पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आधी रात को पुलिस की दबिश:पेट्रोल पंप से एसिड माफियाओं के तीन टैंकर जब्त किए, एक पुलिस की निगरानी में छोड़ दिया

नागदा7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस द्वारा जब्त किए गए टैंकर। - Dainik Bhaskar
पुलिस द्वारा जब्त किए गए टैंकर।
  • अजनार नदी को प्रदूषित करने के मामले में मुख्य आरोपी नायर का रिमांड फिर बढ़ा, पुलिस तलाश रही बैंक खातों की जानकारी

महू के समीप मानपुर की अजनार नदी को प्रदूषित करने के मामले में मुख्य आरोपी नागदा के अरुण नायर का रिमांड फिर बढ़ गया है। एसिड माफिया के कारोबार से जुड़ी अन्य जानकारियां जुटाने के लिए पुलिस ने नायर को कोर्ट में पेश कर फिर से रिमांड की मांग की थी। जिस पर नायर को पुलिस को तीन दिन के रिमांड पर सौंपा गया। वहीं मानपुर पुलिस ने मंगलवार-बुधवार की आधी रात नागदा पहुंच कर दबिश दी। यहां से पुलिस ने एसिड माफियाओं के तीन टैंकर जब्त किए हैं। वहीं एक टैंकर का लॉक नहीं खुलने के कारण उसे पुलिस की निगरानी में यहीं छोड़ा है।

बहुचर्चित दिलीप शर्मा एवं योगेश दुबे हत्याकांड में अरुण नायर 14 साल की जेल भी काट चुका है। जेल से आने के बाद वह नागदा के एसिड माफियाओं के साथ वह एसिड वेस्ट से भरे टैंकरों को नदी-नालों और खाली जमीनों पर खाली करवाता था। अजनार नदी को प्रदूषित करने के मामले में मानपुर पुलिस ने उसे गिरफ्तार किया।

पुलिस ने पैनकार्ड, बैंक पासबुक सहित अन्य दस्तावेज भी जब्त किए
पुलिस ने नायर के नागदा और उज्जैन स्थित ठिकानों से पैनकार्ड, बैंक पासबुक सहित अन्य दस्तावेज भी जब्त किए थे। मंगलवार-बुधवार की रात करीब 2 बजे मानपुर पुलिस का करीब 10 पुलिसकर्मियों का दल नागदा पहुंचा। महिदपुर रोड ग्राम रुपेटा स्थित एक पेट्रोल पंप से पुलिस ने पेसेफिक पेट्रोकेम एंड केमिकल्स के तीन टैंकरों जीजे 17 यूयू 7554, एमएच 18 बीजी 1513 और एमएच 18 बीजी 1519 को जब्त किया।

एक टैंकर का डिजिटल लॉक होने की वजह से वह नहीं खुल सका। इसलिए उस टैंकर को यहीं पुलिस की निगरानी में छोड़ा गया है। बुधवार तड़के 4 बजे तक पुलिस की यह कार्रवाई चलती रही। एएसपी पुनीत गेहलोत ने तीन टैंकरों को जब्त करने की पुष्टि की। वहीं पुलिस अब नायर के पैनकार्ड के आधार पर नागदा और उज्जैन की सभी बैंक शाखाओं को भी पत्र लिखकर उसके बैंक खातों की जानकारी जुटा रही है।

नागदा से गायब हुए टैंकर माफिया, नायर के अन्य साथियों की भी तलाश, दबिश भी दी पर नहीं मिले
मानपुर पुलिस द्वारा कार्रवाई किए जाने के बाद नागदा से टैंकर और एसिड माफिया गायब हो गए हैं। इंगोरिया रोड, महिदपुर रोड, इंदु कॉलोनी, विद्या नगर, बिरलाग्राम सहित कई इलाकों से एसिड ले जाने वाले टैंकर भी अचानक गायब हो गए हैं। पुलिस सूत्रों के मुताबिक एसिड माफिया अरुण नायर ने अपने तीन साथियों के नाम भी पुलिस को बताए हैं। जिनकी पुलिस तलाश कर रही है। पुलिस ने इनके ठिकानों पर भी दबिश दी लेकिन कोई नहीं मिला। जल्द ही पुलिस का दल दोबारा नागदा पहुंच कर कार्रवाई करेगा।

मानपुर पुलिस ने कार्रवाई की, स्थानीय पुलिस बनी रही मूकदर्शक, पहले भी लगे सांठ-गांठ के आरोप
एसिड माफियाओं के साथ स्थानीय पुलिस के सांठगांठ के आरोप पूर्व में भी लगते रहे हैं। स्थानीय पुलिस टैंकरों को जब्त करने की कार्रवाई तक नहीं कर सकी और मानपुर की पुलिस ने नागदा पहुंच कर चौंका दिया। जबकि टैंकर और एसिड माफियाओं द्वारा गिदगढ़, परमारखेड़ी, टकरावदा सहित आसपास के 20 से ज्यादा इलाकों में चंबल नदी को पूरी तरह एसिड बहाकर प्रदूषित किया जा चुका है। चंबल बचाओ आंदोलन के संयोजक दिनेश दुबे ने बताया स्थानीय पुलिस अगर पहले ही जाग जाती तो चंबल के अलावा शिप्रा, कान्ह, शिवना, अजनार सहित कई नदियां प्रदूषित होने से बच जाती।

खबरें और भी हैं...