• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • After The Death Of The Student, JCBs And Hammers Ransacked The Shops And Homes Of 3 Traders Selling Chinese Manjha.

काश यह कार्रवाई पहले होती तो नेहा बच जाती:छात्रा की मौत के बाद चायना मांझा बेचने वाले 3 व्यापारियों की दुकानों और घरों पर ताबड़तोड़ चले जेसीबी और हथौड़े

उज्जैन5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस और नगर निगम की टीम ने मिलकर की कार्रवाई। - Dainik Bhaskar
पुलिस और नगर निगम की टीम ने मिलकर की कार्रवाई।

चायना मांझे की वजह से शनिवार को हुई एक छात्रा की मौत के बाद अगले ही दिन पुलिस प्रशासन एक्शन मोड में आ गया। रविवार को प्रशासन, पुलिस और नगर निगम के दल ने कार्रवाई करते हुए तीन कारोबारियों के मकान और दुकान से अवैध निर्माण हटाया। तोपखाना के समीप उपकेश्वर महादेव चौराहा, शास्त्री नगर और इंदौरगेट के समीप मजहर का बाड़ा क्षेत्र में यह कार्रवाई की गई। इधर कई व्यापारी भूमिगत हो गए।

शनिवार को जीरो पाइंट ओवरब्रिज पर छात्रा नेहा आंजना निवासी ग्राम कुकलखेड़ा, महिदपुर स्कूटर से फुफेरी बहन के साथ जाते समय चायना मांझे की चपेट में आने से उसकी मौत हो गई थी। मामले में पुलिस ने अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का प्रकरण दर्ज किया है। घटना को लेकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी दुख जताते हुए प्रतिबंधित चायना मांझा बेचने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे।

रविवार सुबह ही प्रशासन, पुलिस और नगर निगम का अमला कार्रवाई के लिए मैदान में उतर आया। विभिन्न थाना क्षेत्रों में प्रतिबंधात्मक चायना मांझे को लेकर एएसपी अमरेंद्र सिंह, एसडीएम संतोष टैगोर, एसडीएम संजीव साहू, एसडीएम गोविंद दुबे, एसडीएम जगदीश मेहरा, सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने निरीक्षण किया। इसके बाद दोपहर को भारी पुलिस बल की मौजूदगी में तीन व्यापारियों के मकान-दुकान से अवैध निर्माण को हटाने की कार्रवाई शुरू की गई।

जिनके पास से जब्त हुई थी चायना डोर, उनके मकान-दुकान तोड़े

तोपखाना के समीप: सबसे पहले कार्रवाई दोपहर करीब 12.30 बजे तोपखाना के समीप उपकेश्वर महादेव चौराहा के पास चुलबुल पतंग सेंटर पर शुरू हुई। यहां पतंग व मांझा कारोबारी अब्दुल जब्बार पिता अब्दुल वहाब के तीन मंजिला भवन से अवैध निर्माण को हटाया गया।

मकान के सबसे निचले हिस्से में अब्दुल पतंग-मांझे की दुकान संचालित करता था आैर ऊपर की दो मंजिलों में परिवार रहता था। जेसीबी की मदद से उसका यह अतिक्रमण हटाया गया। 3 जनवरी को अब्दुल की दुकान से चायना मांझे की 25 रील जब्त की गई थी। जिसकी कीमत लगभग 25 हजार रुपए है।

शास्त्री नगर

दूसरी कार्रवाई करने पूरा अमला शास्त्री नगर पहुंचा। जहां विजय पिता सुरेशचंद्र भावसार की दुकान से अवैध निर्माण को जेसीबी की मदद से हटाया गया। दुकान के आगे बनाया गया शेड, शटर आदि हटाया गया। इसके बाद पुलिस प्रशासन इसी गली में आगे एक मकान पर भी चायना मांझा होने की आशंका में पहुंचा लेकिन वहां चायना मांझा नहीं मिला। विजय की दुकान से 13 जनवरी को चायना मांझे की 9 रील जब्त की गई थी।

इंदौरगेट क्षेत्र

तीसरी कार्रवाई इंदौरगेट के पास मजहर का बाड़ा क्षेत्र में हुई। रितिक पिता दिलीप जाधव के मकान से अवैध निर्माण हटाया गया। इस कार्रवाई को लेकर भी काफी देर तक अधिकारी असमंजस की स्थिति में रहे। मकान बेहद संकरी गली में होने के कारण वहां जेसीबी जाना संभव नहीं था। इसलिए निगम कर्मचारियों ने हथौड़े चलाकर अवैध निर्माण को हटाया। 12 जनवरी को रितिक के पास से चायना मांझे की 50 रील जब्त हुई थी।

व्यापारी बोले - तेलीवाड़ा क्षेत्र में बड़े सप्लायर को पकड़ कर दिखाए पुलिस

इधर तोपखाना क्षेत्र में कार्रवाई होने के बाद अब्दुल जब्बार के परिजनों ने यह आरोप लगाया कि पुलिस केवल छोटे व्यापारियों पर ही कार्रवाई कर रही है। जबकि तेलीवाड़ा क्षेत्र में एक बड़ा सप्लायर चायना मांझा बेच रहा है। उज्जैन के कई व्यापारियों ने उससे ही माल खरीदा था। इसके अलावा वह व्यापारी मप्र और अन्य राज्यों में भी सप्लाई करता है। एक संगठन के साथ ही राजनैतिक पार्टी से जुड़ा होने के आरोप लगाए गए। इधर पुलिस का कहना है कि संबंधित व्यापारी के प्रतिष्ठान पर दो बार दबिश दी गई लेकिन कुछ नहीं मिला।

जारी रहेगी कार्रवाई

प्रतिबंधात्मक चायना डोर का विक्रय करने वाले तीन व्यापारियों के अवैध मकान-दुकान निर्माण को हटाया है। यह कार्रवाई लगातार जारी रहेगी। तेलीवाड़ा क्षेत्र में दो बार दबिश दी गई है लेकिन वहां चायना डोर नहीं मिली। सत्येंद्र कुमार शुक्ला, एसपी

अभी भी हम लापरवाह- चायना डोर से होमगार्ड सैनिक सहित वृद्ध हुए घायल

चायना डोर से शहर में ही कई लोग घायल हो चुके हैं। शनिवार को छात्रा की मौत के बाद भी गैर जिम्मेदार लोग अभी भी चायना मांझे से पतंग उड़ा रहे हैं। रविवार को भी कुछ लोगों को चोटें आई। जीरो पाइंट ओवरब्रिज पर एक वृद्ध चायना मांझे की चपेट में आ गए। उनकी नाक पर कट लग गया।

शाम को सेठी नगर निवासी 57 वर्षीय होमगार्ड सैनिक मनोहर दांगी भी जीरो पाइंट ओवरब्रिज पर चायना मांझे की चपेट में आ गए। वह अपनी दो बेटियों को लेकर हीरामिल की चाल से सेठी नगर जा रहे थे। चायना मांझे की वजह से उनकी गर्दन पर कट लग गया और खून आने लगा। उसका स्वेटर और शर्ट तक फट गया।

खबरें और भी हैं...