सहारा प्रमुख सुब्रतो राय समेत 44 पर केस दर्ज:उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, आगर के निवेशकों से 13 करोड़ की धोखाधड़ी करने का आरोप

उज्जैन3 महीने पहले

उज्जैन सहारा समूह के प्रमुख सुब्रतो राय समेत कंपनी से जुड़े 44 अन्य लोगों के खिलाफ 13 करोड़ 59 लाख 89 हजार रुपए की धोखाधड़ी के मामले में उज्जैन EOW (आर्थिक अपराध प्रकोष्ठ) ने केस दर्ज किया है। आरोप है कि समूह की पांच कंपनियों ने संभाग के उज्जैन, रतलाम, शाजापुर, मंदसौर, आगर, मालवा, आलोट के करीब साढ़े तीन हजार निवेशकों के करीब 13 करोड़ रुपए हड़प लिए। मामले में सहारा प्रमुख सुब्रतो राय व उनकी पत्नी स्वप्ना राय, चेयरमैन व डायरेक्टर को आरोपी बनाया गया है।

उज्जैन संभाग के साढ़े तीन हजार से ज्यादा निवेशकों ने सहारा की अलग-अलग कंपनियों के माध्यम से वर्ष 2011 से लेकर 2022 के दौरान 10 करोड़ 63 लाख 75 हजार 855 रुपए ग्रुप की पांच कंपनियों में निवेश किया। उज्जैन, शाजापुर, आगर व आलोट के करीब 152 लोगों ने EOW में शिकायत की और आरोप लगाया कि कंपनी ने निवेश के नाम पर रुपए जमा कराए।

समय अवधि समाप्त होने पर उक्त राशि ब्याज समेत राशि 13 करोड़ 59 लाख 89 हजार 580 रुपए हो गई, लेकिन प्रयास के बाद भी कंपनी राशि नहीं लौटा रही। मामले में जांच के बाद EOW उज्जैन ने सहारा प्रमुख सुब्रतो राय उनकी पत्नी स्वप्ना राय व कंपनियों के चेयरमैन और संचालकों के खिलाफ धारा 409,420,120 बी 6 (1) में प्रकरण दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

पांच कंपनियों पर कसा शिकंजा

1- सहारा क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड

2- स्टार मल्टीपर्पस को-ऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड

3- सहारियान यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसायटी लिमिटेड

4- सहारा क्यू शाॅप यूनिक प्रोडक्ट रेंज लिमिटेड

5- सहारा क्यू गोल्ड मार्ट लिमिटेड कंपनियों

EOW एसपी दिलीप सोनी ने बताया की निवेशकों द्वारा सहारा ग्रुप की वर्ष 2011 से 2020 के मध्य लगभग 13 करोड से अधिक की राशि अलग-अलग समय पर माहवार एवं फिक्स डिपाजिट के रूप में जमा की गई थी, किंतु कंपनी के संचालकों द्वारा आपराधिक षडयंत्र रच कर हजारों निवेशकों के साथ धोखाधडी कर राशि वापस नही कर गबन किया गया है। प्रकरण में कंपनी के लखनऊ, गोमती नगर, फतेहपुर, जहानाबाद, वाराणसी, अलीगंज, जानकीपुरम, झांसी, भुज, अहमदाबाद, भुवनेश्वर, जयपुर, जोधपुर, मुबंई, कांदिवली, झारखंड, बेंगलुरू, हैदराबाद, मदुरै, नई दिल्ली के संचालक मंडल व कर्ताधर्ता 44 आरोपियों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। प्रकरण में आरोपियों के बढ़ने की संभावना है।