पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:इंदौर-भोपाल के मंदिरों में रोक, उज्जैन में भक्तों पर निगरानी भी नहींं

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • महाकाल परिसर के काउंटरों पर सोशल डिस्टेंसिंग नहीं, बिना मास्क घूम रहे दर्शनार्थी, समिति ने प्री-परमिशन कम नहीं की

प्रदेश के कोरोना हॉट शहरों में उज्जैन भी शामिल हो गया है। संक्रमण के बढ़ते दायरे को देखते प्रशासन एहतियाती बंदोबस्त का दावा कर रहा है। लेकिन इस दावे की हकीकत को महाकाल मंदिर परिसर में देखा जा सकता है। इंदौर, भोपाल में मंदिरों में प्रवेश पर रोक है लेकिन महाकाल मंदिर में निगरानी तक नहीं की जा रही। श्रद्धालु भगवान के भरोसे आ-जा रहे हैं। मंदिर समिति ने प्री-परमिशन की संख्या घटाने का कहा था लेकिन मंगलवार रात तक पूर्ववत बुकिंग चालू रही। जिले में संक्रमण का दायरा लगातार फैल रहा है। सोमवार का हेल्थ बुलेटिन देखें तो जिले में 486 सैंपल में से 32 पॉजिटिव मिले।

इनमें 28 शहर और 4 तहसीलों के हैं। पांच दिनों के हेल्थ बुलेटिन से पता चलता है कि शहर के हर हिस्से में कोरोना संक्रमण है। यह भी खास है कि संक्रमण परिवारों को चपेट में ले रहा है। इससे खतरा ज्यादा बढ़ गया है। प्रदेश में कोरोना के सबसे बड़े हॉट स्पॉट इंदौर और भोपाल में मंदिरों में प्रवेश पर रोक लगा दी गई है, जबकि उज्जैन के मंदिरों में श्रद्धालुओं पर निगरानी तक नहीं हो रही। शहर में सबसे ज्यादा श्रद्धालु महाकालेश्वर मंदिर आते हैं। यहां भी कोरोना से बचाव के लिए जारी गाइड लाइन के पालन में लापरवाही देखी जा सकती है। जिन कर्मचारियों पर पालन का दायित्व है, वे स्वयं को बचाने के लिए केवल खानापूर्ति करते नजर आ रहे हैं।

मंदिर परिसर में लापरवाही के पांच चेहरे, बताओ कैसे संक्रमण से बचाव होगा दर्शन कर वापस आते श्रद्धालुओं की भीड़ दर्शन कर बाहर आ रहे श्रद्धालुओं के बीच डिस्टेंसिंग भी नहीं। कुछ मास्क लगाए हैं तो कुछ नहीं।

पीने के पानी की प्याऊ पर यह हालात पीने के पानी की प्याऊ पर श्रद्धालु सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं कर रहे।

दुकानों पर इस तरह भीड़ के रूप में खरीदारी मंदिर के बाहरी हिस्से की दुकानों पर श्रद्धालुओं की भीड़ खरीदारी करते नजर आती है।

इन्हें नंदी गृह में बैठने की अनुमति किसने दी? मंगलवार को सांध्य आरती में फ्रीगंज के रेस्टोरेंट संचालक परिवार को नंदी गृह में बैठा दिखा। इन्हें अनुमति क्यों दी।

यह है जूता स्टैंड है जहां बिना मास्क के भी लोग दर्शन के लिए जाते और वापसी के समय जूता-चप्पल रखने और लेने वालों में कोई डिस्टेंसिंग नहीं रहती।

सबसे ज्यादा संक्रमित महाराष्ट्र से भी आ रहे श्रद्धालु मंदिर में बाहरी श्रद्धालुओं का आना जारी है। महाराष्ट्र के श्रद्धालु भी आ रहे जहां कोरोना संक्रमण ज्यादा है।

प्रतिबंध लगाए, लेकिन इनका असर नहीं नजर नहीं आता

मंदिर समिति ने कोरोना से बचाव के लिए श्रद्धालुओं के परिसर में प्रवेश पर रोक लगाई है। उन्हें कतार से दर्शन कराने के बाद सीधे निर्गम द्वार की ओर भेजा जा रहा है। ओंकारेश्वर परिसर के अन्य मंदिरों में दर्शन पर रोक लगा दी है। इसका असर यह है कि प्रवेश से लेकर निर्गम तक श्रद्धालु बिना सोशल डिस्टेंसिंग के आ-जा रहे हैं। भीड़ के रूप में उनकी आवाजाही के बीच संक्रमण का खतरा ज्यादा नजर आ रहा है। श्रद्धालुओं के परिसर में आ जाने के बाद वे सोशल डिस्टेसिंग के साथ आ-जा रहे थे। अब वे भीड़ के रूप में नजर आ रहे हैं। जबकि प्रवेश द्वार से निर्गम तक उन्हें सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और हाथ स्वच्छ करने की व्यवस्था की जाना चाहिए।

इस तरह की अनदेखी के लिए जिम्मेदार कौन
समिति का दावा है कि श्रद्धालुओं के बीच सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क की अनिवार्यता, हाथ सैनिटाइज करने, बुखार नापने की व्यवस्था की है लेकिन हकीकत यह है कि इनका पालन नहीं हो रहा। सावधानी के नाम पर श्रद्धालुओं को दर्शन के बाद परिसर में जाने से रोकना और सीधे निर्गम द्वार की ओर भेजने की व्यवस्था भर है। इधर समिति ने श्रद्धालुओं की संख्या 8 हजार से घटाकर 6500 करने का कहा था लेकिन मंगलवार रात तक पूर्ववत ही प्री-परमिशन बुकिंग की जाती रही।

गाइड लाइन का पालन करें -सांसद
सांसद अनिल फिरोजिया ने महाकाल मंदिर में आने वाले श्रद्धालुओं से आग्रह किया है कि गाइड लाइन का पालन करें। देशभर के श्रद्धालुओं से कहा है कि कोरोना संक्रमण के चलते वे दर्शन के लिए फिलहाल न आएं। यह स्व-नियंत्रण सभी की भलाई के लिए है।

कमी है तो दूर करेंगे
^मंदिर में संक्रमण रोकने की सभी व्यवस्थाएं की गई है। यदि कहीं कोई कमी है तो उसे दूर किया जाएगा।
- नरेंद्र सूर्यवंशी, मंदिर समिति प्रशासक व एडीएम

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें