पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Babu Appointed As Peon In Nigar Nigam, Time Keeper Made Engineer, Chemist Made Commissioner PA

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

ये हैं प्रभारी:निगर निगम में चपरासी को बनाया बाबू, टाइम कीपर को इंजीनियर, केमिस्ट बना दिए गए आयुक्त के पीए

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रभारी बनाने के नाम पर सबसे बड़ा खेल

यदि कोई ऐसा विभाग हो सकता है, जहां 50 फीसदी से ज्यादा पदों पर उस पद के लिए मान्य योग्यता से नीचे की योग्यता वाले काम कर रहे हों, तो वह है नगर निगम। यहां चपरासी को बाबू बना दिया गया है, टाइम कीपर को इंजीनियर, और असिस्टेंट इंजीनियर को एक्जीक्यूटिव इंजीनियर। इतना ही नहीं सामुदायिक सर्वेयर यहां पीआरओ है, तो केमिस्ट कमिश्नर के पीए।

निगम का कामकाज इन्हीं प्रभारियों के भरोसे चल रहा है। अधिकांश पदों पर प्रभारी काबिज होने से न तो युक्तियुक्त फैसले होते हैं और न ही कमिश्नर तक सही जानकारी पहुंचती है। प्रभारी अपने फायदे के लिए जैसा चाहते हैं, निगम को चलाते हैं।

जब भी नगर निगम का नाम खराब हुआ...प्रभारी ही रहे जिम्मेदार

  • जहरीली शराबकांड में गिरफ्तार सिकंदर जो केवल 29 दिन की मंजूरी पर अस्थायी कर्मचारी होने के बावजूद छत्रीचौक जैसे मुख्य बाजार की वसूली का प्रभारी था, उसे वायरलैस सेट प्राप्त था। उसे पुराने भवन में कमरा आवंटित था, इतना ही नहीं उसे वाहन तक निगम ने मुहैया करा दिया था। निगम के कानून के अनुसार नकदी का काम स्थायी कर्मचारी को ही दिया जा सकता है, वह भी 500 रुपए के स्टाम्प पर बांड लेने के बाद। सिकंदर जैसे कर्मचारी को यह सुविधाएं और जिम्मेदारियां क्यों दी गई, इसका जवाब शायद ही कोई अफसर देने के लिए तैयार हो।
  • सालों पहले लोकायुक्त ने जिस स्टोर के प्रभारी नरेंद्र देशमुख को अनुपातहीन संपत्ति मामले में पकड़ा था तो करीब 10 करोड़ रुपए की संपत्ति का पता चला था। देशभर में यह खबर इस टेग के साथ सुर्खियों में आई थी कि उज्जैन निगम का चपरासी भी करोड़पति। वे बहाल होकर फिर बाबूगिरी कर रहे हैं।
  • ठेकेदार आत्महत्या मामले में आरोपी संजय खुजनेरी मूल रूप से टाइम कीपर है, लेकिन प्रभारी उपयंत्री के रूप में काम कर रहे थे।

भार्गव का बुरहानपुर तबादला, रिलीव अब तक नहीं किया

सहायक आयुक्त सुबोध जैन का मूल पद राजस्व निरीक्षक है। वे लंबे अरसे से माल यानी अन्यकर विभाग संभाल रहे हैं। इसके अलावा उनके पास एनयूएलएम के उपायुक्त का दायित्व भी है। प्रदेश सरकार ने उनका तबादला नेमावर कर दिया था लेकिन वे कोर्ट से स्टे ले आए और यहीं पर जमे रहे।

शिल्पज्ञ विभाग में कार्यपालन यंत्री रामबाबू शर्मा वर्तमान में अधीक्षण यंत्री के प्रभार में हैं, जबकि उनके खिलाफ लोकायुक्त व ईओडब्ल्यू की जांच चल रही है। कॉलोनी सेल के एई अरुण जैन और एई पीयूष भार्गव वर्तमान में प्रभारी कार्यपालन यंत्री हैं। अरुण जैन तबादला होने के बाद फिर उज्जैन आ गए।

भार्गव का हाल ही में बुरहानपुर तबादला हो गया है। उन्हें इसी महीने की 5 तारीख तक रिलीव करना था लेकिन उन्हें औद्योगिक क्षेत्र में कंपाउंडिंग के लिए बनाई समिति में निगम की ओर से सदस्य बना दिया है। इसी तरह उपयंत्री सुनील जैन वर्तमान में जोन 1 के प्रभारी होने के साथ वर्कशॉप प्रमुख बने हुए हैं। प्रकाश विभाग के प्रभारी जितेंद्रसिंह जादौन का मूल पद टाइम कीपर का है।

कंट्रोल रूम प्रभारी राजेश तिवारी भी मूल रूप से टाइम कीपर हैं। टाइम कीपर से विभाग प्रमुख बन कर इन्होंने न केवल निगम से वाहन आवंटित करा लिए बल्कि अन्य सुविधाएं भी ले रहे हैं। निगम के स्वास्थ्य, बाजार वसूली, राजस्व जैसे विभागों में अधिकांश प्रभारी काम कर रहे हैं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें