• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • 2021 In The Name Of Dealing With Corono And Breaking The Houses Of Goons, Development Of Ujjain's Mahakal Temple

साल 2021- कोरोना से शुरू कोरोना पर खत्म:कोरोना से निपटने और गुंडों के मकान तोड़ने, उज्जैन के महाकाल मंदिर के विकास के नाम हुआ 2021

उज्जैनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोरोना महामारी से शुरू हुआ साल 2021 जाते-जाते भी कोरोना महामारी के फिर से मुहाने पर खड़ा है। साल में कई उतार-चढ़ाव आए। लॉकडाउन से लड़कर उभरा उज्जैन तेजी से आगे बढ़ रहा है। लेकिन अब ओमिक्रॉन का डर सताने लगा है।

2021 में शहर में गुंडों व बदमाशों पर जमकर कार्रवाई हुई। एक हजार करोड़ से ज्यादा की जमीनें इनके कब्जे से मुक्त कराईं गईं तो कई गुंडों के मकान भी तोड़ दिये।

जनवरी

4 जनवरी- बर्ड फ्लू की दस्तक :

बर्ड फ्लू से कई पक्षियों की मौत हो गई। सभी को दफनाने की सलाह दी गई।
बर्ड फ्लू से कई पक्षियों की मौत हो गई। सभी को दफनाने की सलाह दी गई।

उज्जैन के शिप्रा नदी के रेती घाट, कार्तिक मेला ग्राउंड के कालिदास उद्यान, नगर निगम के विद्युत शवदाह गृह परिसर, घटि्टया तहसील के पान विहार और खाचरौद में बर्ड फ्लू से पीड़ित होकर मरे पक्षी मिले। प्रभावित क्षेत्रों को सैनेटाइज कराने की तैयारी में पशु पालन विभाग। मृत कौवों को खुले में छोड़ने के बजाए मिट्‌टी में दफन करने की सलाह दी गई।

इसी महीने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने 500 करोड़ रुपए की लागत से महाकाल विकास परियोजना को मंजूरी दी।

फरवरी

17 फरवरी – महाकाल स्ट्रक्चर की जांच

मंदिर की मजबूती जांचने के लिए सीबीआरआई की टीम ने मंदिर का निरीक्षण किया।
मंदिर की मजबूती जांचने के लिए सीबीआरआई की टीम ने मंदिर का निरीक्षण किया।

सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर तीसरी बार महाकाल मंदिर के स्ट्रक्चर की मजबूती की जांच के लिए आई सीबीआरआई सेन्ट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट संस्था रुड़की की 4 सदस्यीय टीम उज्जैन आई। समिति ने यह रिपोर्ट आर्कियोलॉजिकल सर्वे ऑफ इंडिया को सौंपी।

मार्च

29 मार्च - पीपीई किट में खेली होली

मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने मरीजों को कोरोना से भी बचाया और कायदे में रहकर होली खेली।
मेडिकल कॉलेज के छात्रों ने मरीजों को कोरोना से भी बचाया और कायदे में रहकर होली खेली।

कोरोना रिटर्न के चलते आम लोगों को होली में घर पर ही खेलने का आदेश जारी किया गया था। लेकिन मेडिकल के छात्र को होली खेलनी थी और वो भी पूरी सुरक्षा के साथ तो उन्होंने पीपीई किट पहनकर पहले तो रंग खरीदा और फिर पीपीई किट में ही होली खेलना शुरू कर दी।

- इसी महीने उज्जैन-फतेहाबाद रेलवे ट्रेक पर बने चिंतामन गणेश रेलवे स्टेशन पर उर्दू में लिखे नाम को लेकर बवाल मच गया। विवाद बढ़ता देख उर्दू में लिखे चिंतामन स्टेशन का नाम को हटा दिया गया।

अप्रैल

11 अप्रैल – कोरोना से कई मौतें, रेमडेसिविर इंजेक्शन का संकट गहराया

अप्रैल में कोरोना से कई मौतें हुईं। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी भी रही, मरीजों को बेड नहीं मिले, ऑक्सीजन भी नसीब नहीं हुई।
अप्रैल में कोरोना से कई मौतें हुईं। रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी भी रही, मरीजों को बेड नहीं मिले, ऑक्सीजन भी नसीब नहीं हुई।

कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने के कारण कई लोगों की जानें गईं। किसी की ऑक्सीजन की कमी तो किसी की रेमडेसिविर इंजेक्शन नहीं मिलने से मौत हुई। कई लोगों को अस्पताल में बेड नहीं मिला। अस्पतालों और मेडिकल स्टोर्स पर रेमडेसिविर इंजेक्शन की कमी आ गई। मेडिकल स्टोर्स संचालकों को पुलिस को बुलाना पड़ा।

