पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मारपीट की घटनाओं का विरोध:डॉक्टर्स ने काली पट्टी बांध मरीजों का इलाज किया

उज्जैन2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डॉक्टर्स के साथ होने वाली मारपीट और अभद्रता की घटनाओं के विरोध में शुक्रवार को प्राइवेट और सरकारी डॉक्टर्स ने काली पट्टी बांधकर मरीजों का इलाज किया। उन्होंने अपने क्लिनिक पर भी इसके विरोध में पोस्टर लगाए। आईएमए के सचिव डॉ. तपन शर्मा ने बताया कोरोना काल को देखते हुए हड़ताल नहीं की गई और रैली व धरना आदि भी नहीं किया गया।

काली पट्टी बांधकर मरीजों को चिकित्सा सेवाएं दी गई। उन्होंने कहा कि ऑक्सीजन खत्म हो जाए तो इसके लिए डॉक्टर कैसे जिम्मेदार हो सकता है। उड़ीसा में इस तरह की घटना सामने आई, जिसमें ऑक्सीजन खत्म होने पर डॉक्टर से मारपीट की गई।

अस्पताल या क्लिनिक पर हिंसा होने से दूसरे मरीजों की चिकित्सा प्रभावित होती है। चिकित्सा अधिकारी संघ के सचिव डॉ. अनिल भार्गव ने बताया जिला अस्पताल, चरक व माधवनगर अस्पताल में भी डॉक्टर और स्टाफ के साथ में मारपीट की घटनाएं आए दिन होती रहती हैं, इसे सख्ती से रोका जाना चाहिए। उन्होंने बताया आईएमए के समर्थन में जिला अस्पताल में भी डॉक्टर्स ने काली पट्टी बांधकर कार्य किया।

खबरें और भी हैं...