पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंजेक्शन की कालाबाजारी:मेडिकल संचालक को 6 माह की जेल, पूछताछ के बाद भेजेंगे

उज्जैन19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
मुसद्दीपुरा स्थित मेडिकल संचालक की दुकान को सील करती पुलिस। - Dainik Bhaskar
मुसद्दीपुरा स्थित मेडिकल संचालक की दुकान को सील करती पुलिस।
  • इंजेक्शन की कालाबाजारी मामले में दुकान का लाइसेंस भी निरस्त होगा

ब्लैक फंगस इंजेक्शन की कालाबाजारी करने वाले मेडिकल संचालक जुगल किशोर कासलीवाल को जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर आशीष सिंह ने छह महीने के लिए जेल में निरुद्ध करने के आदेश दे दिए हैं। उसे पुलिस दो दिन के रिमांड पर भी ले चुकी है। इसलिए अब पूछताछ के बाद उसे जेल भेजा जाएगा। कासलीवाल को सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने ब्लैक फंगस का इंजेक्शन कालाबाजारी करते हुए रंगेहाथ गिरफ्तार किया था। इस मामले में कलेक्टर सिंह ने कोरोना एवं ब्लैक फंगस के संक्रमण के चलते केप्सोफ्गिन एसिसेट इंजेक्शन व अन्य दवाइयां कालाबाजारी करने पर चोर बाजारी निवारण और आवश्यक वस्तु प्रदाय अधििनयम के तहत छह महीने की जेल के आदेश दिए हैं। शनिवार को ड्रग विभाग की टीम ने आरोपी का मेडिकल सील किया। आरोपी से पुलिस पूछताछ कर रही है। कोर्ट से उसका दो दिन का पुलिस रिमांड मिला है। मानव इंटरप्राइजेस के नाम से मुसद्दीपुरा में दवाई का होलसेल कारोबार करने वाला जुगल किशोर कासलीवाल ब्लैक में इंजेक्शन बेच रहा था, जिसकी शिकायत फ्रीगंज निवासी संजय चौऋषिया ने पुलिस से की थी। इसी के बाद पुलिस ने उसे शुक्रवार काे ग्राहक बनकर पकड़ा था। शनिवार को ड्रग विभाग की टीम भी कार्रवाई की। मेडिकल दुकान के लाइसेंस निरस्तीकरण की कार्रवाई भी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...