पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उज्जैन में नर्सों को चेतावनी:कोरोनाकाल में 18 पुरुष व महिला नर्स ड्यूटी से गायब, प्रशासन ने कहा- नहीं लौटे तो महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मामले की जानकारी देते हुए उज्जैन कलेक्टर। - Dainik Bhaskar
मामले की जानकारी देते हुए उज्जैन कलेक्टर।
  • आपात काल में सेवा से भागने वालों को नोटिस जारी

ट्रेनिंग कर अस्पताल में ज्वाइन नहीं करने वाले 18 महिला व पुरुष नर्सों को नोटिस जारी किया गया है। कई बार बुलाने के बाद भी ये लोग नौकरी ज्वॉइन नहीं कर रहे हैँ। प्रशासन ने 24 घंटे में माधव नगर अस्पताल में ज्वॉइन करने की चेतावनी दी है। ऐसा नहीं करने पर कलेक्टर ने महामारी एक्ट के तहत कार्रवाई की बात कही है।

माधव नगर अस्पताल में विभिन्न चिकित्सकों व पैरामेडिकल स्टाफ की ड्यूटी प्रशासन द्वारा लगाई गई है। इनमें से कुल 18 पुरुष व महिला नर्स द्वारा ड्यूटी ज्वॉइन नहीं की गई है। जिन कर्मचारियों द्वारा ड्यूटी जॉइन नहीं की गई है, उनमें नेहा टाक, अनिल वर्मा, अंजू मालवीय, अशोक कराड़ा, अशोक यादव, गोविंद राजपूत, जया खेरवार, ज्योति चौहान, ज्योति पंवार, कृष्णपाल सिंह, कमल बादल, शाहरुख खान, माधुरी व्यास, सुष्मिता सोलंकी, उमा सागर, अक्षय त्रिवेदी, रचना परमार व सरिता बचले शामिल हैं।

माधव नगर कोविड अस्पताल में हालत ये है कि कुल 130 बेड की व्यवस्था है, लेकिन यहां मरीजों की संख्या 145 तक पंहुच गई है। इसके अलावा वे मरीज अलग हैं, जो अस्पताल के बाहर अपनी बारी का इंतजार कर रहे हैं। पूरा अस्पताल मरीजों से पटा पड़ा है। हालांकि कई डाॅक्टर और नर्सिंग स्टाफ के अलावा अन्य स्टाफ मुस्तैदी से मरीजों की जान बचाने में लगा है। माधव नगर में नई पदस्थापना के बाद भी 18 पुरुष व महिला नर्स ने सेवा और शपथ की परवाह किए बगैर आपातकाल में भी ड्यूटी ज्वाॅइन नहीं की।