  • माधवनगर अस्पताल में ऑक्सीजन की कमी से 5 मौत, प्रबंधन से पल्ला झाड़ा कहा लंग्स इंफेक्शन की वजह से हुई मौत। बीजेपी मंडल अध्यक्ष की मौत से बोखलाए बीजेपी के कार्यकर्ताओ ने की गुंडागर्दी।
  • इसी महीने महाकाल मंदिर श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया।
  • लाश उठाने वाला निगमकर्मी फुटपाथ पर शराब के नशे में पीपीई किट में ही सो गया। दोस्त ने फाड़कर निकाली पीपीई किट।
  • 500 रुपये के विवाद में दोस्तों ने बेहरमी से की युवक की हत्या। पहले दराते से गला काटा फिर पेट्रोल डालकर जलाया।

मई

मई में कोरोना के बाद ब्लैक फंगस का कहर

12 साल की इस बच्ची को कोरोना के बाद ब्लेक फंगस हो गया। इसे इंदौर के एमवायएच से लौटाने के बाद उज्जैन के सिविल सर्जन ने साढ़े चार घंटे तक सर्जरी कर बच्ची की जान बचाई।
12 साल की इस बच्ची को कोरोना के बाद ब्लेक फंगस हो गया। इसे इंदौर के एमवायएच से लौटाने के बाद उज्जैन के सिविल सर्जन ने साढ़े चार घंटे तक सर्जरी कर बच्ची की जान बचाई।

कोरोना के दौरान मई में कोरोना के साथ ब्लैक फंगस के केस आने लगे। इस दौरान 12 साल की बालिका का उज्जैन के जिला अस्पताल में सिविल सर्जन व उनकी टीम ने सफल आपरेशन किया। बालिका कोरोना संक्रमित भी हुई थी। आंखों में समस्या होने पर उसे इंदौर के एमवाय अस्पताल ले जाया गया था, जहां से उसे वापस उज्जैन भेज दिया गया। ऑपरेशन करीब साढ़े चार घंटे चला।

जून

28 जून – महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन शुरू

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग।
महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग।

भगवान श्री महाकालेश्वर मन्दिर में दर्शनार्थियों के लिए 28 जून से दर्शन शुरू कर दिये गए। दर्शनार्थियों को ऑनलाइन बुकिंग कराने के बाद वेक्सीनेशन सर्टिफिकेट या 24 से 48 घंटे पूर्व की कोविड रिपोर्ट दिखाने पर ही मन्दिर परिसर में प्रवेश शुरू कर दिया गया।

जुलाई

13 जुलाई – 1 हजार साल पुराना मंदिर मिला

मंदिर के यह अवशेष 1 हजार साल पुराने परमारकालीन बताए जा रहे हैं। कलेक्टर आशीषसिंह ने कहा कि इन्हें मंदिर के मूल रूप में लाने के लिए प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं।
मंदिर के यह अवशेष 1 हजार साल पुराने परमारकालीन बताए जा रहे हैं। कलेक्टर आशीषसिंह ने कहा कि इन्हें मंदिर के मूल रूप में लाने के लिए प्रोजेक्ट पर काम कर रहे हैं।

महाकाल मंदिर में खुदाई के दौरान मिले 1000 वर्ष पुराने मंदिर का भाग पूरी तरह सामने आया। खुदाई में निकली प्रतिमाएं पुरातत्व विभाग के नजरिये से बेहद अहम हैं। कलेक्टर आशीषसिंह ने कहा कि इन मूर्तियों को मंदिर स्वरूप में ही स्थापित किया जाएगा।

27 जुलाई से भीड़ में दबने और भगदड़ जैसी स्थिति के बाद अब मंदिर में व्यवस्थाओ में बदलाव। बैरेकेटिंग के साथ साथ पुलिसकर्मी भी बढ़ाए गए।

अगस्त

21 अगस्त को ताजिये उठाने के दौरान देश विरोधी नारे लगाए गए

सीसीटीवी फुटेज देखकर पुलिस ने 15 पर केस दर्ज किया।
सीसीटीवी फुटेज देखकर पुलिस ने 15 पर केस दर्ज किया।

21 अगस्त को मुहर्रम के दौरान ताजिया उठाते वक्त मुस्लिम समुदाय के लोगों ने पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाए। सीएम शिवराजसिंह चौहान ने कहा था तालिबानी मानसिकता बर्दाश्त नहीं। इसके बाद 15 पर राजद्रोह का केस दर्ज किया था। सीसीटीवी फुटेज के आधार पर युवकों की गिरफ्तारी की गई थी।

6 अगस्त - शमशान में रहने वाले अघोरी से 21 लाख की ठगी करने वाले आरोपी को यूपी पुलिस ले गयी। उप्र के इस युवक ने उज्जैन के बाबा बमबम नाथ को एक करोड़ रुपए दान देने का लालच दिया था आरोपी ने। बाबा ने आरोपी को बंधक बनाया मामला सीएम योगी तक पंहुचा तब जाकर छूट पाया आरोपी।

