पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Nagda
  • Sarpanch Parameshwara... Because People Were Afraid Of The Vaccine, The Sarpanch First Got The Family Vaccinated, After That The Whole Village Got The Vaccine.

अच्छी पहल:सरपंच परमेश्वर...क्योंकि लोगों में टीके को लेकर भय था, सरपंच ने पहले परिवार को टीका लगवाया, इसके बाद पूरे गांव ने लगवा ली वैक्सीन

नागदाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिपल्याडाबी में वैक्सीनेशन कराती महिला। - Dainik Bhaskar
पिपल्याडाबी में वैक्सीनेशन कराती महिला।
  • गांव पिपल्या डाबी वैक्सीनेशन में सिरमाैर, 44+ के बाद 18+ का पहला डाेज भी प्रत्येक ग्रामीण का पूर्ण

काेराेना संक्रमण की दर कम हाेने के बाद अब सरकार और प्रशासन दाेनों की नजर वैक्सीनेशन पर ही है क्योंकि संक्रमण से बचाव का एकमात्र साधन टीकाकरण ही माना जा रहा है। इसे लेकर प्रशासनिक अधिकारियाें ने जागरुकता से लेकर कई तरीके अपनाए और लाेगाें काे टीके भी लगवाए।

उसके बावजूद अभी तक पहले डाेज में भी काफी पिछड़े हुए हैं। नागदा-खाचराैद विकासखंड की ही बात करें ताे 45+ में अब तक 35.89 प्रतिशत और 18+ में 12.03 प्रतिशत लाेगाें काे ही टीका लग पाया है। हालांकि फ्रंट लाइन वर्कर में 98.93 प्रतिशत लाेग टीकाकरण करा चुके हैं लेकिन विकासखंड में कुल टीकाकरण पर नजर डालें ताे यह 21.99 प्रतिशत ही हुआ है यानी अभी तक आधे लाेगों काे टीका नहीं लगा है।

इसे लेकर अब प्रशासन और सरकार द्वारा टीकाकरण के महाभियान की शुरुआत की जा रही है, जिसमें उज्जैन जिले काे 75 हजार का लक्ष्य दिया गया है। इसमें नागदा-खाचराैद विकासखंड काे सबसे अधिक 16 हजार का लक्ष्य मिला है। यह महाभियान 21 जून काे रहेगा, जिसमें प्रशासन काे एक ही दिन में 16 हजार टीके लगाना हाेंगे। उन्हेल क्षेत्र की ग्राम पंचायत पिपल्या डाबी टीकाकरण में सिरमोर बनी हुई है। यहां 44+ के बाद 18+ का पहला डाेज भी प्रत्येक ग्रामीण ने लगवा लिया है। सरपंच हटेसिंह चाैधरी ने बताया टीके काे लेकर ग्रामीणाें में भय था, जिस पर सबसे पहले सरपंच हटेसिंह ने परिवार सहित टीका लगाया। उन्होंने ग्रामीणों काे समझाया हमने टीका लगाया ताे हमें कुछ नहीं हुआ।

फिर भी जाे नहीं माने, उन्हें डराया वैक्सीन नहीं लगाने पर शासन की याेजना पीएम आवास, राशन सहित अन्य सुविधा बंद हाे जाएगी, जिससे लाेग जागरुक हाेकर आगे आए। पहले 44+ काे टीके लगवाए। उसके बाद 18+ में 658 लाेगों काे टीके लगे। कुछ गर्भवती, धात्री और बाहर जा चुके लाेगों काे छाेड़ बाकी सभी ने टीके लगा लिए है।

नागदा और खाचराैद दाेनाें अनुभाग ने की वैक्सीनेशन की प्लानिंग
नागदा-खाचराैद विकासखंड काे 16 हजार टीके लगाने का लक्ष्य मिला है। जिसे लेकर शुक्रवार काे पहले खाचराैद और बाद में उज्जैन में बैठक भी हुई। इस 16 हजार टीकाकरण के लक्ष्य काे नागदा और खाचराैद दाेनाें अनुभाग ने आपस में बांटा है। यानि दाेनों स्थानाें पर 8-8 हजार टीके लगेंगे। इसके लिए रुपरेखा भी अधिकारियाें द्वारा तैयार की जा रही है। जिसमें दाेनाें अनुभाग में 32-32 टीमें 32-32 स्थानाें पर टीकाकरण करेगी। यानि विकासखंड में 64 सेंटराें पर एक ही दिन में 16 हजार टीके लगाए जाएंगे। जहां प्रति सेंटर 250 टीके लगाएं जाएंगे।

खबरें और भी हैं...