पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वास्तविकता का पता लगाने पुलिस ने दिल्ली फोन लगाया:फर्जी विजिलेंस अधिकारी से आठ घंटे पूछताछ की, तीन धाराओं में केस दर्ज

उज्जैनएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

खुद को केंद्रीय सतर्कता आयोग का अधिकारी बताकर पुलिस-प्रशासनिक महकमे को सकते में लाने वाले फर्जी अधिकारी से आठ घंटे पुलिस की पूछताछ चली। जिस तरह से उसने दोनों वरिष्ठ अधिकारियों को ई-मेल किए थे और उसकी सीसी सीएमओ चीफ सेक्रेटरी समेत कई जगह भेजी, उसे लेकर पुलिस को इतनी छानबीन करना पड़ी। खुद को विजिलेंस अधिकारी बताने वाला व्यक्ति ऋषिनगर निवासी प्रमोद कुमार मेहता 65 साल के खिलाफ पूछताछ व छानबीन की सारी प्रक्रिया पूरी कर रात में माधवनगर पुलिस ने केस दर्ज किया। बाद में उसे जमानत नोटिस पर छोड़ दिया। माधवनगर थाना प्रभारी मनीष लोधा ने करीब आठ घंटे पूछताछ की। दिल्ली सतर्कता आयोग तक फोन लगाकर सच्चाई पता की गई।

जब स्पष्ट हो गया कि व्यक्ति फ्रॉड है तो केस दर्ज किया। इस दौरान वह यह भी बोला कि परिवार को मत बताना। एएसपी अमरेंद्रसिंह चौहान ने बताया कि संबंधित वृद्ध दुग्ध संघ से ही सेवानिवृत्त है, जिसके खिलाफ फर्जी तरीके से लोक सेवक बनने पर धारा 170, 419 और 511 के तहत केस दर्ज किया है।

खबरें और भी हैं...