पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Ujjain
  • Do Not Use Common Toilet If There Is A Home Isolation, Steam It Four Times A Day, Get The Vaccine Immediately When The Number Comes.

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

पांच दिवसीय वर्चुअल प्रोग्राम शुरू:होम आइसोलेशन हैं तो कॉमन टॉयलेट यूज नहीं करें, दिन में चार बार भाप लें, नंबर आने पर तुरंत वैक्सीन लगवाएं

उज्जैन15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
वर्चुअल प्रोग्राम में डॉ. दिव्या प्रश्नों के जवाब देते हुए। - Dainik Bhaskar
वर्चुअल प्रोग्राम में डॉ. दिव्या प्रश्नों के जवाब देते हुए।

वर्तमान में कोविड संक्रमण को लेकर असमंजस है। इससे लोगों के मस्तिष्क पर विपरीत असर पड़ रहा है। इसे देखते हुए चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की उज्जैन शाखा की अगुवाई में पांच दिनी वर्चुअल प्रोग्राम का आयोजन किया जा रहा है। ब्रांच इंचार्ज हसन चौबारावाला ने बताया इसके दूसरे दिन डॉक्टर से पूछिए नामक कार्यक्रम का वर्चुअल आयोजन किया गया। इसमें डॉ. रजत महाडिक और डॉ. दिव्या श्रीमाल मुंबई ने सीए मेंबर्स के कोविड से संबंधित प्रश्नों का उत्तर दिया।

डॉ. रजत महाडिक और डॉ. दिव्या श्रीमाल ने दिए सीएम मेंबर्स के प्रश्नों के जवाब
शुरुआती लक्षण आने के बाद किन बातों पर ध्यान देना चाहिए।

व्यक्ति को स्वास्थ्य और शरीर में हो रहे सभी परिवर्तन पर ध्यान देना चाहिए। प्रारंभिक लक्षण के बाद फिजीशियन से संपर्क कर दवाई और टेस्ट के बारे में जानकारी लें। कोरोना वायरस की नई स्ट्रेन बहुत गति से फैलती है, इसलिए त्वरित जांच और इलाज शुरू करना जरूरी है।
कोरोना का सैंपल देने और रिपोर्ट आने के बीच क्या करें।
किसी व्यक्ति को कोरोना के प्रारंभिक लक्षण के बाद ही खुद को परिवार और अन्य लोगों से अलग यानी आइसोलेट होने की जरूरत है। अगर कोई भी व्यक्ति होम आइसोलेशन हैं तो उसे कॉमन टॉयलेट भी यूज नहीं करना चाहिए और उसे दिनभर में चार बार भाप लेना चाहिए।

क्या सभी को पॉजिटिव पेशेंट स्कोर सीटी स्कैन की जरूरत होती है।
पॉजिटिव मरीज की सीटी स्कैन का निर्णय डॉक्टर लेते हैं। आपका ऑक्सीजन लेवल 94 से कम आता है तो डॉक्टर से संपर्क कर सीटी स्कैन की सलाह पर विचार-विमर्श करना चाहिए। कुछ मरीजों में आरटीपीसीआर टेस्ट निगेटिव आती हैं। उनमें भी सीटी स्कैन करवाने से निष्कर्ष निकाला जाता है।

कोरोना से रिकवरी के समय पेशेंट किन बातों पर ध्यान दें।
होम आइसोलेशन के बाद भी लापरवाही ना करते हुए मास्क पहनें। डॉक्टर की सलाह अनुसार 14 से 28 दिन के अंतराल तक घर में आइसोलेट रहें। सिखाई गई ब्रीथिंग एक्सरसाइज का पालन करें। डिस्चार्ज होने के बाद भी शरीर में ऑक्सीजन की मात्रा चेक करते रहें।
वैक्सीनेशन का कोरोना संक्रमण में क्या महत्व है।
वैक्सीनेशन के कारण काफी सुरक्षा मिल रही है। वैक्सीनेटेड लोगों में कम गंभीर बीमारी या आईसीयू में भर्ती की जरूरत पड़ रही है। अपना नंबर आने पर तुरंत वैक्सीन लगवाएं।
प्लाज्मा डोनेशन के बारे में बताएं।

प्लाज्मा थैरेपी का उपयोग अधिक गंभीर कोरोना मरीजों में किया जाता है। हम लोगों को अधिक से अधिक संख्या में प्लाज्मा दान करना चाहिए। कोरोना होने के 4 सप्ताह बाद प्लाज्मा डोनेट किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें