सुसाइड नोट में लिखा- मैं अच्छा पापा नहीं बन पाया:उज्जैन में डेयरी मालिक ने कार में जहर खाकर जान दी थी

उज्जैन3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कमलेश कलवानी - Dainik Bhaskar
कमलेश कलवानी

उज्जैन कोठी रोड स्थित माधव साइंस कॉलेज के पास सोमवार देर रात कोठी रोड पर कार में युवक की लाश मिली थी। मृतक की पहचान फ्रीगंज निवासी कमलेश कलवानी के रूप में हुई। कमलेश ने अपनी कार में जहर खाकर जान दे दी। अब पुलिस को सुसाइड नोट मिला है। इसमें उसने मौत के पीछे खुद को जिम्मेदार बताया है।

उज्जैन के वेद नगर में साईंनाथ डेयरी संचालक कमलेश कलवानी (34 वर्ष) की लाश कार में मिलने से हड़कंप मच गया था। माधव नगर पुलिस को गश्त के दौरान सर्किट हाउस के साइंस कॉलेज के पास रात 2.30 बजे कार में लाश मिली थी। कार में जहर और ग्लास भी बरामद हुआ। पुलिस ने सुबह पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। प्राथमिक जांच में पता चला कि कमलेश की पत्नी अलग रहती है। आठ वर्षीय बेटा उसके पास है। उसका तलाक का केस चल रहा था। संभवत: इसी परेशानी में उसने जान दी।

मैं अच्छा पापा नहीं बन पाया

कमलेश ने सुसाइड नोट में लिखा- मैं बिना किसी के दबाव में यह कदम उठा रहा हूं। मुझे कुछ होता है तो उसका जिम्मेदार मैं खुद हूं। मैंने बचपन से राजशाही जिंदगी जी है, लेकिन अपनी गलतियों के कारण मैंने ऐसी जिंदगी कर ली है, जिसके कारण मैं खुद से नजर नहीं मिला पा रहा हूं। मैं अब सिर्फ टाइमपास रह गया हूं। मैं ऐसा जीवन नहीं जी सकता। पापा कहते हैं, जो ऐसा काम करता है उसे नर्क में भी जगह नहीं मिल सकती। मेरी जिंदगी नर्क से भी बदतर हो गई है। हो सके तो मुझे माफ करना मैं अच्छा पापा नहीं बन पाया...।