पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Development And Beautification Works Are Being Done In Mahakal Temple Complex From 98 Crores

ऐसा नाइट गार्डन जो दिन में कराएगा रात का अहसास:महाकाल मंदिर परिसर में 98 करोड़ से हो रहे हैं विकास व सौंदर्यीकरण के काम

उज्जैन20 दिन पहलेलेखक: ओमप्रकाश सोनोवणे
  • कॉपी लिंक
स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के अनुसार विदेशों में गार्डन के एक हिस्से में इस तरह की व्यवस्थाएं हैं। इससे प्रेरित होकर महाकाल वन में नाइट गार्डन की यूनिक योजना बनाई गई है। -फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के अनुसार विदेशों में गार्डन के एक हिस्से में इस तरह की व्यवस्थाएं हैं। इससे प्रेरित होकर महाकाल वन में नाइट गार्डन की यूनिक योजना बनाई गई है। -फाइल फोटो

महाकालेश्वर मंदिर के पीछे तैयार हो रहे महाकाल वन-रुद्रसागर भ्रमण क्षेत्र में देश का पहला नाइट गार्डन बनाया जा रहा है। इस गार्डन में घुसते ही श्रद्धालुओं को रात जैसा अहसास होगा। वे इस गार्डन में घूमते हुए मंत्रों की ध्वनि के साथ आदियोगी शिव की परिक्रमा भी करेंगे। स्मार्ट सिटी कंपनी महाकाल मंदिर के पीछे के हिस्से में 98 करोड़ रुपए से यात्रियों के लिए रमणीय परिसर और सुविधाएं विकसित कर रही है। इसी क्रम में नाइट गार्डन की परिकल्पना को साकार किया जा रहा है।

स्मार्ट सिटी के अधिकारियों के अनुसार विदेशों में गार्डन के एक हिस्से में इस तरह की व्यवस्थाएं हैं। इससे प्रेरित होकर महाकाल वन में नाइट गार्डन की यूनिक योजना बनाई गई है। इस तरह का गार्डन देश में कहीं नहीं है। स्मार्ट सिटी के आर्किटेक्ट कृष्णमुरारी शर्मा ने इसे डिजाइन किया है। यह करीब 800 वर्ग मीटर क्षेत्र में बन रहा है। यह गोलाकार गुफा मार्ग जैसा होगा। स्टील और कांक्रीट के स्ट्रक्चर का गोल घेरा बनाया जा रहा है। इसके भीतर लोग चल सकेंगे।

लाइट एंड साउंड से जुड़ेगा, शिव मंत्रों की गूंज सुनाई देगी
महाकाल वन में यह गार्डन गोलाकार गुफा जैसा होगा। इसमें चारों तरफ विभिन्न प्रजातियों से पेड़-पौधे होंगे। जो पूरे मार्ग को चारों तरफ से ढंक लेंगे। इससे भीतर अंधेरा रहेगा। आवागमन में परेशानी न हो इसके लिए विभिन्न तरह की लाइट्स रहेगी जो मद्दम रोशनी फैलाएंगी। इससे रास्ता दिखाई देगा। इसमें लाइट एंड साउंड सिस्टम के आधार पर विभिन्न शिव मंत्रों की गूंज सुनाई देगी। इससे श्रद्धालुओं को अध्यात्मिक वातावरण मिलेगा।गोलाकार मार्ग के बीच में आदियोगी शिव की विशाल प्रतिमा लगेगी। प्रतिमा के आसपास लॉन रहेगा। यहां भी मंत्रों की गूंज सुनाई देगी। इसके आसपास भी शिव से संबंधित विभिन्न मूर्ति शिल्प रहेंगे।

श्रद्धालुओं को वन का अहसास
यह गुफा मार्ग पेड़-पौधों से इस कदर ढंका होगा कि यहां से गुजरते हुए घने जंगल की अनुभूति होगी। इसका काम शुरू हो गया है। यह एक साल में बन कर तैयार हो जाएगा। इसमें लगाए जाने वाले पेड़-पौधों को घना होने में थोड़ा समय लगेगा। 2022 में यात्रियों को यह सुविधा मिल सकती है।