पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

प्राइवेट लैब में दो दिन जांच बंद:सरकारी हॉस्पिटल के बाद प्राइवेट में भी बेड भरे

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इंदौर में 8 से 1 बजे के बीच जांच तो हो रही पर लॉकडाउन के चलते नहीं जा पाए मरीज

रविवार को लॉकडाउन होने से प्राइवेट लैब में मरीजों की कोरोना जांच नहीं हो पाई। सोमवार को होली होने से जांच नहीं हो पाएगी। लैब संचालकों ने इस दिन छुट्टी रखी है। ऐसे में उन मरीजों के सामने मुश्किल खड़ी हो गई, जिन्हें जांच करवाना जरूरी है। उन्होंने इंदौर कांटेक्ट किया तो वहां पर सुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक जांच की जा रही है लेकिन उज्जैन व इंदौर में लॉकडाउन होने से मरीज जांच के लिए इंदौर नहीं जा पाए।

सरकारी लैब में जरूर मरीजों की जांच हो पाई, लेकिन लॉकडाउन के चलते गंभीर मरीज ही यहां पर जांच के लिए पहुंचे, बाकी ने जांच को एक-दो दिन के लिए टाल दिया। लॉकडाउन के बीच मरीजों को यहां-वहां ले जाने के लिए एम्बुलेंस व प्राइवेट वाहनों का सहारा लेना पड़ा।

इंदौर रोड स्थित त्रिवेणी विहार में पॉजिटिव मरीज की हालत बिगड़ने से उन्हें जिला अस्पताल की एम्बुलेंस से हॉस्पिटल ले जाया गया। लॉकडाउन में प्राइवेट हॉस्पिटल के मेडिकल स्टोर्स व शहर के मेडिकल स्टोर्स चालू रहे, जहां पर मरीजों को दवाइयां मिल सकी।

लॉकडाउन की खबर लगने पर एक दिन पहले ही अधिकांश मरीजों ने एडवांस में दवाइयां खरीद ली थी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का कहना है कि मरीजों को प्राइवेट लैब में जाने की बजाए फ्लू ओपीडी में जाकर जांच करवा सकते हैं, यहां उनके सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। मरीज के पॉजिटिव या निगेटिव होने की रिपोर्ट मोबाइल पर भेजी जा रही है।

प्राइवेट अस्पताल भरे, केवल मेडिकल अस्पताल ही विकल्प कोरोना की दूसरी लहर में मरीजों
की संख्या बढ़ने से सरकारी हॉस्पिटल के बाद अब प्राइवेट हॉस्पिटल के भी सभी बेड भर गए हैं। यहां के आइसोलेशन वार्ड में सभी बेड पर मरीज भर्ती हैं। ऐसे में यहां पर मरीजों को भर्ती नहीं किया जा सकता। कोविड हॉस्पिटल माधवनगर के सभी 122 बेड मरीजों से भर गए हैं। कोविड सेंटर चरक अस्पताल भी मरीजों से भर गया है। यहां के सभी 75 बेड पर मरीज भर्ती हैं। तेजनकर हॉस्पिटल में ही 16 मरीज भर्ती हैं, यहां के प्रबंधन ने कोविड के बढ़ते मरीजों के चलते स्टाफ के अवकाश निरस्त कर दिए हैं।

दूसरे प्राइवेट अस्पतालों में भी ऐसे ही हाल हैं। अब केवल मरीजों के इलाज के लिए एक ही विकल्प आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज अस्पताल है। जहां पर मरीजों को भर्ती किया जा सकता है लेकिन अधिकांश मरीज यहां जाने को तैयार तो नहीं पर मजबूरी में उन्हें यहां भर्ती होना पड़ रहा है, क्योंकि शहर के अस्पताल भर जाने के साथ इंदौर में मरीजों के बढ़ने से यहां के मरीज वहां भी नहीं जाना चाहते, वहां संक्रमण का खतरा भी ज्यादा है। मेडिकल कॉलेज के अस्पताल में वर्तमान में 21 से ज्यादा मरीज भर्ती हैं।

फ्लू ओपीडी में कोविड टेस्ट करवाने की सुविधा
शहर और जिले में संचालित फ्लू ओपीडी में कोविड टेस्ट करवाने की सुविधा है। मरीज ओपीडी में जाकर जांच करवा सकते हैं। कोविड कंट्रोल रूप पर सूचना देकर भी कोविड टेस्ट करवाया जा सकता है।
डॉ. रौनक एलची, नोडल अधिकारी, आरआर टीम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- समय अनुसार अपने प्रयासों को अंजाम देते रहें। उचित परिणाम हासिल होंगे। युवा वर्ग अपने लक्ष्य के प्रति ध्यान केंद्रित रखें। समय अनुकूल है इसका भरपूर सदुपयोग करें। कुछ समय अध्यात्म में व्यतीत कर...

    और पढ़ें