मंडराने लगे बादल:उज्जैन में बादल छाए, शाम को बारिश के आसार; गंभीर के गेट बंद किए

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गंभीर बांध का एक गेट बंद कर दिया गया है। इंदौर के यशवंत सागर से पानी आने पर ही खोला जाएगा। - Dainik Bhaskar
गंभीर बांध का एक गेट बंद कर दिया गया है। इंदौर के यशवंत सागर से पानी आने पर ही खोला जाएगा।

उज्जैन का मौसम बुधवार को फिर बदल गया। मंगलवार को पूरे दिन मौसम साफ रहने के बाद देर रात से तेज हवाएं चल रही हैं। सुबह हल्की बारिश हुई। इसके बाद से बादल छाए हुए हैं। मौसम विभाग को उम्मीद है कि आज शाम तक बारिश हो सकती है।

उज्जैन में अब तक 708 मिमी (28.4 इंच) बारिश हो चुकी है। मानसून के अंतिम चरण में मौसम विभाग को बहुत बारिश की उम्मीद नहीं है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस बार औसत 35.5 इंच से कम ही बारिश होगी। हालांकि गंभीर बांध पूरी तरह से लबालब भरा हुआ है। इसके चलते पीने के पानी का संकट नहीं होगा। लेकिन घरों के बोरिंग और सिंचाई में दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

कल से बंद कर दिया गंभीर बांध का गेट
गंभीर बांध का गेट मंगलवार शाम को बंद कर दिया गया। बीते पांच दिनों से समय-समय पर बांध का एक गेट नंबर 3 खोला जा रहा था। जो मंगलवार शाम 4 बजे से बंद कर दिया गया। गंभीर बांध प्रभारी अशोक शुक्ला ने बताया कि गंभीर बांध में इंदौर के यशवंत सागर से पानी की आवक बंद हो गई है। इसके चलते यशवंत सागर का गेट भी बंद कर दिया है। बांध में फिलहाल 2250 की तुलना में 2214 एमसीएफटी पानी भरा हुआ है।

इधर, आसपास के जलस्रोतों से पानी आने के कारण शिप्रा का जलस्तर भी बढ़ा हुआ है। कई स्थानों पर बने शिप्रा के पुल डूबे हुए हैं। इस वजह से लोगों की आवाजाही बंद है।

खबरें और भी हैं...