• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Canals Will Open For Irrigation In Ujjain From November 15, Irrigation Is To Be Done In 29948 Hectares Of Rabi

10 दिन बाद खुलेंगी नहरें:15 नवंबर से उज्जैन में सिंचाई के लिये नहरें खुलेंगी, रबी के 29948 हेक्टेयर में होना है सिंचाई

उज्जैन23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उज्जैन में रबी की फसलों की बुवाई युद्ध स्तर पर चल रही है। कहीं-कहीं फसलों को नियमित पानी देने का सिलसिला शुरू हो गया है। इसके चलते जिले के जलाशयों से जुड़ी हुई नहरें खोली जाएंगी। इनके माध्यम से किसान खेतों में पानी दे सकेंगे। 15 नवम्बर से जिले में सिंचाई के लिये नहरें खोली जाएंगी। इसके पहले नहरों की साफ-सफाई व मेंटनेंस पूरा कर लिया जाएगा।

दरअसल पिछले साल तराना तहसील के देवीखेड़ा डेम में कुछ लोगों ने अपने ही क्षेत्र में नहरों का पानी रोक लिया था। इसके चलते काफी विवाद हुआ था। इसके चलते कलेक्टर ने कहा कि नहरों के माध्यम से आखिरी तक के किसानों को पानी मिलना चाहिए। जो लोग पानी रोकने की कोशिश करें, उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाए।

पानी कम तो इस साल बोवनी भी घटी -
पिछले साल करीब 32 हजार हेक्टेयर क्षेत्र में बोवनी की गई थी। जबकि इस बार करीब 30 हजार हेक्टेयर में बोवनी की गई है। दरअसल इस बार कम बारिश होने के चलते किसानों ने बोवनी कम की है। पीएचई के कार्यपालन यंत्री कमल कुवाल के मुताबिक इस बार जिले में औसत 1041.60 मिमी बारिश हुई है। जिले के सभी जलाशयों एवं बैराज की कुल जलग्रहण क्षमता 166 मिलीयन घन मीटर है। इन जलाशयों में भी 147 मिलीयन घन मीटर पानी जमा हुआ है। इस वजह से सिंचाई के प्रबंध करने में दिक्कतें आ सकती हैं।