पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

सट्‌टेबाज की गुंडागर्दी धराशायी:17 साल पहले दीपक पर दर्ज हुआ था सट्टे का पहला प्रकरण, अब तक 16 बार गिरफ्तारी

नागदा11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलाबदर के बाद भी घर से चला रहा था काराेबार
  • पिता और भाई भी काराेबार में शामिल

गुरुवार सुबह 6 बजे से मंडी थाने पर हलचल शुरू हाे गई थी। जवानों के आने के साथ ही नपा कर्मचारी और बिजली विभाग की गाड़ियां पहुंचने लगी। कुछ देर बार एसडीएम आशुताेष गाेस्वामी, सीएसपी मनाेज रत्नाकर, खाचराैद एसडीओपी अरविंद सिंह, नपा सीएमओ भविष्य कुमार खाेब्रागड़े पहुंचे। सुबह 6.30 बजे टीम श्रीराम काॅलाेनी के लिए रवाना हुई, जहां जिलाबदर सट्टा काराेबारी दीपक जैन के मकान की ओर आने वाले रास्ते काे चाराें ओर से पुलिस जवानों ने बंद कर दिया।

6.45 बजे नपा कर्मचारी पवन भाटी और अन्य कर्मचारियों ने मकान पर लगे दाे ताले ताेड़कर घर का सामान बाहर निकाला। मंडी थाना प्रभारी श्यामचंद्र शर्मा के मार्गदर्शन में जैन के मकान पर जेसीबी चली। मात्र 1 घंटे में मकान काे जमींदाेज कर दिया। वहां बचा था ताे मात्र एक दीवार के काेने पर लगा दीपक का फाेटाे।

इन थानों का फाेर्स : बिरलाग्राम थाना प्रभारी हेमंतसिंह जादाैन मय पुलिस बल के माैजूद रहे। भाटपचलाना, झारड़ा, खाचराैद का बल पहुंचा था। उज्जैन लाइन से 12 महिला जवान भी पहुंचीं ताकि व्यवस्था बनी रहे।

दीपक पर पांच बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और जिलाबदर भी किया

दीपक जैन पर 2003 में पहला जुआ एक्ट में प्रकरण दर्ज हुआ था। 17 साल में दीपक पर 16 प्रकरण जुआ, सट्टा और ध्रुत अधिनियम में दर्ज हुए हैं ताे एक मारपीट का प्रकरण भी बना। 5 बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई और जिलाबदर किया। काराेबार में 2006 से भाई समरथ जैन भी शामिल हुआ।

समरथ पर ही 5 ध्रुत अधिनियम, 5 आर्म्स एक्ट, 1 मारपीट, 1 धारा 354 में प्रकरण दर्ज हैं ताे 3 बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हाे चुकी है। वहीं 2007 से पिता ओमप्रकाश भी सहयाेगी बने। 8 प्रकरण ध्रुत अधिनियम और एक बार प्रतिबंधात्मक कार्रवाई हाे चुकी है। 15 फरवरी को ही पुलिस ने दीपक के घर से सट्टा पकड़ा था। तब समरथ के पास से चाकू भी मिला था।

मां काे भेजा वृद्धाश्रम, आने के बाद बाेली- और भी हैं सट्टा काराेबारी

दीपक और समरथ जेल में हैं। पिता ओमप्रकाश अलग रहते हैं। घर पर दीपक की मां ही माैजूद थी। मकान ताेड़ने के दाैरान विराेध न हाे, इसके लिए पुलिस ने पहले ही दीपक की मां काे वृद्धाश्रम भेज दिया। कार्रवाई के बाद उसे लाकर सामान दिखाया ताे पहले सामान गायब हाेने का आराेप लगाया। जब सामान मिल गया ताे दीपक की मां और पिता ओमप्रकाश बाेले हम ताे छाेटे स्तर पर सट्टा कर घर परिवार चला रहे हैं लेकिन जाे सट्टा किंग दिलीप, संजू हैं, उन पर प्रशासन क्याें कार्रवाई नहीं करता है। क्या वह गैर कानूनी नहीं है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें