• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • 1711 Positives In 41 Days; Vaccines Should Be Given To Those Under 45 To Prevent Infection, Their Out of home Movement Is More

भास्कर सुझाव:41 दिन में 1711 पॉजिटिव मिले, संक्रमण रोकने के लिए 45 से कम उम्र वालों को टीके की छूट दी जाए, इन्हीं का घरों से बाहर मूवमेंट ज्यादा

उज्जैन8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 23 फीसदी को ही लगे दोनों टीके, संक्रमण रोकने के लिए टीकाकरण में तेजी लाना होगी

उज्जैन जिले में तेजी से कोरोना संक्रमण बढ़ रहा है। संक्रमितों का आंकड़ा दिनों दिन रिकॉर्ड तोड़ रहा है। मार्च व अप्रैल के 41 दिनों में 1711 नए पाॅजिटिव सामने आ चुके हैं। कई लोगों की मौतें भी हुई हैं। इधर शासन भी मानता है कि लॉकडाउन संक्रमण रोकने का उपाय नहीं। ऐसे में संक्रमण रोकना है तो उसके लिए कर्फ्यू व रोको-टोको जैसी बंदिशों के साथ-साथ तेजी से वैक्सीनेशन पर जोर देना होगा।

उज्जैन सहित जिन-जिन जिलों में कोरोना रफ्तार से फैल रहा है वहां वैक्सीनेशन की छूट 45 वर्ष से कम उम्र वालों को भी दी जाए। इसकी वजह यह कि 45 वर्ष से कम उम्र वालों का घरों से बाहर ज्यादा मूवमेंट होता है। सातों ही दिन टीकाकरण के तय किए जाएं। इधर उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव पूर्व में ही ये भरोसा दिला चुके हैं कि वे शासन से वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाने की मांग करेंगे।

उम्र के बंधन में शिथिलता का भी आग्रह करेंगे। तराना विधायक महेश परमार ने भी केंद्र व राज्य शासन से मांग की है कि ज्यादा संक्रमण वाले जिलों में वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाई जाएं। इन जिलों में 45 से कम उम्र के लोगों को भी वैक्सीन लगवाने की छूट दी जाए।
वैक्सीनेशन के ये हाल: जिले में तीनाें श्रेणी के लोगों को 1019124 डोज लगाए जाने थे, अब तक 224245 लगे जिले में वैक्सीनेशन की स्थिति संतोषजनक नहीं है। 509562 लोगों को टीके लगाने का लक्ष्य है। यानी दो-दो डोज के हिसाब से 1019124 टीके लगना है। शनिवार तक 224245 लोगों को ही दोनों तरह के टीके लगाए गए।

यानी अभी भी 794879 लोगों को दोनों तरह के टीके लगना बाकी है। ये बाकी लोग लक्ष्य के 77 फीसदी है। इस तरह उक्त तीनों श्रेणी के लक्ष्य वालों में से अभी जिले में केवल 23 फीसदी लोगों को ही दोनों तरह के टीके लग पाए हैं। जबकि जिले की आबादी 20 से 21 लाख के हिसाब से देखे तो अभी केवल 10 फीसदी लोगों को ही टीके के दोनों डोज लग पाए हैं। टीकाकरण अधिकारी केसी परमार का कहना है वैक्सीन की आपूर्ति के हिसाब से टीकाकरण होता है। आपूर्ति बढ़ेगी तो टीकाकरण भी बढ़ेगा।

एक नजर में वैक्सीनेशन
हेल्थ वर्कर का लक्ष्य :- 13145
पहला 12984 को व दूसरा टीका 9327 को लगा। इस तरह दोनों तरह के टीके 22311 को लगे। यानी अभी भी 3979 टीके लगना बाकी)
फ्रंट लाइनर का लक्ष्य :-12417
पहला 11930 को व दूसरा टीका 7346 वर्कर को लगा। यानी दोनों तरह के टीके 19276 को लगे। यानी अभी भी 5558 टीके लगना बाकी।)
45 से अधिक वालों का लक्ष्य - 484000
पहला 181501 व दूसरा टीका 1157 को लगा। दोनों तरह के टीके 182658 को लगे।

खबरें और भी हैं...