अभियान:कॉलोनाइजरों के मकान तोड़े, 57 को नोटिस जारी; 125 नोटिस और तैयार

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कोट मोहल्ला में कॉलोनाइजर का मकान तोड़ा गया। - Dainik Bhaskar
कोट मोहल्ला में कॉलोनाइजर का मकान तोड़ा गया।
  • हमारी पूंजी सिंहस्थ क्षेत्र को बचाने का अभियान शुरू

प्रतिबंध के बावजूद सिंहस्थ क्षेत्र में कॉलोनी काटने वाले दो कॉलोनाइजर बुधवार को कार्रवाई के दायरे में आए। पुलिस-प्रशासन व निगम की संयुक्त टीम ने मिलकर इन कॉलोनाइजरों के क्रमश: कोट मोहल्ला व खिलचीपुर स्थित निवास (भवनों) को तोड़ दिया। दूसरी तरफ अवैध कॉलोनियों के लोगों को नोटिस जारी किए जाने लगे हैं।

दावा किया जा रहा है कि कार्रवाई लंबी चलेगी, कॉलोनी व प्रत्येक पक्का निर्माण तोड़ने तक। भास्कर इस मुद्दे को लगातार उठाता आ रहा है। ऐसे में कलेक्टर आशीष सिंह द्वारा वर्ष 2016 के आयोजन के बाद मेला क्षेत्र में काटी गई अवैध कॉलोनी व पक्के निर्माण चिह्नित करवाकर इन्हें तोड़ने व हटाने की कार्रवाई शुरू करवाई गई है।

जूना सोमवारिया मार्ग पर 4 अवैध कॉलोनियां

बुधवार को संयुक्त टीम ने कोट मोहल्ला निवासी रफीक का अवैध घर तोड़ने की कार्रवाई की। नगर निगम जोन एक के भवन अधिकारी गोपाल बोयत ने बताया कि रफीक ने सिंहस्थ क्षेत्र में जूना सोमवारिया मार्ग स्थित पानी की टंकी के पीछे अवैध कॉलोनी काटी हैं। जोन एक में सिंहस्थ क्षेत्र में इसके सहित चार अवैध कॉलोनियां चिह्नित हुई हैं। बाकी के कर्ताधर्ता भी जल्द कार्रवाई के दायरे में आएंगे।

आगर रोड पर कब्जा करने वाले के मकान तोड़े

शाम को निगम के अपर आयुक्त मनोज पाठक व प्रभारी ईई रामबाबू शर्मा आदि टीम लेकर आगर रोड के खिलचीपुर पहुंचे। यहां इन्होंने गोवर्धन पिता आत्माराम पटेल का मकान तोड़ने की कार्रवाई की। गोवर्धन ने मेला क्षेत्र में आगर रोड पर कॉलोनी काटी है। शर्मा ने बताया कि पटेल के खिलाफ निगम की कॉलोनी सेल की तरफ से करीब छह महीने पहले इस मामले में एफआईआर भी दर्ज करवाई जा चुकी हैं। इनके द्वारा काटी गई कॉलोनी के 57 लोगों को भी अब नोटिस जारी किए जा चुके हैं। सभी को तीन दिन का वक्त दिया है। इसके बाद इन्हें हटाने की कार्रवाई भी की जाएगी।

एग्रीमेंट के आधार पर ही प्लाट और मकान बेच रहे हैं, रजिस्ट्री नहीं, आज करेंगे नोटिस जारी

प्रभारी ईई शर्मा ने बताया कि जोन दो मे ही आगर रोड किनारे सिंहस्थ क्षेत्र में गुलमोहर नामक अवैध कॉलोनी भी काटी गई है। इसमें करीब 125 प्लाॅट-मकान हैं। काॅलोनी काटने वाले मुख्य व्यक्ति की मौत हो चुकी है। अब तीन-चार लोग संयुक्त रूप से मिलकर यहां प्लाट-मकान बेच रहे हैं। ये एग्रीमेंट के आधार पर ही सबकुछ कर रहे हैं, क्योंकि रजिस्ट्री अभी तक किसी की भी सामने नहीं आई है। गुरुवार को इन सभी को नोटिस जारी किए जाएंगे। इसी बीच इन कॉलोनाइजरों के मकानों को तोड़ने की कार्रवाई भी की जाएगी।

खबरें और भी हैं...