग्रामको, माकड़ौन मंडी, गोदड़ी, सरस्वती स्कूल, करेड़ी आदि केंद्रों पर छोटे तौलकांटे द्वारा हाथ से तुलाई के कारण भीड़ अधिक हो रही है। इसके परिणामस्वरूप उपार्जन केंद्रों पर किसानों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। किसानों को मोबाइल पर मैसेज आ रहे हैं। फिर गेहूं उत्पादन केंद्रों पर गेहूं तुलाई नहीं हो रही है। केंद्र पर किसानों के पूछने पर कहा जाता है कि बारदान खत्म हो गए, इसलिए तुलाई नहीं हो रही। जब बारदान आ जाएंगे, तब आपका गेहूं तोला जाएगा। इससे किसानों को ट्रैक्टर भाड़ा 1000 रु. प्रतिदिन का है और यहां पर किसानों के लिए कोई व्यवस्था नहीं है। गर्मी में 45 डिग्री तापमान में जूझना पड़ रहा है। अतः शासन से निवेदन है कि माकड़ौन तहसील क्षेत्र के गेहूं उपार्जन केंद्रों पर किसानों की सुविधा एवं कोरोना को दृष्टिगत रखते हुए बड़े तौलकांटे द्वारा किसान भाइयों के गेहूं की तुलाई  करवाई जाए।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना