पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • After The Death Of The Leader, Supporters Threw Stones, The Additional Collector Saved Himself By Locking Himself In The Room, Scrambled With The Policeman.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

माधवनगर में मौतों पर हंगामा:नेता की मौत के बाद समर्थकों ने फेंके पत्थर, अपर कलेक्टर ने खुद को कमरे में बंद कर बचाया, पुलिसकर्मी से हाथापाई

उज्जैन9 दिन पहलेलेखक: रामसिंह चौहान
  • कॉपी लिंक
  • पत्नी बोली- जीवनभर पार्टी की सेवा करते रहे, उन्होंने मैसेज भी किया लेकिन पार्टी से कोई मदद के लिए नहीं पहुंचा
  • अस्पताल में हंगामा और हमला करने वालों के खिलाफ केस दर्ज

माधवनगर अस्पताल में भाजपा कार्यकर्ता जितेंद्र शेरे निवासी गोपालपुरा की मौत के बाद जमकर हंगामा मचा। सूचना लगते ही पत्नी समेत परिजन और रिश्तेदार अस्पताल पहुंच गए। इसी दौरान अपर कलेक्टर व्यवस्था संभाल रहे थे। पुलिसकर्मी भी तैनात थे। शेरे की पत्नी संगीता ने रोते हुए ऑक्सीजन की कमी का आरोप लगाया, तो अन्य लोगों ने अचानक से हमला कर दिया।

अपर कलेक्टर सोजानसिंह रावत की गाड़ी पर पत्थर फेंके। रावत को भागकर खुद को बचाना पड़ा। शेरे की पत्नी का कहना था कि सोमवार को ही तो उन्हें भर्ती किया था। संगीता व परिवार के सदस्यों ने यह भी आरोप लगाया कि वे हमेशा पार्टी की सेवा करते रहे लेकिन उनके मैसेज डालने के बाद भी पार्टी की तरफ से कोई सुध लेने नहीं पहुंचा।
गुस्साए शेरे के रिश्तेदारों ने अस्पताल में पथराव किया
शेरे के रिश्तेदारों ने अचानक अस्पताल में पथराव कर दिया। खिड़की के कांच फोड़ने के बाद अपर कलेक्टर रावत की गाड़ी पर भी पत्थर मारा। इस बीच माधवनगर थाने के एसआई बिजेंद्र छाबरिया ने युवकों को रोका तो उन्होंने एसआई से धक्का-मुक्की की और अस्पताल में घुस गए। यहां अपर कलेक्टर रावत ने खुद को कमरे में बंद कर लिया तो गुस्साए युवकों ने दरवाजे पर काफी देर लात मारी। इसके बाद एएसपी अमरेंद्रसिंह, एडीएम नरेंद्र सूर्यवंशी समेत माधवनगर थाने का पुलिस बल मौके पर पहुंचा और हंगामा कर रहे लोगों से बात की। काफी देर तक अस्पताल में पुलिस बल तैनात रहा।
रात में केस दर्ज

इधर, दिन में माधवगर अस्पताल में हुए हंगामा, तोड़फोड़ और हमले के मामले में आरोपियों पर माधवनगर थाने में केस दर्ज किया जा रहा था।

ऑक्सीजन की किल्लत क्यों

माधवनगर में 20 मरीजों को हाई फ्लो ऑक्सीजन की जरूरत, सप्लाई मिल रही कम प्रेशर से

माधवनगर हॉस्पिटल में भर्ती 123 मरीजों में से 100 मरीज ऑक्सीजन पर हैं और इनमें 20 तो ऐसे हैं जिन्हें हाई फ्लो ऑक्सीजन की आवश्यकता है। बावजूद इसके माधवनगर में गंभीर मरीजों को हाई फ्लो में ऑक्सीजन नहीं मिल पा रही है। इसकी बड़ी वजह लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए लगाई गई ट्यूब पुरानी है। फ्लो मीटर ठीक से काम नहीं कर रहा है और रेगुलेटर तक उपलब्ध नहीं कराया गया है। ऐसे में प्रेशर बार-बार कम हो रहा है। ऑक्सीजन की कमी के बीच तकनीकी खामियों से भी मरीजों पर संकट बना हुआ है।

स्वास्थ्य विभाग ने माधव नगर हॉस्पिटल में लिक्विड ऑक्सीजन की सप्लाई के लिए प्रदीप गैस एजेंसी उज्जैन को ठेका दे रखा है, जो नियमित रूप से लिक्विड ऑक्सीजन टैंक की उपलब्धता नहीं करवा पा रहे हैं। ऐसे में बार-बार ऑक्सीजन की कमी की समस्या आ रही है। साथ ही तकनीकी खामियों को भी दूर नहीं किया जा रहा है। क्योंकि ठेका कंपनी के पास उस स्तर का तकनीकी अमला नहीं है जो सुधार कर एक जैसे फ्लो में ऑक्सीजन मरीजों तक पहुंचा सके।

जय गैस एजेंसी के संचालक प्रदीप वैद्य का कहना है उनके टैंक बड़ौदा से आते हैं इससे समय लग रहा है। हमारी फर्म ने 9 टन लिक्विड ऑक्सीजन माधवनगर अस्पताल के लिए उपलब्ध करा दी है। मरीजों को फ्लो में ही ऑक्सीजन मिल रही है।
क्यों जरूरी हाई फ्लो ऑक्सीजन
कोविड विशेषज्ञों का कहना है ऐसे मरीज जो गंभीर है और उनके लंग्स 80 से 90% तक इन्फेक्टेड हो चुके हैं, उन्हें फ्लो में ऑक्सीजन देना जरूरी रहता है। हाई फ्लो में ऑक्सीजन नहीं मिलने पर मरीज की जान को खतरा बना रहता है।
पहले निजी फिर माधवनगर भेजी
ऑक्सीजन की कमी से जूझ रहे माधवनगर को पहले ऑक्सीजन उपलब्ध करवाने की बजाए सप्लायर ने शहर के प्राइवेट हॉस्पिटल में पहले ऑक्सीजन भेजी और उसके बाद माधव नगर हॉस्पिटल में ऑक्सीजन उपलब्ध करवाई।
20 मरीज हाई फ्लो ऑक्सीजन पर

  • माधवनगर में 20 मरीज हाई फ्लो ऑक्सीजन पर हैं, उन्हें ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा रही है। प्रेशर की जरूर समस्या बनी हुई है। बीच-बीच में प्रेशर कम ज्यादा हो रहा है। - डॉ. एचपी सोनानिया, नोडल अधिकारी कोविड-19
खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज मार्केटिंग अथवा मीडिया से संबंधित कोई महत्वपूर्ण जानकारी मिल सकती है, जो आपकी आर्थिक स्थिति के लिए बहुत उपयोगी साबित होगी। किसी भी फोन कॉल को नजरअंदाज ना करें। आपके अधिकतर काम सहज और आरामद...

    और पढ़ें