पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भास्कर के मुद्दा उठाने के बाद एक्शन में आई पुलिस:119 होटलों-धर्मशाला की जांच, 6 संचालकों पर केस जिस होटल से लड़की कूदी उसके दस्तावेज निकलवाए

उज्जैन5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कई जगहों पर बिना परिचय पत्र के ही रोका यात्रियों को, रजिस्टर मेंटेन नहीं
  • बिलिंग में भी नहीं चुका रहे टैक्स, होटलों घरेलू सिलेंडर भी मिले

नाबालिग छात्रा के होटल हाइ लाइट की छत से कूदकर जान देने और यहां बिना परिचय पत्र के रुकाने की घटना के बाद पुलिस मंगलवार को एक्शन में आई। पुलिस ने एक ही दिन में 57 होटलों में कॉम्बिंग गश्त की। होटलों के रिकॉर्ड को खंगाला और कमरे खुलवाकर चैक किए। जिन कमरों में यात्री रुके हुए थे उनसे बातचीत भी की। जो कमरे खाली थे उन्हें भी खुलवाकर चैक किया। पुलिस ने चार होटल संचालकों पर केस भी दर्ज किया है।

शहर के बीचों बीच और खाराकुआं थाने के नजदीक होटल मिडलैंड में सबसे ज्यादा अनियमितताएं मिलीं। यहां 10 कमरों की बुकिंग थी और सभी में यात्री ठहरे हुए थे। लेकिन केवल 3 कमरों की ही बुकिंग की रजिस्टर में एंट्री की गई थी। पुलिस ने रजिस्टर को जब्त कर लिया है। यहां बिलिंग में भी टैक्स की चोरी पकड़ी गई है। इतना ही नहीं होटल मिडलैंड में एक्सपायरी डेट का साबुन, शैम्पू आदि सामान भी कमरों में पहुंचाया जा रहा था। पुलिस ने ऐसे 100 से ज्यादा पैकेट जब्त कर लिए हैं। पुलिस ने यहां की बिल बुक भी जब्त की है।

देह व्यापार के लिए मशहूर पिंजारवाड़ी क्षेत्र में भी सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने दबिश दी। क्षेत्र के तीन घरों में अंदर जाकर और कमरों की चैकिंग की। लेकिन वहां कोई नहीं मिला। करीब एक घंटे की चैकिंग के दौरान सीएसपी ने यहां की बुजुर्ग महिलाओं से देह व्यापार की जानकारी भी ली। वे महिलाएं जो पहले मुजरा करती थीं, उनसे भी चर्चा की। सभी ने कहा अब उनके बेटे कामधंधे में लग गए हैं। वे ही कमाते हैं। यहां मुजरा व देह व्यापार पूरी तरह बंद है।

होटल गुजरात पैलेस में घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग करते हुए मिले। यहां सीसीटीवी कैमरे भी बंद थे। इतना ही नहीं यात्रियों की एंट्री भी रजिस्टर में नहीं की गई थी। यहां से थाने को यात्रियों की जानकारी भी समय पर नहीं भेजी जा रही है। सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने महाकाल और खाराकुआं थाना क्षेत्र की 15, टीआई महाकाल और उनकी टीम ने भी करीब 28 और कोतवाली पुलिस ने भी 12 होटलों की जांच की।

ये अनियमितताएं मिलीं -
- कई होटल मालिक गुमाश्ता लाइसेंस नहीं दिखा पाए। यानी वे लोग नगर निगम की अनुमति के बगैर ही होटल संचालित कर रहे हैं।
- कई होटलों में जहां रेस्टोरेंट या किचन है वहां घरेलू गैस सिलेंडर का उपयोग होते हुए मिला।
- अधिकांश होटल संचालक थानों को यात्रियों के एंट्री वाले रजिस्टर की जानकारी फोटो कॉपी और आधार कार्ड की कॉपी के साथ नहीं पहुंचा रहे हैं।

चार होटल संचालकों पर केस दर्ज -
पुलिस ने महाकाल थाना क्षेत्र की तीन होटलों पर धारा 188 के उल्लंघन के तहत केस दर्ज किया है। इसमें इंदौर गेट स्थित होटल गुजरात पैलेस के रज्जाक, कहारवाड़ी स्थित श्री कृष्ण यात्री गृह के धर्मेंद्र व सूरज, हरिफाटक रोड स्थित होटल रॉयल गेस्ट हाउस के विशाल सोलंकी और इंदौर गेट के होटल रॉयल के दीपक गंगवानी पर केस दर्ज किया गया।

कई होटल संचालक नाम बदलकर चला रहे होटल -
महाकाल मंदिर के आसपास बेगमबाग से लेकर रविशंकर नगर और कोट मोहल्ला चौराहे से लेकर लोहे के पुल तक करीब 300 होटल संचालित हो रही है। इसमें से कई होटल संचालको ने अपनी होटल के नाम बदलकर धार्मिक नाम से होटल संचालित कर रहे है ऐसे भी होटल की जांच पुलिस अब करने जा रही है। सीएसपी पल्ल्वी शुक्ला ने बताया कि लगातार इस बात की शिकायत हमें मिल रही हैं कि कई होटल संचालक अन्य नामों से होटल का संचालन कर रहे हैं। सभी की जांच की जाएगी।

अब क्या करेगी पुलिस -

सीएसपी पल्लवी शुक्ला ने बताया कि जिन होटल संचालकों ने हमें गुमाश्ता के लाइसेंस की कॉपी नहीं दी है उनकी जानकारी नगर निगम को दी जाएगी। साथ है खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग को गैस सिलेंडर की जांच के लिए लिखा जाएगा। इतना ही नहीं जो होटल संचालक बिलिंग में टैक्स चोरी कर रहे हैं उनके लिए जीएसटी विभाग को भी जांच के लिए पत्र लिखा जाएगा।

दो दिन पहले हुआ हादसा -
रविवार रात करीब 11.30 बजे होटल हाइलाइट से 15 वर्षीय छात्रा ने कूदकर जान दे दी थी। वह यहां अपने बॉयफ्रेंड के साथ 5 सितंबर से रुकी हुई थी। लेकिन इतने दिन होने के बाद भी होटल संचालक ने उनसे आईडी कार्ड नहीं मांगा। इस मामले में पुलिस छात्रा के बॉयफ्रेंड मेल्विन जॉर्ज और होटल संचालक अनीस पर केस दर्ज किया है।

खबरें और भी हैं...