पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • 10 Kalikund Parshwanath Vidhan On Mahavir Tapobhumi, To Be Offered On Medicinal Materials For Havan Kunds For Liberation From Corona

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महायज्ञ:कोरोना से मुक्ति के लिए हवन कुंडों पर देंगे औषधीय सामग्री से आहुति, महावीर तपोभूमि पर 10 वां कलिकुंड पार्श्वनाथ विधान

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना संक्रमण से विश्व को मुक्ति के लिए इंदौर रोड स्थित महावीर तपोभूमि में विश्व शांति महायज्ञ में 51 हवन कुंडों में 200 समाजजन आहुतियां देंगे। हवन सामग्री में औषधीय जड़ी-बूटियां और सुगंधित द्रव्य होंगे। उपाध्याय मयंक सागर इस मौके पर प्रवचन के माध्यम से भी संक्रमण से बचाव के लिए प्रेरित करेंगे।

महावीर तपोभूमि में दस दिन से चल रहा श्रीज्जिनेंद्र अर्चना महोत्सव का रविवार को समापन हो गया। इसकी पूर्णाहुति सोमवार को विश्व शांति महायज्ञ के साथ होगी। डॉ. सचिन कासली वाल के अनुसार कोरोना संक्रमण के चलते सभी धार्मिक आयोजन सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता और अन्य सावधानियों के साथ किए जा रहे हैं। दस दिनी महोत्सव में प्रत्येक दिन अलग मंडल विधान की पूजा की गई।

रविवार को दसवें विधान के रूप में कलिकुंड पार्श्वनाथ मंडल की पूजा हुई। उपाध्याय मयंक सागरजी ससंघ यहां विराजित हैं। चातुर्मास में उनके सान्निध्य में अनेक धार्मिक अनुष्ठान किए जा रहे हैं। इसी क्रम में सोमवार को विश्व शांति महायज्ञ होगा। इस महायज्ञ में शहर और देश के विभिन्न अंचलों से आए समाजजन भाग लेंगे।

यज्ञ-हवन से वातावरण भी शुद्ध होगा, संक्रमण मिटेगा

विश्व शांति महायज्ञ में औषधीय जड़ी-बूटियों व सुगंधित द्रव्यों की आहुतियां दी जाएंगी। इसके लिए 51 हवन कुंड बनाए हैं। 200 समाजजन इसमें आहुतियां डालेंगे। विभिन्न मंत्रों से आहुतियां दी जाएंगी। उपाध्यायश्री का कहना है कि यज्ञ-हवन से वातावरण शुद्ध होता है। इससे संक्रमण का खतरा भी कम होगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- रचनात्मक तथा धार्मिक क्रियाकलापों के प्रति रुझान रहेगा। किसी मित्र की मुसीबत के समय में आप उसका सहयोग करेंगे, जिससे आपको आत्मिक खुशी प्राप्त होगी। चुनौतियों को स्वीकार करना आपके लिए उन्नति के...

और पढ़ें