शनिवार को महाकाल के भस्म आरती के दर्शन:ज्योतिर्लिंग के मस्तक और गले में रुद्राक्ष से किया श्रंगार, चंदन से बनाई जटाएं

उज्जैन16 दिन पहले
भस्म आरती के पहले भगवान महाकाल का श्रंगार किया गया।​​​​​​​

महाकालेश्वर ज्योतिर्लिंग का शनिवार के श्रंगार में रुद्राक्ष का सबसे ज्यादा उपयोग किया गया। बाबा महाकाल की जटाएं बनाने के लिए चंदन का उपयोग किया।

भस्म रमाने के पहले महाकाल के दर्शन।
भस्म रमाने के पहले महाकाल के दर्शन।

शिखर पर फूलों की मालाएं भी चढ़ाईं। श्रंगार के बाद मोगरे, सेवंती व गुलाब के फूलों की मालाएं चढ़ाईं। ज्योतिर्लिंग पर फूलों व चांदी से बनी वस्तुएं भी लगाई गईं।

भस्म रमाने के बाद महाकाल के दर्शन।
भस्म रमाने के बाद महाकाल के दर्शन।

शिखर पर चांदी का मुकुट व रुद्राक्ष की मालाएं पहनाईं। श्रंगार के बाद भस्म आरती की गई। मिष्ठान, फलों व भांग का भोग लगाया।

शक्तिपीठ मां हरसिद्धि की प्रात:कालीन आरती के दर्शन

शक्तिपीठ मां हरसिद्धि की प्रात:कालीन आरती के दर्शन।
शक्तिपीठ मां हरसिद्धि की प्रात:कालीन आरती के दर्शन।