कुलपतियों की बैठक:कॉलेज में ऑफलाइन परीक्षा के लिए बढ़ाए जाएंगे सेंटर

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परीक्षा के लिए लीड कॉलेज को मिल सकती बड़ी जिम्मेदारी। - Dainik Bhaskar
परीक्षा के लिए लीड कॉलेज को मिल सकती बड़ी जिम्मेदारी।
  • 21 दिसंबर को भोपाल में, सोशल डिस्टेंसिंग के साथ कोविड प्रोटोकॉल पर होगी चर्चा

कॉलेज में ऑफलाइन परीक्षा के लिए इस बार सेंटर बढ़ाए जाएंगे। इसके अलावा लीड कॉलेज को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। इसकी तैयारियों के लिए 21 दिसंबर को भोपाल में प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति की बैठक बुलाई है। इसमें परीक्षा की तैयारियों के साथ कोविड प्रोटोकॉल को लेकर चर्चा की जाएगी।

उच्च शिक्षा मंत्री डॉ. मोहन यादव ने कॉलेज परीक्षाएं ऑनलाइन नहीं, ऑफलाइन करवाने की बात कही है। उनका कहना है कि इसके लिए फॉर्मूला जल्दी तय किया जाएगा। परीक्षा को लेकर प्रदेश के सभी विश्वविद्यालयों के कुलपति की बैठक बुलाई है। प्रयास किया जा रहा है कि परीक्षाएं भी हो जाए और सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखा जा सके।

कुलपति प्रो. अखिलेश कुमार पांडेय ने बताया कि सोशल डिस्टेंसिंग को ध्यान में रखते हुए इस बार परीक्षा के सेंटर बढ़ाए जाएंगे ताकि एक ही सेंटर पर विद्यार्थियों का ज्यादा दबाव न आए। इसके अलावा परीक्षा के संचालन को लेकर लीड कॉलेज को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है।

कोरोना के बाद लगाए गए सभी प्रतिबंध शासन ने हटा लिए हैं। गत वर्ष कोरोना संक्रमण के कारण कुछ विश्वविद्यालयों ने ऑनलाइन तो कुछ ने ओपन बुक पद्धति से परीक्षाएं कराई थीं। कोरोना संक्रमण कम होने के बाद अब सेमेस्टर और एनुअल एग्जाम ऑफलाइन ही होंगे। यानी छात्र-छात्राओं को परीक्षा केंद्रों पर जाना होगा। पूरे प्रदेश के विश्वविद्यालयों और उससे जुड़े कॉलेजों में एक रूप में एग्जाम होंगे।

विक्रम विश्वविद्यालय का 25वां दीक्षांत समारोह 22 दिसंबर को, 15 तक करवा सकेंगे पंजीयन

विक्रम विश्वविद्यालय का 25वां दीक्षांत समारोह 22 दिसंबर को होगा। पात्र विद्यार्थी 15 दिसंबर तक पंजीयन करवा सकेंगे। पात्र विद्यार्थियों की सूची विश्वविद्यालय की वेबसाइट पर उपलब्ध करवाई गई है। कुलसचिव प्रो. प्रशांत पुराणिक ने बताया समारोह में 2020 के पीएचडी, डीलिट उपाधि धारकों को डिग्री और 2020 की स्नातक परीक्षाओं की प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान प्राप्त अभ्यर्थियों को स्वर्ण पदक दिए जाएंगे। 2020 की स्नातकोत्तर परीक्षाओं की प्रावीण्य सूची में प्रथम स्थान प्राप्त अभ्यर्थियों को उपाधियां और स्वर्ण पदक प्रदान किए जाएंगे। पात्र विद्यार्थी एमपी ऑनलाइन से पंजीयन करवा सकते हैं।

197 पात्र, 78 ने कराया पंजीयन

दीक्षांत समारोह में सम्मिलित होने के लिए पात्र स्नातक स्तर के 23 विद्यार्थियों, स्नातकोत्तर स्तर के 58 विद्यार्थियों और पीएचडी के 116 विद्यार्थियों यानी 197 पात्र विद्यार्थियों में से 78 विद्यार्थियों ने पंजीयन करवाया है। पंजीकृत पात्र विद्यार्थियों को दीक्षांत समारोह की रिहर्सल के लिए एक दिन पहले 21 दिसंबर को दो बार निर्धारित समय सुबह 11 बजे और दोपहर 4 बजे उपस्थित होना होगा। दीक्षार्थियों को 22 दिसंबर को सुबह 8.30 बजे तक अपना स्थान ग्रहण करना अनिवार्य होगा।

खबरें और भी हैं...