पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Bungalow Improved From 1.15 Lakh, Contractor Did Not Give Drawing design If He Asked For Money, Work Stopped

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

शुद्धिकरण चाहिए:1.15 लाख से बंगला सुधरवा लिया, ठेकेदार ने रुपए मांगे तो ड्राइंग-डिजाइन नहीं दी, काम रोका

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नए ईई जैन अधिकारियों के साथ मंदिर परिसर में अधूरा निर्माण कार्य देखते हुए
  • ठेकेदार से विवाद के बाद आरईएस विभाग के अफसर का निलंबन
  • इसी विभाग के दो अफसरों के खिलाफ जांच के आदेश

सरकारी विकास योजनाओं की दुर्गति क्यों हो जाती है, इसका ताजा उदाहरण चिंतामण गणेश मैरिज डेस्टिनेशन प्रोजेक्ट है। करीब डेढ़ करोड़ रुपए से इसे वैवाहिक आयोजनों के लिए सुविधाजनक बनाने के लिए मंजूर योजना का ठेका आरईएस के माध्यम से पीजी कंस्ट्रक्शन को दिया। काम भी शुरू हो गया। बीच में ईई बदल गया।

दूसरा ईई आरके श्रीवास्तव आया तो उसने ठेकेदार से नए बंगले में 1.15 लाख रुपए के काम करा लिए, 74 हजार रुपए का एक और बिल भुगतान के लिए दे दिया। ठेकेदार अचल अग्रवाल ने यह रुपए मांगे तो दोनों में ठन गई। ईई ने ठेकेदार को ड्राइंग-डिजाइन नहीं दी, ऊपर से नोटिस दे डाले। दोनों के बीच चल रही कागजी लड़ाई के बीच छह महीने से मंदिर परिसर में एक ईंट नहीं लगी।

इसके चलते ठेकेदार ने अधिकारी पर निजी लाभ लेने के आरोप लगाते हुए सबूतों के साथ वरिष्ठ अधिकारियों को शिकायत कर दी। शिकायत का असर है कि संभागायुक्त ने श्रीवास्तव को निलंबित कर दिया। अब आशंका है न अधिकारी ठेकेदार को सहयोग करेंगे और प्रताड़ना के कारण ठेकेदार मन से काम नहीं कर पाएगा, इससे योजना प्रभावित होगी।

बंगले में एसी, एलईडी, गीजर आदि लगवाए, पुताई कराई

शिकायत में अग्रवाल ने लिखा है कि ईई श्रीवास्तव ने मुझसे उन्हें आवंटित सरकारी आवास में रंगाई पुताई व सुधार करवाया, एलईडी स्मार्ट टीवी, एसी व अन्य कार्य करवाए गए जिस पर मेरे 1.15 लाख रुपए खर्च हो गए। यह राशि मैंने मांगी लेकिन नहीं दी।

इसके बाद कार्यालय के ऑपरेटर एनएन बैरागी के व्हाट्सएप से मुझे पलंग, गद्दा, डीटीएच, गीजर व अन्य सामान के बिल रुपए 74587 रुपए की मांग की गई। यह राशि देने से अग्रवाल ने मना कर दिया। इससे मेरे सारे भुगतान रोक दिए और नोटिस दिए जा रहे हैं। इस कारण चिंतामण गणेश मंदिर का काम रुका हुआ है। नवंबर-दिसंबर में शादियाें के मुहूर्त हैं। ऐसे में यहां आने वाले श्रद्धालुओं को दिक्कत आएगी। पंडितों के लिए भी परिसर में जगह नहीं है।

कलेक्टर ने कराई जांच

ठेकेदार की शिकायतों को लेकर कलेक्टर आशीष सिंह ने अपर कलेक्टर अवी प्रसाद को यह मामला जांच के लिए सौंपा था। मंगलवार को संभागायुक्त आनंद शर्मा ने आरईएस ईई आरके श्रीवास्तव को इस मामले में निलंबित कर दिया। यह कार्रवाई का आधार चिंतामण के काम में देरी करना, ड्राइंग-डिजाइन देरी से देना, ठेकेदार पर स्वहित के लिए दबाव बनाना आदि के आरोप हैं।

नए ईई पहुंचे मंदिर

बुधवार को आरईएस के नए ईई अरुण जैन चिंतामण गणेश पहुंचे। उन्होंने मंदिर परिसर में अधूरे पड़े निर्माण कार्यों का अवलोकन किया। उन्होंने बताया कि ठेकेदार को नई ड्राइंग-डिजाइन और डीपीआर दे दी है। एक-दो दिन में निर्माण कार्य चालू हो जाएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज व्यक्तिगत तथा पारिवारिक गतिविधियों के प्रति ज्यादा ध्यान केंद्रित रहेगा। इस समय ग्रह स्थितियां आपके लिए बेहतरीन परिस्थितियां बना रही हैं। आपको अपनी प्रतिभा व योग्यता को साबित करने का अवसर ...

और पढ़ें