हमारा घर-हमारा विद्यालय:थाली बजाकर घर में लगा स्कूल, बच्चे पढ़ाई में जुटे

नागदाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • शिक्षा विभाग की नई पहल, शिक्षकों और परिजनों ने लगाई ड्यूटी

कक्षा पहली से आठवीं तक के बच्चों के लिए हमारा घर हमारा विद्यालय अभियान की शुरुआत की गई। इसके तहत छात्र घर पर बैठकर पढ़ाई करेंगे। बच्चे भी बाकायदा स्कूल की तरह ही घर में पढ़ाई करेंगे। इसमें परिवार के मुखिया की भी सहभागिता रहेगी। अभियान के तहत शासकीय माध्यमिक विद्यालय खोरियासुमरा व ढाबली कम्मा के शिक्षकों ने शाला के सभी बच्चों व अभिभावकों से संपर्क कर अभियान से जुड़ी जानकारी दी। अभिभावक प्रत्येक दिन अपने बच्चों को 10 से 1 बजे तक घर में एक निर्धारित स्थान का चयन करेंगे। जहां पर बच्चे बैठकर अपना होमवर्क करेंगे। शाम 4 से 5 बजे तक खेलकूद, कलात्मक गतिविधियों के लिए समय निर्धारित किया। शाम 7 से 8 बजे तक बुजुर्गों से कहानी, कविता, किस्से सुनना व अपनी भाषा में लिखना है। बच्चों को डीजीलेप से पढ़ने, लिखने की रेडियो कार्यक्रम सुनने की समझाइश दी।

जनपद शिक्षा केंद्र के अफसरों ने निरीक्षण किया
जनपद शिक्षा केंद्र के विकासखंड स्त्रोत समन्वयक रमेशचंद्र देवड़ा, जेंडर समन्वयक सुषमा खेमसरा, जनशिक्षक शब्बीर नागौरी ने बच्चों के घर कक्षाएं देखी। होमवर्क जांच कर चर्चा की। शाला प्रभारी अब्दुल हमीद नागौरी, मुजम्मिल हुसैन नागौरी, विजय कुमार मोडक, राधा मालवीय मौजूद थे। नसीरउद्दीन नागौरी ने बताया भीमाखेड़ा में निरीक्षण किया।

घंटी बजाकर मोहल्ला क्लास लगाई
झारड़ा | शिक्षकों ने छात्रों के अभिभावकों से मुलाकात कर घर बच्चों को स्कूल लगाकर पढ़ाई करने की जानकारी दी। सप्ताह में तीन दिन मोहल्ला क्लास का आयोजन किया। ग्रामीण ने घंटी बजाकर मोहल्ला क्लास शुरू की। ग्राम डेलबाड़ी, माल्या, खरड़िया, कचलिया, नरेंद्रखेड़ा, कनाखेड़ी, नाहरखेड़ा, बोलखेड़ा, मकला, सेकली आदि ग्रामों में अभियान चलाया गया।

घर पर पढ़ रहे बच्चों को देखने रसूलाबाद पहुंचे अफसर
बड़नगर | बड़नगर ब्लाक के 11 जनशिक्षा केन्द्र के तहत संचालित 354 प्रावि-मावि में बच्चे घर पर ही पढ़ाई कर रहे हैं। बच्चे स्कूल की तरह घर पढ़ाई करते हुए नजर आ रहे हैं। बीएसी दीपक आचार्य ने मंगलवार को ग्राम रसूलाबाद व दातरवां में प्राइमरी स्कूल के बच्चों की पढ़ाई का जायजा लिया। जहां पर सुबह 10 से दोपहर 1  बजे तक स्कूल समयानुसार पढ़ाई कराई जा रही है। बीआरसी प्रवीण शर्मा ने गांव में परिजनों को समझाइश दी। घर पर पढ़ने से बच्चे पढ़ाई में कमजोर नहीं होंगे।  
संवाद हुआ- मंगलवार को विकासखंड में 5 जनशिक्षक केंद्रों के शिक्षकों का शैक्षिक संवाद हुआ। इसमें जिला शिक्षा प्रशिक्षण केंद्र उज्जैन किशोरकुमार चंदन, प्रकाश लोहानी, रूपेश शाह, बीआरसी सुनील शर्मा, बीआरसी शर्मा, मुकेश त्रिवेदी, आत्माराम सरवटे, बीएसी आचार्य ने शिक्षकों को योजना की जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...