• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Colony Cut In Simhastha Mela Area In Ujjain, First Broke The House Of The Colony Cutter, Now It's The Turn Of The Colonies

उज्जैन में अवैध निर्माणों पर कार्रवाई:सिंहस्थ मेला क्षेत्र में कॉलोनी काटी, पहले कॉलोनी काटने वाले का घर तोड़ा, अब कॉलोनियों की बारी

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिंहस्थ के लिए आरक्षित क्षेत्र को भूमाफियाओं से सुरक्षित रखने के लिए प्रशासन ने मोर्चा संभाल लिया है। बुधवार को पुलिस और नगर निगम की टीम ने ऐसे ही एक आरोपी के मकान का अवैध हिस्सा तोड़ दिया। रफीक ने सिंहस्थ क्षेत्र के लिए आरक्षित जमीन पर कॉलोनी काटकर लोगों को बेच दी थी। जहां लोगों ने मकान भी बना लिए थे। प्रशासन अब इन अवैध मकानों को भी तोड़ेगा।

सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने बताया कि बुधवार को कोट मोहल्ला निवासी रफीक के घर का अवैध हिस्सा ढहा दिया। उसने तीसरी मंजिल पर अवैध निर्माण कर रखा था। जिस हिस्से का नक्शे का पास था, उस हिस्से को छोड़ दिया। कार्रवाई के दौरान 25 से अधिक पुलिस जवान और नगर निगम का अमला मौजूद था।

इसलिए हो रही कार्रवाई
कलेक्टर आशीष सिंह ने विगत दिनों बैठक में निर्देश दिए थे कि सिंहस्थ मेला क्षेत्र में 2016 के बाद जिन्होंने भी अवैध कॉलोनियां काटी हैं, पहले उन्हें चिन्हित किया जाए। उनके विरुद्ध एफआईआर दर्ज की जाए और उनके मकानों को तोड़ा जाए। उसके बाद 2016 के बाद मेला क्षेत्र में बनी कॉलोनियों के भवनों को तोड़ने की कार्रवाई की जाए।

2016 के बाद सिंहस्थ मेला क्षेत्र में काट दी 6 कॉलोनियां
नगर निगम ने सिंहस्थ मेला क्षेत्र में 6 अवैध कॉलोनी और कुछ पक्के निर्माण चिह्नित किए हैं। आज से संबंधित कॉलोनाइजरों व निर्माण करने वालों को नोटिस जारी करना शुरू कर दिया है। प्रशासन अब इन निर्माणों को समय सीमा में हटाने की कार्रवाई करेगा।

जोन 1, 2 व 3 में हुए अवैध निर्माण और कब्जे
नगर निगम ने जोन क्रमांक 1, 2 व 3 में अवैध निर्माण चिह्नित किए गए हैं। जोन 4, 5, 6 में इस तरह के कोई निर्माण कार्य नहीं मिले हैं। जोन क्रमांक 1 में 4 अवैध कॉलोनी और जोन 2 में 2 अवैध कॉलोनी चिह्नित की गई है। जोन 3 में व्यक्तिगत रूप से किए गए निर्माण कार्यों को चिह्नित किया गया है। इस पर कलेक्टर आशीष सिंह ने कहा कि जोन 1 व 2 में चिह्नित की गई अवैध कॉलोनियों के कॉलोनाइजर व मकान मालिकों, जोन 3 में कृषि कार्यों के लिए किए गए निर्माण कार्यों को छोड़ अन्य पक्के निर्माण कार्यों के मालिकों को बुधवार से नोटिस देने के निर्देश दिए हैं।