ऑक्सीजन प्लांट:मरीजों के परिजनों को नहीं करना पड़ा इंतजार तत्काल रिफिल करके दिए ऑक्सीजन सिलेंडर

उज्जैन6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्राम गंगेड़ी स्थित ऑक्सीजन पर सिलेंडर रिफिल कराने के लिए उमड़े परिजन। - Dainik Bhaskar
ग्राम गंगेड़ी स्थित ऑक्सीजन पर सिलेंडर रिफिल कराने के लिए उमड़े परिजन।
  • गंगेड़ी स्थित प्लांट पर 15 दिन से बनी हुई थी किल्लत, आरडी गार्डी में भी टैंकर पहुंचा

बीते 15 दिनों से ऑक्सीजन के लिए रिफिलिंग प्लांट पर घंटों इंतजार कर रहे मरीजों के परिजनों के लिए बुधवार का दिन राहत वाला रहा। प्लांट पर ऑक्सीजन का पर्याप्त स्टॉक होने से सिलेंडर रिफिल करवाने के लिए पहुंचे लोगों को हाथोंहाथ सिलेंडर भरकर दिए गए। प्लांट संचालक जयंत वेद के अनुसार हर 40 मिनट में 26 सिलेंडर रिफिल होते हैं। हमारी कोशिश रहती है कि किसी को असुविधा न हो। स्टॉक पर्याप्त हो तो आपूर्ति में कोई परेशानी नहीं होती।

सिलेंडर भरवाने आए राजेंद्र अग्रवाल, विजय आंजना, इदरीस खान ने बताया पहले सुबह से शाम तक इंतजार करने के बाद भी खाली हाथ लौटना पड़ता था। 7 क्यूबिक के सिलेंडर तो भरे ही नहीं जा रहे थे। 2 क्यूबिक का सिलेंडर भराने पर चार घंटे बाद वापस आना पड़ता था।

इमरजेंसी में अन्य अस्पतालों को भी दे रहे ऑक्सीजन : इधर आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ एमके राठौड़ के अनुसार अस्पताल में ही 13 टन स्टोरेज क्षमता का टैंक लगने से अब इमरजेंसी में वे अन्य अस्पतालों को भी ऑक्सीजन दे पा रहे हैं। गौरतलब है कि उज्जैन में दो प्लांट हैं और दोनों प्लांट की ऑक्सीजन स्टोरेज क्षमता लगभग 30 टन की है। मेडिकल कॉलेज में 2 करोड़ की लागत से ऑक्सीजन स्टोरेज टैंक लगने से सुविधा हुई है।

खबरें और भी हैं...