पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

शहर का ग्रीन कॉरिडोर:डोर टू डोर सर्वे, फीवर क्लिनिक और लोगों में डर दूर होने से जीरो पॉजिटिव तक पहुंचे

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 29 दिन पहले 14 दिन और अब मरीज 6 से 7 दिन में हो रहे स्वस्थ
Advertisement
Advertisement

उज्जैन में जीरो पॉजिटिव के साथ ही मरीजों में रिकवरी का समय भी कम हुआ है। स्वास्थ्य विभाग की स्टडी में पाया कि संक्रमित मरीज पहले 14 दिन में स्वस्थ होते थे और अब 6 से 7 दिन में ही रिकवर हो रहे हैं। इसकी बड़ी वजह यह रही है कि लोगो में कोरोना का डर दूर हुआ है। लोग समय पर इलाज करवाने के लिए हॉस्पिटल पहुंचे। खान-पान का ध्यान रखने से लोगों की इम्यूनिटी पॉवर बढ़ी है। डोर टू डोर सर्वे होने, लोगों में डर दूर होने और फीवर क्लीनिक का संचालन शुरू होने से उज्जैन ग्रीन जोन की ओर बढ़ चला है। विशेषज्ञों का कहना है कि उज्जैन लगातार ग्रीन जोन की ओर बढ़ रहा है लेकिन लोगों को पूरी सतर्कता रखनी होगी। अब भी हमें सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करना होगा, मास्क लगाकर ही घर से बाहर जाना होगा। लोग बीमारी को नजरअंदाज नहीं करें और न उसे छुपाएं। बारिश में नमी बढ़ने से संक्रमण का खतरा बढ़ सकता है। ऐसे में लोगों को नमी वाले स्थानों पर जाने से बचना होगा। शहर के लोग प्रोटोकॉल का पालन करेंगे तो हम 6 दिन में ग्रीन जोन में जा सकते हैं।

लोगों को सुरक्षा का ध्यान रखना होगा प्रोटोकाल का पालन करना होगा 
^मरीजों का आंकड़ा लगातार कम हो रहा है लेकिन इसके साथ ही हमारे सामने चुनौती भी है। बारिश में आशंका है कि मरीज बढ़ सकते हैं। लोगो सुरक्षा का ध्यान रखना होगा और प्रोटोकाल का पूरा पालन करना होगा।
डॉ. एचपी सोनानिया, 
नोडल अधिकारी कोविड-19
जल्द ठीक हो रहे हैं मरीज 
^लोगों में अवेयरनेस बढ़ी हैं। कोरोना को लेकर लोगों में डर दूर हुआ हैं। इम्यूनिटी पावर अच्छी होने से भी लोग जल्द स्वस्थ हो रहे हैं।
डॉ. सुधाकर वैद्य, वरिष्ठ डॉक्टर, आरडी गार्डी

पहले और अब...आगे आकर करा रहे इलाज 
1 पहले मरीज अप्रैल-मई की स्थिति में 14 दिन में स्वस्थ हो रहे थे। अब जून की स्थिति में 6 से 7 दिन में ही स्वस्थ हो रहे हैं।
2 पहले डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हार्ट के मरीज आते थे, ऐसे 81% मरीज संक्रमित हुए। अब भी पुरानी बीमारी से ग्रसित मरीज आ रहे हैं।
3 पहले मरीज बीमारियों को छुपाते थे और हॉस्पिटल जाने से बचते थे, अब मरीज आगे आकर अपना इलाज करा रहे हैं, इससे भी रिकवरी रेट बढ़ा है।

ये मरीज जो 6 से 7 दिन में ही रिकवर हो गए 
अब्दालपुरा के 69 साल की बुजुर्ग की पहली रिपोर्ट 20 जून को पॉजिटिव आई थी। 26 जून को उनकी रिपोर्ट निगेटिव आई।
राजेंद्र नगर के 45 साल के व्यक्ति की रिपोर्ट 17 जून को पॉजिटिव आई थी। 25 जून को रिपोर्ट निगेटिव आई।
बड़नगर की शिक्षक कॉलोनी के 35 साल के युवक की पहली रिपोर्ट 17 जून को पॉजिटिव आई थी और 26 जून को रिपोर्ट निगेटिव आई।
गांधीनगर के 48 साल के मरीज की दूसरी रिपोर्ट 6 दिन में ही निगेटिव आई।

...ग्रीन जोन में आ रहा उज्जैन, ये पांच कारण
1 शहर के 54 वार्डों में डोर टू डोर सर्वे हुआ।
2 लोगों में अवेयरनेस बढ़ी, खुद आगे आकर सेंपलिंग करवाई।
3 फीवर क्लिनिक में मरीजों की जांच कर इलाज किया गया।
4 आरडी गार्डी के अलावा माधवनगर हॉस्पिटल, अरबिंदो इंदौर और अमलतास देवास में मरीजों के इलाज की सुविधा शुरू हुई।
5 अनलॉक में लोगों से पुलिस ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया। लोगों का डर दूर हुआ।

नमी में ज्यादा िटकता वायरस, इसलिए बारिश में सतर्कता: मरीजों के स्वास्थ्य में सुधार के साथ ही नए मरीज सामने नहीं आने से राहत है लेकिन लोग सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं करेंगे तो फिर से कोरोना की चेन बन सकती है। बारिश में संक्रमण फैलने का ज्यादा खतरा है क्योंकि नमी में वायरस 8 से 10 घंटे तक जिंदा रहता है। इससे बचने के लिए लोगों को घर में ही रहना होगा तभी संक्रमण की चेन पूरी तरह से टूट सकेगी।

भीलवाड़ा मॉडल...फिर लौटा संक्रमण: सर्वे व सैनिटाइज सही होने से भीलवाड़ा कोरोना मुक्त हो गया था। इस मॉडल की देश में चर्चा रही। 26 जून को भीलवाड़ा के भदादा मोहल्ले में शादी में 250 लोगों को आमंत्रित करने से संक्रमण फैल गया। यहां 16 लोग पॉजिटिव पाए तथा 30 लोगों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में भेजा गया। उज्जैन भी ग्रीन जोन की ओर बढ़ रहा है लेकिन लोग इस तरह की कोई गलती न कर बैठे कि हमें भी भीलवाड़ा जैसी स्थिति का सामना करना पड़े।

अब ये चुनौती

  • सर्वे बढ़ा तो सैंपलिंग भी बढ़ी है, ऐसे में मरीजों की संख्या बढ़ सकती है।
  • बारिश में वायरस के 8 से 10 घंटे तक सक्रिय रहने से भी मरीज बढ़ सकते हैं।
  • ये सावधानी अभी 15 दिन और बरतना होगी
  • लोगों को घरों में ही रहना होगा, आवश्यक कार्य होने पर ही घर का एक ही सदस्य घर से बाहर निकले।
  • सार्वजनिक स्थानों पर न जाएं।
  • मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पूरा पालन करें।
  • बारिश के दौरान यहां-वहां नहीं जाए और किसी वस्तु को हाथ लगाने से बचे।
Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज वित्तीय स्थिति में सुधार आएगा। कुछ नया शुरू करने के लिए समय बहुत अनुकूल है। आपकी मेहनत व प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। विवाह योग्य लोगों के लिए किसी अच्छे रिश्ते संबंधित बातचीत शुर...

और पढ़ें

Advertisement