चोरी / खरीदी करने दुकान पर पहुंचा किसान, बदमाश ने बाइक पर टंगा 1.96 लाख से भरा बैग उड़ाया

Farmer rushed to shop to buy, the miscreant flew a bag full of 1.96 lakhs hanging on the bike
X
Farmer rushed to shop to buy, the miscreant flew a bag full of 1.96 lakhs hanging on the bike

  • केसीसी की पलटी करने के बाद राशि निकाली थी, दो दिन पहले ही नए भवन में शिफ्ट हुआ बैंक

दैनिक भास्कर

May 30, 2020, 05:00 AM IST

आगर-मालवा. शुक्रवार शाम जिला सहकारी केंद्रीय बैंक मर्यादित शाजापुर शाखा आगर शहर से 1 लाख 96 हजार रुपए निकाल कर बाजार में खरीदी करने वाले मोयाखेड़ा के किसान का बैग हाटपुरा से चोरी हो गया। वारदात की जानकारी लगते ही पुलिस अधिकारी मौके पर पहुँच गए और किसान के बैंक से निकलकर हाटपुरा पहुंचने के दौरान आने वाले सभी सीसीटीवी कैमरे चेक करने लगे। मामले में बैंक प्रबंधन की बडी लापरवाही सामने आई है। बैंक अधिकारियों ने नए भवन में बैंक को शिफ्ट तो कर लिया, लेकिन बैंक के अंदर व बाहर सीसीटीवी कैमरे नहीं लगाए थे।
मोयाखेड़ा निवासी लालसिंह यादव ने जिला सहकारी बैंक से केसीसी (किसान क्रेडिट कार्ड) बनवा रखा है। किसानों को साल में दो बार लोन व ब्याज की राशि जमा करनी होती है। इसे क्षेत्र के किसान पलटी करना कहते हैं। लालसिंह ने बैंक से केसीसी पलटी करके राशि निकाली थी। 1 लाख 96 हजार लेकर किसान बैंक शाखा से करीब आधा किमी दूर हाटपुरा स्थित एक जनरल स्टोर पर प्लास्टिक की कैन लेने पहुँचा था। लालसिंह का कहना है कि मैं दुकानदार से बातचीत कर रहा था। इस बीच जब पलटकर बाइक की तरफ देखा तो उस पर टंगा हैंड बैग नहीं था। लालसिंह ने उसके भाई को फोन लगाया। भाई ने पुलिस को वारदात की सुचना दी।
सीसीटीवी फुटेज खंगालते रहे अधिकारी : सूचना मिलने के बाद पहुँचे पुलिस अधिकारियों ने किसान से जानकारी लेने के बाद माहेश्वरी धर्मशाला के पास स्थित प्रशिक्षण केंद्र के बाहर लगे सीसीटीवी के फुटेज देखने के साथ ही आसपास तलाश करते रहे। फरियादी ने पुलिस को शिकायती आवेदन दिया है।
बिना कैमरे लगाए हो गए नए भवन में शिफ्ट
जिला सहकारी बैंक में पिछले करीब एक माह से किसानों व खातेदारों की भीड़ लग रही है। बैंक के बाहर खड़े किसानों से न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करवाया जाता है न सुरक्षा के प्रबंध हैं। बैंक पहले पुराने भवन में संचालित होती थी। दो दिन पहले पास ही में बने भवन में बैंक का काम शुरू हुआ है। नए भवन में अधिकारियों ने लेन-देन व अन्य काम तो शुरू कर दिए, लेकिन ग्राहकों व बैंक की सुरक्षा के लिए सीसीटीवी नहीं लगवाए। वारदात के बाद बैंक में सीसीटीवी लगाने काम चल रहा था। यदि सीसीटीवी बैंक के अंदर व बाहर लगे होते तो बैग चुराने वाले संदिग्ध को ढूंढने में पुलिस को मदद मिल जाती।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना