पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जांच के बाद ही मंडी में प्रवेश:355 किसानों ने कराया पंजीयन, एक दिन में 150 की उपज होगी नीलाम

उज्जैन23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि उपज मंडी में 31 मई से उपज नीलामी की शुरुआत हो सकती है। 10 अप्रैल से बंद मंडी में इस बार उपज बेचने के लिए कड़े नियम हैं। वही किसान उपज बेच सकेंगे, जिन्हें मंडी प्रशासन की ओर से एसएमएस भेजा गया हो। इसकी शुरुआत रविवार से हो जाएगी।

लंबे इंतजार के बाद खुल रही मंडी में उपज बेचने के लिए शनिवार शाम तक 355 किसानों ने पंजीयन करवाया है। उपज लेकर आए किसानों के एसएमएस की जांच मंडी गेट पर की जाएगी। मंडी सचिव आश्विन सिन्हा के अनुसार उपज नीलामी सुबह 10 से दोपहर 12.30 बजे तक की जाएगी। ऐसे में एक दिन में 150 किसानों से उपज खरीदी का लक्ष्य रखा है। उपज की नीलामी ट्राली से होगी। ढेर नीलामी नहीं की जाएगी। बिना मास्क के किसी भी व्यक्ति काे मंडी परिसर में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

एक ट्राली के साथ ड्राइवर सहित दो व्यक्तियों की अनुमति रहेगी। मंडी के प्रवेश द्वार पर ड्राइवर व किसान की थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। गेहूं के 205, सोयाबीन के 122 और चना के 28 पंजीयन हो चुके है।

आलू, प्याज मंडी में 7 जून से शुरू हो सकती है नीलामी
चिमनगंज स्थित कृषि उपज मंडी परिसर में संचालित थोक आलू, प्याज, लहसुन मंडी में 7 जून से नीलामी शुरू हो सकती है। थोक व्यापारी एसोसिएशन के अध्यक्ष ओमप्रकाश हारोड़ ने बताया है कि इस संबंध में मंडी सचिव के साथ बैठक रखी थी। उन्हें मंडी की समस्याएं बताई हैं।

एक सप्ताह में इन समस्याओं का निराकरण कर दिया जाए तो मंडी में 7 जून से नीलामी शुरू की जा सकती है। मंडी सचिव सिन्हा का कहना है कि व्यापारियों ने समस्याएं बताई हैं। उनका निदान किया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...