सितंबर

11 सितंबर को शिरीन हुसैन गिरफ्तार

खुद को मानव अधिकार कार्यकर्ता बताकर महिलाओं को ठगने और संगठन के फर्जी प्रमाण पत्र बांटने के नाम पर अवैध वसूली करती थी शिरीन हुसैन।
खुद को मानव अधिकार कार्यकर्ता बताकर महिलाओं को ठगने और संगठन के फर्जी प्रमाण पत्र बांटने के नाम पर अवैध वसूली करती थी शिरीन हुसैन।

ह्यूमन राइट्स ऑर्गेनाइजेशन का राष्ट्रीय महासचिव शिरीन हुसैन निवासी आदर्श नगर, नागझिरी ने पैसे लेकर संगठन में कई नियुक्तियां कर दीं। शिरीन ने बुरहानपुर के करीब 30 लोगों से 60 हजार रुपए लेकर नियुक्ति पत्र और पहचान पत्र भी जारी कर दिए। यह शिकायत जब पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मधु यादव निवासी लखनऊ तक पहुंची तो मधु यादव ने 11 सितंबर को उज्जैन आकर नागिझरी थाने में शिरीन के खिलाफ रिपोर्ट लिखा दी। इसके बाद पुलिस ने शिरीन को गिरफ्तार कर लिया। शिरीन पर कई युवतियों को भी जाल में फंसाने की शिकायतें की गईं।

अक्टूबर

23 अक्टूबर – OMG-2 शूटिंग @महाकाल मंदिर

अक्षय कुमार ने महाकाल मंदिर में ओह माय गॉड 2 की शूटिंग की। इसके बाद उज्जैन से ही फिल्म का पहला पोस्टर जारी किया।
अक्षय कुमार ने महाकाल मंदिर में ओह माय गॉड 2 की शूटिंग की। इसके बाद उज्जैन से ही फिल्म का पहला पोस्टर जारी किया।

उज्जैन में महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग के दर्शन के बाद फिल्म स्टार अक्षय कुमार ने अपनी अपकमिंग मूवी OMG-2 के पोस्टर जारी किए। सोशल मीडिया पोस्ट में अक्षय ने लिखा- कर्ता करे न कर सके, शिव करे सो होय...। OMG-2 के लिए आपके आशीर्वाद और शुभकामनाओं की आवश्यकता है। सामाजिक मुद्दे पर चिंतन का यह हमारा ईमानदार और विनम्र प्रयास है। आदि योगी हमें आशीर्वाद दें।

12 अक्टूबर –

भोपाल की मनीषा रोशन नामक महिला ने महाकाल मंदिर में एक वीडियो शूट किया था। वीडियो में उन्होंने फिल्मी गाने 'रग-रग में इस तरह तू समाने लगा' की मिक्सिंग कर दी और शनिवार को इंस्टाग्राम पर अपलोड कर दिया। यह वीडियो महाकाल ज्योतिर्लिंग के ठीक ऊपर बने ओंकारेश्वर मंदिर के पास बने पिलरों पर फिल्माया गया है। वीडियो वायरल होने के बाद हिंदू संगठनों ने आपत्ति जताई थी। उनका कहना है कि मंदिर में इस तरह के डांस करने वालों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

नवंबर

15 नवंबर – उज्जैन-फतेहाबाद रेलवे ट्रेक शुरू

इस ट्रेन के शुरू होने से इंदौर-उज्जैन के बीच अपडाउनर्स को बड़ी राहत मिली।
इस ट्रेन के शुरू होने से इंदौर-उज्जैन के बीच अपडाउनर्स को बड़ी राहत मिली।

आठ साल से बंद इस रेलवे ट्रैक को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भोपाल से हरी झंडी दिखाकर वर्चुअल उद्धाटन किया। इसके बाद से इस रूट पर यात्री ट्रेनें शुरू हो गई। 22 किमी लंबी उज्जैन-फतेहाबाद छोटी रेल लाइन को 2014 में बंद कर दिया था।

दिसंबर –

8 दिसंबर - शिप्रा शुद्धिकरण के लिए संतों का आंदोलन

शिप्रा शुद्धिकरण के लिए संत आगे आए तो सरकार ने नए सिरे से योजना बनाने की बात कही।
शिप्रा शुद्धिकरण के लिए संत आगे आए तो सरकार ने नए सिरे से योजना बनाने की बात कही।

शिप्रा शुद्धीकरण को लेकर संत समाज ने मोर्चा संभाला। एक संत के भूख हड़ताल पर बैठने के बाद अन्य संतों ने भी शिप्रा शुद्धिकरण के लिए मोर्चा खोलने की बात कह दी है। संतों का कहना है कि शिप्रा से ही उज्जैन की पहचान है। सरकार कई प्रोजेक्ट में करोड़ों रुपए लगा रही है, ऐसे में शिप्रा की ओर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा। उसे शुद्ध करने के लिए संतों को ही मैदान में उतरना पड़ेगा।