• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Ban On Offline, No Official Record Of Those Who Come Out Positive In Kovid Self Kit Test Getting Online

तीसरी लहर से बचाव की तैयारी:ऑफलाइन पर रोक, ऑनलाइन मिल रही कोविड सेल्फ किट टेस्ट में पॉजिटिव निकलने वालों का सरकारी रिकॉर्ड नहीं

उज्जैन5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
200 से ज्यादा लोग घर पर कर चुके टेस्ट। - Dainik Bhaskar
200 से ज्यादा लोग घर पर कर चुके टेस्ट।

कोविड की तीसरी लहर में बढ़ते संक्रमण के बीच उज्जैन में मेडिकल स्टोर्स से तो कोविड सेल्फ किट पर प्रतिबंध लगा दिया है लेकिन ऑनलाइन किट उपलब्ध हो रही है। इसमें मरीज ऑनलाइन आर्डर कर किट का उपयोग कर रहा है। इसका कोई लेखा-जोखा नहीं है। ऐसे में सवाल उठ रहा है कि ऑफलाइन बंद तो ऑनलाइन पर रोक क्यों नहीं?

किट के खरीद-बिक्री पर रोक लगाने के बाद से शहर में यह मुद्दा चर्चा का विषय बना हुआ है कि संक्रमण काल में मरीजों से सुविधा छीन ली गई है। लोग मेडिकल स्टोर्स से किट नहीं खरीद पा रहे हैं। ऐसे में उन्हें कोविड टेस्ट करवाने के लिए फ्लू ओपीडी और अस्पताल ना पड़ रहा है।

उज्जैन में मरीजों का आंकड़ा 862 पर पहुंच गया है। कोविड विशेषज्ञों का कहना है कि 20 से 25 जनवरी के बीच में संक्रमण और बढ़ेगा। दवा व्यापारियों का कहना है कि ड्रग विभाग ने जिला प्रशासन के आदेश पर मेडिकल स्टोर्स से किट के क्रय-विक्रय पर तो रोक लगा दी लेकिन ऑनलाइन किट मिल रही है।

दूसरे जिलों में इस तरह का कोई प्रतिबंध नहीं है। आईसीएमआर की गाइड लाइन के तहत भी किट मरीजों को उपलब्ध करवाई जा सकती है। इस बीच ड्रग विभाग के अधिकारियों का कहना है कि आगामी आदेश तक किट के विक्रय पर प्रतिबंध रहेगा। मेडिकल स्टोर्स से किट नहीं बेची जा सकेगी। ड्रग इंस्पेक्टर धर्मसिंह कुशवाह का कहना है कि आगामी आदेश तक किट के क्रय-विक्रय पर रोक रहेगी।

ऐसी भीड़ से तो संक्रमण बढ़ेगा

इसलिए लगाई रोक क्योंकि 200 मरीजों ने जांच तो की पर रिपोर्ट नहीं बताई

मरीज खुद का कोविड टेस्ट करने के बाद स्वास्थ्य विभाग को अवगत नहीं करवा रहे हैं। उज्जैन में अब तक 200 मरीज अपनी जांच कर चुके हैं लेकिन उन्होंने अपनी रिपोर्ट नहीं बताई। इसमें यह भी शंका है कि रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर मरीज निगेटिव भी बता सकता है। रिपोर्ट छिपाने या सही रिपोर्ट नहीं बताने से ही मेडिकल स्टोर्स से किट विक्रय पर रोक लगाई है।

ऐसे उपलब्ध कराई जा सकती किट

मेडिकल स्टोर्स से किट खरीदने पर संबंधित का मोबाइल नंबर, आधार कार्ड की प्रति, मरीज का नाम व पता दर्ज करने के साथ रिपोर्ट पॉजिटिव है या निगेटिव बताना अनिवार्य होगा। मरीज या उसके परिजन द्वारा बताई जा रही रिपोर्ट को क्राॅस चैक किए जाने के साथ ही कोविड आरआर टीम रिपोर्ट को चैक करने जाए और मरीज की डॉक्टर से जांच करवाई जाए।

जिला प्रशासन से बात करेंगे

केमिस्ट एंड ड्रगिस्ट एसोसिएशन के सचिव मनोज दुग्गड़ के अनुसार कोरोना काल में मरीजों को किट आसानी से उपलब्ध हो सके, इसको लेकर संगठन के माध्यम से स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन से बात की जाएगी। ऑफ लाइन तो बंद कर दिया गया लेकिन ऑनलाइन विक्रय तो जारी है।

खबरें और भी हैं...