पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

100 साल के बाद ऐसा संयाेग:सर्वपितृ अमावस्या के एक माह बाद हाेगी शारदीय नवरात्र की शुरुआत

नागदा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • हर तीसरे साल आता है अधिकमास

सर्वपितृ अमावस्या के दूसरे दिन से शारदीय नवरात्र की शुरुआत हाेती है, लेकिन इस बार ऐसा नहीं हाेगा। 100 साल के बाद ऐसा संयाेग बना है कि सर्वपितृ अमावस्या और शारदीय नवरात्र के बीच एक माह का अंतर आया है। इसकी वजह अधिकमास हाेना है। सर्वपितृ अमावस्या 17 सितंबर काे आ रही है और 18 सितंबर से अधिकमास की शुरुआत हाेगी, जाे 16 अक्टूबर तक रहेगा। ऐसे में नवरात्र की शुरुआत और घटस्थापना 17 अक्टूबर से हाेगी। यानी अमावस्या के एक माह बाद नवरात्रि की धूम शुरू हाेगी। पंडित चंद्रशेखर दवे ने बताया कि उनके पास 100 साल का पंचाग है, जिसमें अभी तक ऐसी स्थिति नहीं बनी है। हालांकि कुछ विद्वानों का मानना है कि 1885 में भी कुछ ऐसी स्थिति बनी थी, तब नवरात्र 13 दिन देरी से शुरू हुई थी। पंडित दवे के मुताबिक जिस तरह अंग्रेजी कैलेंडर में फरवरी माह 28 या 29 दिन का आता है यानी लीप वर्ष हाेता है। उसी तरह हिंदू पंचाग में भी तिथि बढ़ती-घटती है। एक सूर्य वर्ष 365 दिन और 6 घंटे का हाेता है। वहीं एक चंद्रवर्ष 354 दिनाें का हाेता है। दाेनाें के बीच 11 दिन का अंतर हाेता है। यह अंतर हर तीन वर्ष में एक माह के बराबर हाे जाता है। इस अंतर काे खत्म करने के लिए हर तीन वर्ष में एक अतिरिक्त चंद्रमास आता है। इसे ही अधिकमास कहा जाता है। इस वर्ष दाे अश्विनी माह हाेंगे। अधिकमास की वजह से नवरात्र देरी से आएगी। दशहरा और दीपावली पर्व भी देरी से मनाए जाएंगे। इस बार दशहरा पर्व 26 अक्टूबर ताे दीपावली पर्व 14 नवंबर काे मनाई जाएगी। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय चुनौतीपूर्ण है। परंतु फिर भी आप अपनी योग्यता और मेहनत द्वारा हर परिस्थिति का सामना करने में सक्षम रहेंगे। लोग आपके कार्यों की सराहना करेंगे। भविष्य संबंधी योजनाओं को लेकर भी परिवार के साथ...

    और पढ़ें